Matilda Forte Capsule in hindi

Matilda Forte Capsule in hindi:माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल क्या है?इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी

क्या होती है मटिल्डा फ़ोर्टे कैप्सूल?-What is Matilda Forte Capsule?

Table of Contents HIDE

इस कैप्सूल को मधुमेह से सम्बंध रखने वाली पोलीन्यूरोपैथी, हाथ और पाँव में दर्द, तंत्रिका से सम्बंध रखने वाली समस्या, रक्त की समस्या, मांसपेशियों की दिक्कत, अपना भार कम करना, बायोटिन-कमी , मस्तिष्क की समस्याएँ और अन्य विकारों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है।-Matilda Forte Capsule in hindi

माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल की संरचना:Composition of Matilda Forte Capsule-Matilda Forte Capsule in hindi

इस गोली में निम्नलिखित तत्व और चीज़ें होते हैं:
  • अल्फ़ा लिपोईक ऐसिड- Alpha lipoic acid – 200 MG
  • बायोटिन- Biotin -200 MG
  • फ़ालिक ऐसिड
  • मेकोबलमिन। – Mecobalamin- 1500 MCG
  • विटामिन-B6- Vitamin B6 – 3 MG
  • विटामिन बी 9 -1.5 एमजी-Vitamin B9 -1.5 MG

इस लेख में हम मटिल्डा फोर्टे कैप्सूल के लाभ, इंटरैक्शन, दुष्प्रभाव और सावधानियों के बारे में बात करेंगे।

माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल के लाभ:Benefits of Matilda Forte Capsule-Matilda Forte Capsule in hindi

इस गोली का इस्तेमाल, नीचे लिखी गयी बीमारियों, परेशानियों और लक्षणों के ईलाज, संचालन और सुधार के लिए होता है:

  • डायबिटीज के संबंद में हुई पोलीन्यूरोपैथी।
  • हाथ और पैर में दर्द होना।
  • तंत्रिका से सम्बंध रखने वाली तकलीफ़ें।
  •  कम ख़ून होने से सम्बंधित बीमारियाँ।
  • जकड़ते मांसपेशियों की समस्याएँ। 
  • शरीर का भार कम करना।
  • शरीर में बायोटिन कम हो जाना।  
  • जब फ़ॉलिक ऐसिड की कमी हो जाती है तो मेगालोब्लास्टिक रक्ताल्पता का ईलाज।
  • बचपन में ख़ून की कमी का ईलाज।
  • मस्तिष्क की दिक्कतें।
  • वयस्कों में भी ख़ून की कमी।
  • गर्भावस्था की दिक्कतें।
  • एक सिंड्रोम, जिसमें मुँह में जलन होती है। 
  • आँखों की बीमारी।
  • कुछ महसूस ना कर पाना।
  • अच्छा-ख़ासा शरीर काम हो जाना।
  • केश झड़ जाना
  • नाख़ून में बल ना होना।

माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल के नुक़सान या दुष्प्रभाव:Matilda Forte Capsule side effects-Matilda Forte Capsule in hindi

माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल को बनाने वाले तत्व के नुक़सानों की यह लम्बी सूची नीचे दे रही है। पर यह लिस्ट पूरी तरह से सही नहीं है। यह नुक़सान या साइड-इफ़ेक्ट सम्भव हैं, पर ये सदा नहीं होते हैं। अगर आपको इनमे से किसी भी असर का पता चलता है तो, अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें। 

वह सूची यह रही:
  • नींद के समय में बदलाव।
  • खाने और भूख में कमी।
  • उलटी आने की अनुभूति होना।
  • दस्त
  • सर में दर्द
  • चीज़ों में मन नहीं लगना।
  • पेट फूल जाना।
  • ज़ायक़ा कड़वा हो जाना।
  • ध्यान लगाने में परेशानी होनी।
  • बहुत ज़्यादा चीज़ें दिमाग़ में चलना।
  • शांति ना होना।
  • बहुत ज़्यादा उत्साह।
  • सदा उलझन में रहना।
  • निर्णय ख़राब निकलना।
  • विटामिन-B १२ गिरते रहना।
  • मिरगी के दौरे।
  • जलन या मांसपेशियों में जलन होना।
  • पेट का ख़राब रहना।
  • एक चुभन की अनुभूति।
  • तेज़ तांत्रिक समस्याएँ।
  • उलटी आना।
  • चक्कर आना।
  • खरिश-खुजली होना।

माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल से सावधानियां:Precautions from Matilda Forte Capsule

  • जब भी आप ये दवा शुरू करने जा रहे हों, तो उससे पहले अपने डॉक्टर से एक मुलाक़ात ज़रूर करें और उसे उन सब बिना निर्देशों के उत्पादों के बारे में अवश्य बताएँ। जिन्हे आप ले रहे है इन उत्पादों में आपके विटामिन, हर्बल सप्लेमेंट्स ऐलर्जी, इत्यादि की दवाइयाँ भी होंगी। अपने चिकित्सक को अपने आज के स्वास्थ्य और रोगों की जानकारी अवश्य दें।
  • सेहत के कुछ बिन्दु आपको कुछ दवाइयों के प्रति अधिक कमज़ोर और कुछ अधिक बलशाली बना देते हैं। इसीलिए किसी भी दवाई के पैकेट पर प्रिंट किए हुए निर्देशों को ज़रूर पढ़े हीं। साथ में अपने डॉक्टर के बताए गए निर्देशों के अनुसार, दवा को लें। आप कितनी मात्रा में दवा लेंगे, वो उसपर भी निर्धारित होगा की आपके चिकित्सक आपकी स्थिति देखकर क्या बताएँगे।
  • अगर कुछ समय बाद आपकी हालात सुधरती नहीं है या वैसी ही है, जैसी पहले थी, तो अपने चिकित्सक को अवश्य बताएं। 
कुछ ज़रूरी बिन्दु नीचे दिए गए हैं:
  • इस गोली को डाइबीटीज़ और उसकी मुश्किलता हटाने का एकमात्र उपचार मानकर ना लें।
  • जब भी आप यह गोली लें तो आपका पेट खली होना ज़रूरी है। इसीलिए इसे खाना खाने के दो घंटे पहले या  एक घंटे बाद ना लें।
  • इसको वह मरीज़ ना लें जिन्हें जिगर(लिवर-liver) की कोई बीमारी है।
  • इसेय वह ना लें जो गर्भवती हैं, या जिसने गर्भवती होने की सोची हुई है। 
  • स्तनपान करते समय भी यह ना लें।
  • इसे लेते समय आप शराब का सेवन बिलकुल ना करें।

मटिल्डा फोर्टे कैपसूल के साथ इंटरैक्शन:Interactions with Matilda Forte capsule

  • अगर आप एक ही टाइम पर और भी दवाइयों का सेवन करते हैं, तो वो या तो हानिकारक होता है, या फिर सब दवाइयों का असर नहीं पड़ता है।
  • इन सभी अन्य दवाओं या सप्लेमेंट्स के बारे में डॉक्टर को अवश्य बताएँ। तभी उन दवाओं का मटिल्डा फ़ोर्टे के साथ इस्तेमाल करने की सही मात्रा आपको बताएगा और अच्छी मदद करेगा।

यह गोली नीचे लिखे तत्वों या दवाइयों के साथ इंटरैक्शन कर सकती है:

  • अहलकोहोल
  • आर्मर थाइरॉड
  • बार्बीटुरते 
  • करबमजेपाइन 
  • क्लॉरैम्फ़ेनिकोल
  • किमेटडाइ
  • क्लोज़पाइन 
  • कॉल्चिसीन 
  • डिफ़ेन्य्ल्ह्य्दाँतोईं

मटिल्डा फोर्टे कैपसूल का इस्तेमाल कब ना करें:When not to use

इन सब विकारों या समस्याओं  में इस गोली का इस्तेमाल ना करें:

  • जब आप बहुत ज़्यादा  समवेदनशील हो।
  • जब आपको थाइरॉड की बीमारी हो।
  • कब आपको किड्नी या गुर्दे की कोई बीमारी हो।
  • जब आपके शरीर  को दवा से ऐलर्जी हो।

