Karvol Plus Capsule in hindi

Karvol Plus Capsule in hindi:करवॉल प्लस कैप्सूल की जानकारी उसके लाभ, उपयोग और नुकसान

करवॉल प्लस कैप्सूल का विवरण:Karvol Plus Capsule in hindi

कारवोल प्लस कैप्सूल(Karvol Plus Capsule in hindi) का उपयोग आमतौर पर सर्दी-ज़ुकाम, नाक की की नालियों की रुकावट, अस्थमा, पीठ दर्द, कंधों-जोईँट में दर्द, वायुमार्ग की दिक्कतें, रेस्प्रिटॉरी ट्रैक रोग, कोल्ड सोर और अन्य बीमारियों को ठीक करने में होता है। जितने निर्धारित रोग हैं, उनके अलावा भी यह दवा और भी अन्य बीमारियों के इलाज के लिए काम आती है। 

करवॉल प्लस कैप्सूल की संरचना:

करवॉल प्लस कैपसूल को कैमफर, क्लोरोथायमोल, इयूक्लैप्थॉल, मेनथॉल और टेरपिन्योल  जैसे एक्टिव इंग्रीडिएट्स से मिलकर तैयार किया जाता है।

करवॉल प्लस कैप्सूल के लाभ और उपयोग: Uses of Karvol Plus Capsule -Karvol Plus Capsule in hindi

  • करवॉल प्लस का उपयोग नेज़ल कंजेस्चन से जुड़े मामूली दर्द से निजात पाने के लिए किया जाता है। यह बंद नाक से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने में कार्यरत होता है। वहीं दूसरी ओर, यह कफ को ठीक कर दिमाग तक सिगनल्स को सही रूप से पहुंचाने में सहायता करता है। यह सामवेदनशील बैक्टिरिया को मारने में भी काफ़ी सहायता करता है।
  • बच्चों और बड़ों को यह परामर्श दी जाती है कि गर्म पानी कर लें और उसमें इस टेबलेट को डालें, ऐसा करने के बाद भांप लें। कोशिश करें इसे पानी में निचोड़ें तब स्किन उसके संपर्क में न आए। वहीं बच्चों के लिए इस दवा के उपयोग की बात करें तो दवा को निचोड़ कर रुमाल में डाल लें। फिर नाक के पास कुछ सेकंड के लिए ले जाकर रखें। ऐसा बार- बार करें ताकि बच्चा जब भी सांस ले तो उसके साथ दवा भी अंदर जाए, और वह अच्छे से सांस ले सके।
  • करवॉल प्लस कैप्सूल का उपयोग काफ़ी तरह की बीमारियों को ठीक करने, लक्षणों को कम करने और पूरी तरह से से उपचार  करने के लिए किया जाता है। इनमें नीचे दी गयी सारी बीमारियां शामिल हैं:
  • टोनल में फंगल इंफेक्शन
  • मसा
  • हर्मोरायड्स
  • आस्टियोआर्थराइटिस
  • रेस्पिरेटरी ट्रैक डिजीज
  • हार्ट डिजीज के कुछ लक्षण दिखाई देने पर
  • ईयर ड्रॉप
  • शोल्डर और ज्वाइंट में दर्द
  • अर्थेराइटिस से जुड़े दर्द
  • एयरवे म्यूकस हाइपरसिक्रेशन
  • कोल्ड सोर्स
  • अस्थमा 
  • पीठ दर्द
  • सर्दी-ज़ुकाम 
  • ब्लॉकेज इन नेजल पैसेजेस
  • कफ
  • पेन इन मसल्स स्ट्रेन व स्प्रेन्स
  • ब्रशिंग
  • ऐंठन
  • दर्द
  • खुजली 
  • माउथवाश
  • नानप्यूरूलेंट रयूनोसाइनिसाइटिस
  • ओरल डिस्इंफेक्शन व अन्य बीमारी में इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है।

करवॉल प्लस कैप्सूल के दुष्प्रभाव: Side Effects of Karvol Plus Capsule -Karvol Plus Capsule in hindi

  • करवॉल प्लस कैप्सूल्स का इस्तेमाल करने से काफ़ी  तरह  के दुष्प्रभाव देखे गए हैं। यह इसलिए होते हैं क्योंकि  दवा में मौजूद इंग्रीडिएट्स यह सब करते हैं। यह भी एक मौक़ा ही रहता है। कुछ लोगों को दवा के सेवन से साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ सकता है, पर ज्यादातर मामलों में साइड इफेक्ट्स नहीं देखने को मिलते हैं। अगर किसी को भी दवा लेने के बाद इस प्रकार के लक्षण दिखें तो उसे डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। 

वह इसलिए क्यूँकि कुछ दुष्प्रभाव न केवल दुर्लभ  हैं बल्कि हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकते हैं। वैसे खासतौर पर ऐसा तब होता है जब उपचार के बाद भी लक्षण नहीं जाते हैं। दवा के सेवन से जुड़े कुछ साइड इफेक्ट्स पर एक नजर :

  • नींद की कमी 
  • नेजल इरीटेशन
  • नेजल कैविटी में ड्रायनेस
  • सोर थ्रोट
  • बर्निंग
  • उल्टी
  • कोमा
  • पेट दर्द 
  • जी मचलाना
  • एटेक्सिया (Ataxia)

