Threptin Biscuit in hindi

Threptin Biscuit in hindi : थ्रेप्टिन बिस्किट की जानकारी फायदे, उपयोग और नुकसान

थ्रेप्टिन बिस्किट की जानकारी:

यह मानना है, कि थेप्टिन बिस्किट (threptin biscuit in hindi) को जब भी कोई गर्भवती, या स्तनपातन करवाने वाली महिला उपयोग करती है, तो यह उसके लिए बहुत लाभदायक होता है।

  • यह बिस्किट उन महिलाओं के लिए है जो गर्भ धारण करने की प्लानिंग कर रही हैं या जो गर्भ धारण कर चुकी हैं। इस बिस्किट का स्वाद ना तो मीठा होता है, न ही नमकीन होता है। पर एक बात ज़रूर है कि,  इसमें काफ़ी उच्च स्तरीय प्रोटीन की मात्रा होती है। वह  इसलिए क्योंकि, गर्भ धारण करने के लिए, महिला के शरीर में प्रोटीन का स्तर, बहुत अच्छा या ज़्यादा होना चाहिए, और इसी कारण, ये काफ़ी लाभदायक होता है। 
  • इस बिस्किट को बच्चे भी खा सकते हैं। इससे उनके शरीर में प्रोटीन स्तर बढ़ेगा और उनका स्वास्थ्य भी सही रहेगा। साथ ही, पुरुष भी इस बिस्किटको खा सकते हैं। ख़ासकर वो मर्द जिनके शरीर में प्रोटीन की कमी है, वो इसे ज़रूर खाएँ।
  • अब इस लेख में हम आपको बताएँगे कि इसको कैसे इस्तेमाल करते हैं, इसको उपयोग करने से कौनसे लाभ और फ़ायदे देखे गए हैं।
  • यह बिस्किट गर्भवती औरतों में विकास, उनके प्रोटीन स्तर के बढ़ने की वजह से  मोटापा, बच्चों में अच्छी बढ़ोतरी और विकास दिखाता  है। यह मैगरैन, हाई-BP, मुँहासे, मांसपेशियाँ जकड़ना, टाइप-२ मधुमेह और इन सब बीमारियों के इलाज भी प्रदान करते हैं।

थ्रेप्टिन बिस्किट में सामग्री:

  • इस दवा में ये सामग्री होती है:
  • कार्बोहाइड्रेट 
  • वसा 
  • निकोटिनमिड
  • प्रोटीन 
  • रायबोफ़्लेविन 
  • शुगर 
  • कई सारे विटामिन 

थ्रेप्टिन बिस्किट के पैकिज और क्षमताएँ:

यह निम्नलिखित पैकिज और क्षमताओं में उपलब्ध होता है:

थ्रेप्टिन बिस्कट सिरप / Threptin Biscuit Syrup पैकेज: 250GM Biscuit

थ्रेप्टिन बिस्किट के फ़ायदे:

इस बिस्किट या उसका सिरप के निम्नलिखित फ़ायदे होते  हैं:

  • गर्भवती महिलाओं में वृद्धि और विकास
  • चर्बी बढ़ना
  • किशोरावस्था में बढ़ोतरी और विकास
  • बच्चों में बढ़ोतरी और विकास
  • माइगरैन 
  • उच्च या हाई BP 
  • मुँहासे 
  • मांसपेशियों में ऐंठन 
  • हार्ट अटैक 
  • रिब-केज या पंजर में दर्द 
  • ब्लॉक हुई आर्टरीज़ की वजह से पैरों में दर्द 
  • डीहायड्रेशन या निर्जलीकरण 
  • गंभीर दस्त
  • टाइप-२ डाइअबीटीज़ 
  • शराब 
  • सूजन
  • पाचन में मदद 
  • मूत्र करने में दिक्कत 
  • हार्ट बर्न 
  • कितानु के संक्रमण
  • ऊर्जा की संरक्षण और उसका भंडारण
  • पाचन और शोषण 
  • इन्सुलेशन और सुरक्षा
  • हॉर्मोन का उत्पादन 
  • कोशिका की दीवार के लिए संरचना और सहारा प्रदान करना
  • हाई कोलेस्ट्रोल 
  • दस्त 
  • भूलने की बीमारी 
  • अर्थरैटिस 
  • विटामिन-बी३ का अभाव 
  • सर्विकल कैन्सर 

थ्रेप्टिन बिस्किट के दुष्प्रभाव : Threptin Biscuit Side Effects in Hindi

हालाँकि कि थ्रेप्टिन बिस्किट के वैसे काफ़ी सारे दुष्प्रभाव होते हैं, पर ये ज़रूरी नहीं कि कोई व्यक्ति इन  सारों का अनुभव करे। नीचे उन सभी दुष्प्रभावों की सूची को दी गयी है, जिनका आप को अनुभव हो सकता हो सकता है। ज़रूरी नहीं है की आपको ये सारे दुष्प्रभाव महसूस हों ही, पर कुछ दुष्प्रभाव गम्भीर हो सकते हैं। यदि निम्नलिखित दुष्प्रभावों में से एक भी साइड-इफ़ेक्ट, अगर आपको महसूस हों, और वो जा ही नहीं रहा, तो अच्छा होगा की आप अपने चिकित्सक को सम्पर्क करें। 

  • सर में दर्द 
  • मरोड़ 
  • शरीर में पानी की कमी 
  • पेट जल्दी भर जाना 
  • शरीर में चर्बी बढ़ जाना 
  • जल्दी थक जाना 
  • थकाने वाला बाउल मूव्मेंट 
  • मतली
  • सूजन
  • काफ़ी ज़्यादा कार्बोहायड्रेट की वजह से पूरे शरीर की गरमी बढ़ जाना 