माटिल्डा फोर्टे कैप्सूल के बारे में पूछे जाने वाले सामान्य प्रश्न –आवश्यक सुझाव:Frequently asked questions

1.कई लोग ये बात पूछते हैं की मधुमेह-संबंधी पोलीन्यूरोपैथी और हाथ-पांव में दर्द के लिए मटिल्डा फोर्टे कैप्सूल का प्रयोग होता है की नहीं।

बिलकुल सही बात है। मधुमेह से संबंधी पोलीन्यूरोपैथी और हाथ और पांव के दर्द मटिल्डा फोर्टे कैप्सूल के सबसे सामान्य इस्तेमाल बताया जाता है। 

पर सबसे  पहले, डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें। और उनकी सलाह लिए बिना इस दवा का का उपयोग डाइअबीटीज़-सम्बंधी तत्व और हाथ-पाँव के दर्द कम करने के लिए ना करें।

2. कई लोग या भी पूछते हैं की अगर कोई वापस ठीक होना चाहता है तो उसे कितनी देर या दिन तह इस गोली का सेवन करना चाहिए।

उपयोगकर्ताओं ने क़रीब दो सप्ताह और तीन महीनों के अंतराल के बीच में अपनी सामान्य स्थिति वापस पायी है।पर यह समय यह नहीं बताता की इस गोली का आपके शरीर पर कैसा असर होता है। इन सब चीज़ों को पहचान्ने के लिए आपको किसी डॉक्टर से बात करनी होगी। 

3.कुछ लोग पूछते हैं की आपको दिन में कितनी दफ़ा मलटिदा फ़ोर्टे का इस्तेमाल करना चाहिए?

लोगों ने इस गोली का दिन में एक बार और दिन में दो बार का इस्तेमाल सामान्य प्रयोग बताया है। पर फिर भी,जब भी आप इस गोली का इस्तेमाल शुरू करें तो एक बार एक चिकित्सक से हाई निर्देश लें।

4.क्या मुझे यह गोली भोजन खाने से पहले या फिर, भोजन खाने के बाद खनी चाहिए?

लोगों ने सामान्यतः खाना खाने के बाद मटिल्डा फ़ोर्टे का उपयोग सही बताया है। पर यह नहीं बताता की आपके लिए कौनसी खुराक सही है। इसके लिए डॉक्टर के दिए निर्देशों का पालन करें। आपको कब और कैसे खनी है, यह वो ही बता पाएँगे।

5.क्या यह दवा लेते समय भारी मशीनरी में कार्य करना या उसमें ख़ुद को व्यस्त  रखना  सही होगा?

अगर गोली खाने के बाद, आपको नींद आना, चक्कर आना, सिरदर्द इत्यादि महसूस  होता है, तो आपको भारी मशीनरी चला सुरक्षित नहीं रहेगा। दवा बनाने वाले लोग तो इसे लेते समय शराब पीने से भी मना करते हैं। फिर भी, अपने डॉक्टर की सलाह ज़रूर सुनें।

6.क्या मरीज़ को इस गोली की आदत पड़ जाती है?

वैसे अधिकतर दवाओं में ऐसी आदत नहीं पड़ती। फिर भी भारत सरकार ने दो रेटिंग ‘X’ और ‘H’ के नाम पर दवाइयाँ बाँटी हुई है। यह दवाई इनमे से किसी में नहीं आती है।

7.क्या मुझे इस दवाई का उपयोग ठीक होते हाई झट से बाँध करना चाहिए या धीरे-धीरे?

कुछ साइड-इफ़ेक्ट्स या दुष्प्रभावों की वजह से कुछ दवाइयाँ झट से बंध  नहीं करनी सही बात नहीं होती। उन्हें धीरे-धीरे बंध करना चाहिए। जैसे हमारे शरीर को इसकी नयी आदत पढ़ी होती है, वैसे ही हमें इसकी आदत, धीरे-धीरे निकालनी चाहिए ।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top