शरीर में अगर इस तरह की किसी भी बीमारी से संबंधित लक्षण दिखें तो जल्द से जल्द अपने चिकित्सक से परामर्श लें।  यह इसलिए भी क्योंकि किसी बीमारी को जितनी जल्दी संभव हो, उसे ठीक करवा सके।

करवॉल प्लस कैप्सूल की सावधानियाँ: Precautions of Karvol Plus Capsule -Karvol Plus Capsule in hindi

  • इस दवा का सेवन करने के पहले हमें कुछ खास सावधानियाँ रखनी चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि करवॉल प्लस दवा का सेवन करने के पहले, अगर आप किसी दवा का सेवन करते हैं, तो अपने चिकित्सक को आप पहले से हाई आप जानकारी ज़रूर दें।
  •  आमतौर पर कुछ लोग विटामिन्स, हर्बल सप्लिमेंट्स का सेवन करते हैं। वहीं इलाज कराते समय चिकित्सक को इसके बारे में नहीं बताते, ऐसा करना आपकी सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। 
  • यह जरूरी है कि आप क्या खाते हैं, आपको कहीं कोई बुरी लत तो नहीं, पहले से आप कितनी दवाओं का सेवन कर रहे हैं, ऐसी सभी बातें आप अपने चिकित्सक को बताएँ। यदि नहीं तो नतीजा घातक हो सकता है। इस दवा का डोज़ इन सारी बातों पर निर्भर करता है दवा के सेवन से जुड़ी चेतावनी पर एक नजर:
  • दवा का सेवन करने के दौरान व पहले शराब न पिएँ।
  • प्रिस्क्रिप्शन और नॉन प्रिस्क्रिप्शन मेडिसिन सभी की जानकारी डॉक्टर को दें।
  • इसका इस्तेमाल करने के दौरान कैमिकल्स सेफ्टी गोगल्स का इस्तेमाल करना सही रहता है

प्रेग्नेंसी :  यदि आप गर्भवती हैं या फिर बच्चे को स्तनपान करती हैं तो इस गोली का  सेवन करने के पूर्व डॉक्टरी सलाह जरूर ले लें। इसमें पाए जाने वाले तत्व शरीर में किस प्रकार असर करेंगे इसके बारे में डॉक्टरी सलाह लेना बेहद ही जरूरी हो जाता है।

करवॉल प्लस कैप्सूल के इंटरैक्शन या पारस्परिक क्रिया:

  • इस दवा का सेवन करने के दौरान अगर आप किसी अन्य दवा का सेवन करते हैं , तो ऐसा करना आपकी सेहत के लिए बुरा हो सकता है। ऐसी स्थिति में करवॉल प्लस अपना काम नहीं कर पाएगा। ऐसे में दुष्प्रभाव होने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं। दवा कोई असर भी नहीं करती है। जरूरी यही है कि इसके साथ यदि और कोई दूसरी दवा का सेवन करते हैं तो चिकित्सक को को उसके बारे में जरूर बताएं। 
  • करवॉल प्लस कैप्सूल के अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन करने की संभावनाएं रहती है। जैसे :
  • शराब 
  • लोवास्टेटिन 
  • ओमेप्राजोल 
  • वारफेरिन 
  • एमिट्रिथाइलीन 
  • एंटी डायबिटीज ड्रग्स
  • डिकोलोफिनेक 
  • डिक्यूमरोल 
  • फ्रेश क्रेकेजियस बेरीज

करवॉल प्लस कैप्सूल का सेवन कब न करें:

  • जब कभी भी आपको नीचे बताई गई कोई सेहत की समस्या हो, तो करवॉल प्लस कैप्सूल का सेवन करने से रुकें। जैसे ही दवा के सेवन से कोई अति-सामवेदनशील  संकेत मिले, तो  जरूरी है कि ऐसी किसी भी परेशानी को देखते ही, आप गोली का सेवन रोकें। या फिर अपने चिकित्सक के परामर्श अवश्य लें।
  • सिजर्स या झटके 
  • ऐसे बच्चे जिनमें बुखार के लक्षण पहले से ही रहे हो 
  • अति-सामवेदनशीलता या हाइपरेसेंटिटिविटी (hyper-sensitivity)
  • जब नवजात शिशु हो
  • गुर्दे की पथरी

करवॉल प्लस कैप्सूल को कैसे स्टोर करें:

इस दवा को आप कमरे के तापमान पर रख सकते हैं, लेकिन कोशिश यही रहनी चाहिए कि इसे सूर्य की सीधी रोशनी और ग़र्मी से बचाकर रखा जाए। इसे फ्रीज में नहीं रखना है। बच्चों और घर में यदि कोई पालतू जानवर है, तो उससे भी इस दवा को दूर रखें। जब तक गोली को फ्लश करने की हिदायत नहीं दी जाती ,  तब तक ऐसा न करें। क़ुदरत को ध्यान में रखते हुए ही  दवा का निष्पादन या डिस्पोज़ल करें। ताकि उससे इंसान व क़ुदरत को नुकसान न पहुंचे। दवा के निष्पादन को लेकर चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

करवॉल प्लस किस रूप में उपलब्ध है:

करवॉल प्लस कैप्सूल के रूप में उपलब्ध है। एक पत्ते में करीब 10 कैपसूल्स होते हैं।

नोट- इस दवा को मुंह से जरिए सेवन करने से साथ, भांप के जरिए भी लेते हैं।इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए चिकित्सक की सलाह लें। ।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 349

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top