Topiramate in Hindi

Topiramate in Hindi:टोपिरामेट टैबलेट सम्पूर्ण जानकारी

टोपिरामेट  टैबलेट क्या है?(What is Topiramate in Hindi?)

 यह दवाई टोपिरामेट दौरे और एड्स से पीड़ित रोगियों के इलाज के लिए होती है।  डॉक्टर इन दवाइयों को बाकी दवाई के साथ मिलाकर लिख देते है। माइग्रेन की वजह से हो रहे सिर दर्द को यह दवाई रोकती है। टोपिरामेट(Topiramate in Hindi) दिमाग में मौजूद कुछ केमिकल को नियंत्रन कर देता  है, इस तरह से दौरा पड़ने और सिर दर्द को रोक देता है।

 इस दवाई का  इस्तेमाल तब ही किया जाता है, जब आपको डॉक्टर इस दवाई को लेने की सलाह देते है। दवाई को शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में जरूर बताए। आपको इस दवाई से होने वाले साइड इफेक्ट या इसके क्या लाभ है इसकी जानकारी ले कही आपको इस दवाई से कोई साइड इफेक्ट्स न हो आप इस दवाई का इस्तेमाल नहीं कर सकते अगर आपको एलर्जी हो, या अगर आप शिशु को स्तनपान कराती है ,या आप गर्भवती हो तो बिना अपने डॉक्टर की सलाह का सेवन बिल्कुल न ले। आप वर्तमान में जो भी दवाई ले रहे है उन सब की लिस्ट दे अगर आप कोई अपनी हर्बल दवाई भी ले रहे है तो उसके बारे  में अपने डॉक्टर को जरूर बताए। आइए अब आपको इस दवाई से  हो रहे साइड इफेक्ट और इसका इस्तेमाल कब किया जाता है इसके इंस्ट्रक्शन क्या है और आपको इसके बारे में हम विस्तार से बताएंगे ।

इस दवा की सलाह कब दी जाती है?(When is Topiramate medicine advised?)

अब हम आपको यह बताने जा रहे को डॉक्टर इस दवाई की सलाह किस स्तिथि में देते है।जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • दौरे टोपिरामेट: इस दवाई का इस्तेमाल दौरे के इलाज़ के लिए में किया जाता है जो एक दिमाग में परिवर्तन होता है जिसे अनियंत्रित मरोड़ते आंदोलनों और चेतना के नुकसान होता  है।
  • लेनोक्स-गैस्टॉट सिंड्रोम:टोपिरामेट टैब्लेट लेनोक्स-गैस्टॉट सिंड्रोम के इलाज़ के लिए इस दवाई का इस्तेमाल होता है। 
  • माइग्रेन सिरदर्द:टोपिरामेट टैबलेट  माइग्रेन के रोगियों के लिए जिनको बहुत गंभीर सिर दर्द होने का इलाज करती है।

टोपिरामेट टैबलेट के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?(What are the side effects of Topiramate in Hindi?)

इस दवाई से होने वाले कुछ साइड इफेक्ट के बारे में हम  बताने जा रहे है। 

  • धुंधली दृष्टि( धुँधला धुँधला दिखाई देना)
  • चक्कर आना 
  • असामान्य थकान और कमजोरी 
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द 
  • भूख की कमी होना
  • हेयर लॉस( बालों का टूटना) 
  • त्वचा का पीला होना।
  • दौरे पढ़ना
  • पीठ में दर्द होना
  • कब्ज़ होना।
  • ड्राई माउथ
  • छाती में दर्द होना
  • बुखार होना साथ मे ठंड लगना
  • मूड स्विंग होना।
  • बेहोश होना।

टोपिरामेट टैबलेट की मुख्य विशेषताएं क्या -क्या है?(What are the main features of Topiramate in Hindi ?)

