Zinc in hindi

Zinc in hindi:जिंक क्या है उसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी

जिंक क्या है?:What is zinc?-Zinc in hindi

Table of Contents HIDE

जिंक(Zinc in hindi) आयरन और कैल्शियम की तरह हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है इसकी थोड़ी सी कमी होने के कारण शरीर में वृद्धि को रोक देती है। जिस वजह से बच्चों में  तीव्र दस्त और धीमी घाव चिकित्सा के नियंत्रण और इसके इलाज  के लिए इस्तेमाल  किया जाता है।

अगर अपको इसमें मौजूद किसी भी इंडग्रेइडेंट्स से एलर्जी हैं या फिर आप गर्भवती हैं या स्तनपान कर रही हैं।तो आप जिंक का इस्तेमाल न करें या तो आप जिंक  का इस्तेमाल करने से पहले, अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में बतायें या फिर आप किसी भी प्रकार  गैर-पर्चे वाली दवाई  या कोई हर्बल और आहार गोलियों और पूरक का इस्तेमाल कर रहे है। मार्किट में जिंक मौखिक गोलियों के रूप में उपलब्ध रहती है। जिंक की ख़ुराख आप  की स्थिति, आहार, आयु और अन्य दवाओं के साथ प्रतिरोध जैसी स्थितियों पर निर्भर करता है। आइए अब हम आपको यह बताते है कि  जिंक का इस्तेमाल किन इंफेक्शन को रोकने के लिए किया जाता है इस से आपको किस प्रकार के साइड इफेक्ट्स हो सकते है।

जिंक का इस्तेमाल किन किन संक्रमणों के लिए किए जाता है?-What infections are zinc used for?-Zinc in hindi

आइए अब हम आपको बताते है कि जिंक का इस्तेमाल किन किन संक्रमणों को रोकने में  आपकी मदद करता है। डॉक्टर द्वारा ही आप इस संक्रमणो में जिंक का इस्तेमाल कर सकती है।

  • डाउन सिंड्रोम
  • हंसन की बीमारी 
  • पुरुष बांझपन
  • हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर,
  •  हाइपोग्यूसिया, 
  • टिनिटस , 
  • क्रॉन की बीमारी,
  • अल्जाइमर रोग,
  •  पेप्टिक अल्सर,
  •  इरेक्टाइल डिसफंक्शन, 
  • ऑस्टियोपोरोसि,
  • रूमेटोइड गठिया
  •  मांसपेशियों में  ऐंठन होना।

आपको जिंक सल्फेट का इस्तेमाल करने से पहले क्या पता होना चाहिए?-What should you know before using zinc sulfate?-Zinc in hindi

जिंक सल्फेट का इस्तेमाल  करना सेहत के  खतरनाक भी हो सकती है। इसलिए इससे होने वाले फायदे के साथ-साथ इससे होने वाले कुछ  नुकसान भी  आपको  पूरी तरह से पता होने चाहिए। जिंक की गोलियों का इस्तेमाल करने से पहले  एक बार अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। साथ ही  में अगर आप इन स्थिति में  है तो इस दवा का सेवन आपको  नहीं करना चाहिए।

  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या स्तनपान करवा रही हैं तो आप इस दवाई को बिना  डॉक्टर की सलाह के ना ले क्योंकि इस प्रेगनेंसी के दौरान सिर्फ  डॉक्टर की सलाह पर ही दवा का सेवन करना चाहिए।
  • अगर आप  किसी तरह के घरेलू नुस्खों या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाईयों का सेवन कर रहें है तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी जरूर लें और तभी जिंक का सेवन करें।
  • आपको जिंक सल्फेट या किसी और   एक्टिव या इनएक्टिव दवाओं से किसी तरह की एलर्जी है तो आप इस दवाई को नहीं ले सकती।
  • अगर आपको किसी तरह की कोई बीमारी या कोई मेडिकल प्रॉब्लम है तो आप सिर्फ डॉक्टर की सलाह से ही इस दवाई को ले सकती है।
  •  अगर आपके शरीर में कॉपर की कमी है तो दवाई को देने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर बात करें।
  • आपको इस दवाई को हाई कैल्शियम या फास्फोरस फूड के साथ लेने से बचना चाहिए, क्योंकि इस से आपके शरीर में जिंक सल्फेट को अवशोषित करने में परेशानी का कारण बन सकता है।  दूध, पनीर, दही, आइसक्रीम, सूखे बीन्स या मटर, दाल, नट्स, पीनट बटर, बीयर, कोला शीतल पेय और गर्म कोको जैसी चीजें शामिल हाई कैल्शियम फास्फोरस अधिक मात्रा में होता हैं।

जिंक सल्फेट  के साइड इफेक्ट क्या  हो सकते हैं?-What should you know before using zinc ?