यदि आपको किसी नए साइड-इफ़ेक्ट के बारे में मालूम पड़ता  है, जो कि ऊपर दी गयी सूची नहीं है, तो जल्द से जल्द ही अपने चिकित्सक से, या अपने फ़ार्मसिस्ट से सम्पर्क करें, और जल्द-से-जल्द उन्हें अपने नए दुष्प्रभावों को बताएँ। 

थ्रेप्टिन बिस्किट के बारे में चेतावनियाँ : Precautions about Threptin Biscuit in Hindi

आप जब भी इस दवा का इस्तेमाल करना शुरू करें, तो उससे पहले ये ज़रूरी होगा कि आप अपने चिकित्सक को अब तक की दवाइयाँ, अपनी पुरानी बीमारियाँ और अपने वर्तमान में इस्तेमाल होते हुए सप्लेमेंट्स का भी ज़रूर बताएँ। 

  • जब भी इस दवाई का इस्तेमाल करें, तो सदा अपने चिकित्सक के दिए दिशा-निर्देशों का पालन करे ,गर्भवती महिलाए बिना डॉक्टर की सलाह के इस का सेवन न करे |
  • यदि कोई महिला पहले से ही गर्भवती है, और इस दवा का इस्तेमाल करना शुरू करने जा रही हैं, तो ज़रूरी है की वो एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।
  • को लिवर का रोगी या पीड़ित कोई भी  व्यक्ति, इस दवाई के इस्तेमाल से पहले ध्यान दें आऊँ अपने चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें। 
  • मधुमेह से पीड़ित रोगी भी ध्यान दें।
  • हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित रोगी भी ध्यान दें।।
  •  गॉल ब्लैडर की दिक्कातों से पीड़ित इंसान को भी इस औषधि का उपयोग नहीं करना चाहिए।

थ्रेप्टिन बिस्किट को ज़्यादा मात्रा में लेने पर होने वाली  तकलीफे : Threptin Biscuit Overdose Symptoms in Hindi

  • वह कहते हैं ना कि किसी भी वस्तु की अति नहीं होनी चाहिए। इस बिस्किट को अपनी खुराक से ज़्यादा मात्रा में लेने पर कुछ साइड-इफ़ेक्ट देखने को मिल सकते हैं।
  • यदि आप ऐसा कोई भी साइड-इफ़ेक्ट दिखें, तो अपने चिकित्सक या फ़ार्मसिस्ट को ज़रूर सूचित करें। वो आपको ज़्यादा जानकारी देंगे।

थ्रेप्टिन बिस्किट का निष्कासन : Expired Threptin Biscuit in Hindi

वैसे कभी भी, निष्कासित( एक्स्पायर्ड) थ्रेप्टिन बिस्किट खाने से, कोई भी ख़राब संकेत दिखने के मामले नहीं देखे जाते हैं। यह ज़ाहिर सी बात है क्यूँकि, दवा की ख़राब होने की तारीख़ आ चुकी  होगी। वैसे ख़ुद को किसी भी रिस्क और हानि से बचने के लिए, कृपया कर, अपने चिकित्सक से सम्पर्क करें।

अधिक आवश्यक सूचना:

  • अपने पहले डॉक्टर की सलाह लिए बिना, कृपया करके थ्रेप्टिन बिस्किट/ Threptin Biscuit Syrup का उपयोग ना शुरू करें।
  • इस दवा के रोगियों ने उसी दिन, सिर्फ़ दो घंटों में ही अपनी हालत में सुधार दर्ज कराया है। पर यह वक़्त ये नहीं दर्शाता कि आपने कैसा महसूस किया इत्यादि।
  • प्रयोगियों ने भी बताया है कि इस दवा का दिन में एक बार और दिन में दो बार इस्तेमाल करना चाहिए।
  • आमतौर पर प्रयोगियों ने इस दवा का ख़ाली पेट ही सेवन किया है। काफ़ी लोग इसको ऐसे हाई इस्तेमाल करने की सलाह भी देते हैं। अगर आपको दवा लेने के समय पर और कोई सवाल हो, तो अपने नज़दीकी डॉक्टर से सम्पर्क अवश्य करें। 
  • अगर इस दवा के सेवन के बाद आपको आमतौर पर नींद, चक्कर, जैसे अस्थिर लक्षण दिखते हैं, तो ज़ाहिर सी बात है की आपको दवा लेते समय गाड़ी चलने और भारी मशीनरी के काम से दूर रहना चाहिए। आपका ही भला होगा। दवा लेते वक़्त शराब लेने की सोचे भी नहीं, क्यूँकि हर दवा विक्रेता ऐसा करने के लिए माना करता है।
  • अधिकतर, इस दवा से अडिक्शन की हालत नहीं देखी जाती है। वैसे भारतीय सरकार एक नियंत्रण जारी करती है उस प्रकार की दवाओं पर। 

कुछ दवाओं को धीरे-धीरे इसलिए कम करना ज़रूरी होती है, क्यूँकि कहीं रेबाउंड प्रभाव ना देखने को मिले।॰आपके शरीर, आपकी हालत या दवा पर और कोई शंका हो, तो अपने चिकित्सक से अवश्य सम्पर्क करें।

कुछ और जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

2 thoughts on “Threptin Biscuit in hindi : थ्रेप्टिन बिस्किट की जानकारी फायदे, उपयोग और नुकसान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top