टैबलेट की कुछ विशेषताओं के बारे में आपको बताने जा रहे है।

  •  इस दवाई का असर 2 से 3 दिनों की माध्य अवधि के लिए रहता है।
  •  इस दवाई को लेने के  1 से 2 घंटे में  ही इस दवाई का असर शुरू हो जाता है 
  • अगर आप गर्भवती महिला है तो आप बिना अपने डॉक्टर से पूछे इस दवाई का इस्तेमाल बिल्कुल  न करे क्योंकि इस से आपके होने वाले शिशु पर बहुत गहरा असर पड़ सकता है।
  • ऐसा माना जाता है कि इस दवाई को खाने से कोई भी आदत नही होती है।
  • अगर आप अपने शिशु को स्तनपान करवाने वाली महिला है तो आपको बता दे की ये दवाई स्तन के दूध में उत्सर्जित करने के लिए जानी जाती है। अगर यह तभी आवश्यक हो सकता है। दस्त की तरह अवांछित प्रभावों की जाँच, उनींदापन जैसे  गहरे लक्षण दिखाई दे रहे है।

टोपिरामेट टैबलेट की खुराक के बारे में कुछ जानकारी(Some information about topiramate tablet supplements)

टोपिरामेट टैबलेट खुराक के बारे में आपको बताने जा रहे है।

  •  अगर आप इस दवाई की एक खुराक  को लेना भूल गये है तो याद आते ही उसे तभी ले ले। अगर आपकी अगली खुराक का समय हो गया है तो जो खुराक आप से मिस्ड हो गयी है उसे छोड़ दे। ताकि आपकी खुराक डबल न हो। और अपने डेली शेड्यूल को शुरू करें।
  •  अगर आप से ओवरडोज़ हो गई है और आपको धुंधला और लक्षण गंभीर दिखाई दे रहे है तो तुरत अपने इमरजेंसी रूम में जाकर तुरन्त अपना इलाज करवाए।

 यह दवा कैसे काम करती है?(How does Topiramate in Hindi work?)

टोपिरामेट टैबलेट एक एंटीबायोटिक दवाई ही है। यह सोडियम चैनलों को रोकने का  काम करता है और गामा-एमिनोब्यूट्रिक एसिड (जी.एबी.ए) की मोक्ष करता है जो एक न्यूरोट्रांसमीटर को रोकता है। इस प्रकार दिमाग की कोशिकाओं को  कम करने की कोशिश  करता है।

टोपिरामेट टैबलेट के इंटरैक्शन क्या है?(What is the interaction of Topiramate in Hindi ?)

 रोग के साथ होने वाली इंटरैक्शन:
  •  ब्लड डिसॉर्डर:टोपिरामेट  टैबलेट खून  की कोशिकाओं की गिनती को कम कर सकता है और एक मुश्किल स्थिति पैदा हो सकती है। रक्त कोशिकाओं की गिनती की जाँच बंद करना बहुत जरुरी है। अगर आपके खून में कोई परिवर्तन आता है तो आप  अपने डॉक्टर के पास जल्द से जल्द जाए।
  •  शराब के साथ  इंटरैक्शन:  इस दवाई को शराब या किसी भी नशीले पदार्थ से नही लेनी चाहिए अगर आपको शराब पीने की बहुत गंदी लत है तो आप इस दवाई को बिल्कुल न ले और शराब पीने की आदत के बारे में अपने डॉक्टर को जरूर बताएं। अगर आप समय पर नहीं बताएंगे तो आपको चक्कर आना जैसे और भी गंभीर लक्षण दिखाई दे सकते है।
 दवाओं के साथ होने वाली इंटरैक्शन:
  •  क्लोजापिन: यह दवाई शरीर के  तापमान को बड़ा देती है और इस से बहुत पसीना आता है। वैसे तो यह बात बहुत आम  होती है लेकिन  आपके शरीर के तापमान की वृद्धि हो रही है और पसीने में कमी आ रही जैसे लक्षण दिखाई देते है तो अपने डॉक्टर से जल्दी संपर्क करे।
  •  मेटफ़ोर्मिन:यह दवाई  लैक्टिक एसिडोसिस के जोखिम को बढ़ा सकती हैं। अगर आप कोई भी  एंटीबायटीक दवाई ले रहे है तो अपने  डॉक्टर को जरूर बताएं ।अगर आपको कमजोरी होना, उल्टी होना, मांसपेशियों में दर्द या दिल की धड़कन में वृद्धि होना जैसे कोई भी लक्षण दिखाई देते है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करे।
  •  एथीनील एस्ट्राडिओल: अगर आप कोई गर्भनिरोधक गोलियों का वांछित प्रभाव तब प्राप्त नहीं होगा। अगर आप इस दोनों दवाई एक साथ लेते है। रोगविष्यक  ​​स्थिति  हो सकती है इसलिए सबसे पहले अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क कर लें।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 349

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top