What is Topisure 50 mg Tablet?

Topisure 50 mg Tablet in hindi:टोपिसयोर 50 mg टेबलेट इस्तेमाल,दुष्प्रभाव

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट क्या है? (What is Topisure 50 mg Tablet?)

Table of Contents HIDE

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट (Topisure 50 mg Tablet in hindi) दवा दौरे के मरीज को देने वाली दवा है। यह दवा मरीज के रोग की स्थिति पर निर्भर करता है। कई बार डॉक्टर इस दवा को अन्य दवाइयों के साथ मिलाकर खाने की सलाह देता है और कई बार डॉक्टर रोगी को यह दवा अकेले खाने को भी कह सकता है। इस दवा में मौजूद साल्ट हमारे मस्तिष्क में मौजूद ऐसे रसायन को नियंत्रित करता है जिसकी वजह से दौरा पड़ने और सिरदर्द को रोकने में मदद मिलती है

इस दवा का प्रयोग कभी भी बिना डॉक्टर की सलाह के ना करे। जब भी आप चिकिसक के पास जा रहे हो तो उन्हें अपनी मैडिकल हिस्ट्री के बारे में जरूर बताएं ताकि डॉक्टर आपको आपके रोग की स्थिति के अनुसार ही दवा दे। यह दवा उन लोगो को नही दी जाती जो पहले से किसी एलर्जी से ग्रसित हो या उन्हें एसिडोसिस की बीमारी हो। एसिडोसिस की बीमारी का यह मतलब है कि व्यक्ति के रक्त में एसिड का उच्च स्तर है। अगर कोई महिला गर्भवती है या फिर वो गर्भ धारण करने की सोच रही है तो डॉक्टर को पहले ही बता दीजिए। 

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट के दुष्प्रभाव (Side effect of Topisure 50 mg Tablet in hindi)

वैसे तो यह दवाई बीमारी को ठीक करने के लिए दी जाती है फिर भी इस दवाई को खाने से कुछ दुष्प्रभाव देखने को मिलते है जैसेकि-

  • कब्ज की शिकायत
  • चक्कर आना या जी घबराना
  • सिर में दर्द महसूस होना
  • भूख में कमी होना
  • मुंह सूखा रहना
  • पेट मे दर्द होना

इन दुष्प्रभावों के अलावा रोगियों को इस दवा के खाने से कुछ गंभीर दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते है जैसेकि-

  • हड्डियों में दर्द होना
  • छाती में दर्द महसूस होना
  • बेहोशी छाना
  • एकाग्रता में कमी
  • व्यवहार में परिवर्तन होना

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट खाने की सलाह कब दी जाती है? (When is it advisable to eat Topisure 50 mg Tablet in hindi)

दौरे की स्थिति में- इस दवा का इस्तेमाल डॉक्टर आपको दौरों की स्थिति में करने की सलाह दे सकता है। 

लेनोक्स-गेस्टऑट सिंड्रोम- यह भी एक तरह से दौरे की बीमारी है जिसमे कई दौरे पड़ते है। इस रोग में भी यह दवा खाने की सलाह दी जाती है।

माइग्रेन- जिन व्यक्तियों को गंभीर सिरदर्द यानी माइग्रेन की बीमारी होती है उन्हें भी यह दवाई खाने की सलाह दी जाती है।

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट के साइड-इफेक्ट्स ( Topisure 50 mg Tablet side-effects)

इस दवाई के सेवन से कुछ साइड-इफेक्ट्स भी देखने को मिले है जैसेकि-

  • बिना कारण थकान महसूस होना और कमजोरी महसूस होना
  • बिना किसी वजह के बालों का झड़ना
  • पीठ में दर्द रहना
  • पेट के निचे के हिस्से में दर्द रहना
  • दृष्टयता में धुंधलापन आना
  • त्वचा का पीला पड़ना

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट के बारे में अन्य जानकारी (Other information)

एक बार दवा लेने के बाद इस दवा का असर कम से कम 2 से 3 दिन तक रहता है। दवा लेने का बाद इसका असर 1 से 2 घंटे में शुरू हो जाता है। जो महिलाएं गर्भवती होती है उन्हें यह दवा खाने को नही कहा जा सकता। 

कितनी मात्रा में ले टोपिसयोर 50 mg टेबलेट (What amount of Dose Topisure 50 mg)

दवा को किस मात्रा में लेना है यह आपके रोग की स्थिति पर निर्भर करता है। अगर आप दवाई की एक खुराक लेना भूल गए है और अगर आपकी दूसरी खुराक के खाने में समय है तो भूली हुई खुराक तुरन्त ले लेकिन कभी भी छूट चुकी खुराक को दूसरी खुराक के साथ मिलाकर डबल डोस ना ले।

अगर गलती से आपने दवाई की ज्यादा मात्रा ले ली है तो तुरन्त चिकित्सक से संपर्क करे।

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट को खाते समय सावधानी ( Precautions while eating Topisure 50 mg)

टोपिसयोर 50 mg टेबलेट आपके शरीर मे मौजूद रक्त कोशिकाओं को कम कर सकती है। इसलिए अगर आपको रक्त से संबंधित कोई बीमारी हो तो डॉक्टर को पहले ही यह बता दीजिए। शराब के साथ इस दवाई का सेवन बिल्कुल भी ना करे क्योंकि शराब के सेवन के साथ इस दवाई को खाने से आपको दिक्कत आ सकती है।

टोपिसयोर 50 mg का अन्य दवाई के साथ सेवन (Reaction With Another Medicine)

अगर आप पहले से कोई भी दवाई खा रहे है तो यह बात डॉक्टर को बताइए क्योंकि कई बार टोपिसयोर 50 mg टेबलेट अन्य दवायों के साथ रिएक्ट कर सकती है। 

क्लोज़ापिन (Clozapine)-

अगर आप पहले से क्लोज़ापिन (Clozapine) का सेवन करते है तो इस बारे में डॉक्टर को जरूर बताइएगा। क्योंकि इन दवाइयों के सेवन से आपको पसीना आएगा और यह सामान्य बात है। अगर दवा के सेवन के बाद शरीर के तापमान में किसी तरह की वृद्धि या कमी आती है तो डॉक्टर को जरूर सूचित करें।

मेटफॉर्मिन (मेटफॉर्मिन)-

मेटफॉर्मिन के साथ टोपिसयोर 50 mg का सेवन करने से लैक्टिस एसिडोसिस का जोखिम बढ़ जाता है। अगर आप किसी तरह की एन्टी-बायोटिक दवाइयों का सेवन पहले से कर रहे है तो चिकित्सक से सम्पर्क करें। इसके अलावा अगर दवा के सेवन के बाद आपको मांशपेशियों में किसी तरह का दर्द, उल्टी या धड़कन के अनियमित होने की शिकायत हों तो चिकित्सय सहायता लीजिए।

एथिनील एस्ट्राडियोल (Ethenil Astradiol)-

अगर टोपिसयोर 50 mg के साथ इस दवाई को लिया जाए तो गर्भनिरोधक दवाईयों का वांछित प्रभाव नही होगा। 

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top