आइये अब हम आपको बताने जा रहे है जिंक सेल्फ्ट के कुछ जो कि कुछ इस प्रकार है। अगर आपको किसी भी प्रकार के कोई लक्षण महसूस होते है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

  • उल्टी होना 
  •  बुखार के साथ साथ ठंड लगना
  • रैश  होना
  • मुँह में  सूजन हो जाना
  • सांस को लेने में मुश्किल होना 
  • अर्टिकेरिया 
  • लाल चकत्ते
  • त्वचा छीलना
  • छाती में दर्द होना
  • उल्टी होना
  • सिर दर्द होना
  • हिव्स 

आप जिंक सल्फेट  को कैसे स्टोर कर सकते  है?-How can you store zinc sulfate?

जिंक सल्फेट के रखने  के लिए आपके   कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। जिंक सल्फेट  पर  धूप की सीधी रोशनी या नमी आने से बचाना होता है। बाथरूम या ठंडी जगहों पर जिंक सल्फेट के बिल्कुल भी न रखें। मार्केट में जिंक सल्फेट के  ब्रांड अलग अलग मिलते है जिन्हें स्टोर करने के लिए इंस्ट्रक्शन भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी आप जिंक सल्फेट को खरीदें। तो सबसे पहले आपको  उसके पैकेट पर लिखे हुए  जरूरी इंस्ट्रक्शन  को अच्छे से पढ़ें या फिर आप स्टोर करने के लिए अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछ सकते है। और आपको इसे बच्चों और जानवरों से बहुत दूर रखना चाहिए ताकि वो उसे मुँह में न दाल ले। बिना किसी इंस्ट्रक्शन  के जिंक सल्फेट को टॉयलेट या किसी नाले में बिल्कुल न  फेकें। अगर आपकी दवाई  एक्सपायर हो चुकी है या आपको इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर को तुंरत संपर्क कर सकते हैं।

जिंक सल्फेट खाने से आपकी सेहत  पर किस तरह का असर पड़ सकता है-How can eating zinc sulfate affect your health

जिंक सल्फेट(Zinc in hindi) से आपकी स्वास्थ्य की स्थिति के अनुसार काम करता है। कई मामलों में यह दवाई आपके शरीर के लिए घातक भी  हो सकती है। इसलिए इसे खाने से पहले और डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री को बता कर ही इस दवाई का सेवन करें। 

अपने शरीर मे  जिंक बढ़ाने के लिए कौन कौन सी चीजें खानी चाहिए – zinc rich foods

आइए अब हम आपको बताते है कि जिंक किन किन  आहार में भरपूर मात्रा में होता है नीचे हम इसके के बारे में जानते हैं।
लहसुन:

लहसुन में अधिक मात्रा में  जिंक पाया जाता है।  लहसुन की एक कली को रोजानाखाने से शरीर को विटामिन ए, बी और सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे कई  प्रकार के पोषिक   तत्व एक साथ मिल जाते हैं।

मूंगफली:

मूंगफली खाना जिंक का सबसे अच्छा माना जाता है।इस में फैट और कोलेस्ट्रॉल बहुत कम मात्रा में होता है। इसमें जिंक के साथ साथ  आयरन, विटामिन ई, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फोलिक एसिड तथा फाइबर भी होता है। इसमें रिसवेरेट्राल नाम का ऐंटी-ऑक्सिडेंट भी होता है। 

तिल:

तिल में बहुत ज्यादा मात्रा में   जिंक पाया जाता है। साथ ही इस में  प्रोटीन, कैल्शियम, बी कॉम्प्लेक्स और कार्बोहाइड्रेट जैसे बहुत सारे पोषक तत्व भी पाये जाते हैं 

अंडे की जर्दी:

अंडे के पीले भाग में  जिंक भरपूर मात्रा में पाया जाता है और साथ ही साथ कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस, थाइमिन, विटमिन बी-6, फोलेट, विटमिन बी-12 जैसे पोषक तत्व पाए जाते है जो कि शरीर के लिए सेहतमंद होते है।

मशरूम: 

मशरूम में भी जिंक पाया जाता है,और इस में बहुत ही प्रकार के पोषक तत्व जैसे पोटैशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम औऱ प्रोटीन पाए जाते है।

सौन्दर्य से रिलेटेड टिप्स आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top