ranitidine tablet in hindi

Ranitidine tablet in hindi complete guide रेनिटिडिन टैबलेट हिंदी

आज हम अपनी इस पोस्ट में बात करेंगे रेनिटिडिन एचसीएल 150 एमजी टेबलेट(Ranitidine tablet) की। हम जानेंगे कि इस टैबलेट का इस्तेमाल कैसे किया जाता है और किस बीमारी के उपचार में इसका सही तरीके से इस्तेमाल करने से बीमारी पूरी तरह से ठीक हो जाती है। हम जानेंगे कि इस द बारी के कितने ज्यादा साइड इफेक्ट है और कितने कम नुकसान है। तो चलिए जान लेते हैं आखिर क्या है इस टैबलेट में खास? 

रेनिटिडिन 150 Mg टैबलेट क्या है? (What is Ranitidine tablet?) 

मुख्य तौर पर डॉक्टर की सलाह से ली जाने वाली यह कैसी टेबलेट है जो मुंह के द्वारा मरीज को दी जाती है। यह एक ऐसी टेबलेट है जिसमें जेंटेक नामक ब्रांड के साथ-साथ कुछ सामान्य ड्रग भी मिलाए जाते हैं। इसमें कुछ जेनेरिक ड्रग होते हैं जो ज्यादातर ब्रांडेड दवाइयों से सस्ते दामों पर मिल जाते हैं। 

रेनिटिडिन 150Mg कैसे करती है काम? (How does Ranitidine tablet Works?) 

यह दवाई एक ऐसी दवाई है जो हिस्टामिन रिसेप्टर्स विरोधी नामक ड्रग की श्रेणी में सम्मिलित है। ऐसी दवाइयों का पूरा समूह मिलकर सामान्य तरीके से ही काम करता है इन दवाइयों का प्रयोग अक्सर मरीज के शरीर में एसिड को खत्म करने व उसके इलाज के लिए किया जाता है।

किन बीमारियों में इस्तेमाल की जाती है रेनिटिडिन 150 Mg? (In what diseases is ranitidine 150 mg used?

इस दवाई का उपयोग मुख्य तौर पर निम्नलिखित बीमारियों के इलाज में की जाती है:- 

  • एसिडिटी
  • गॉड 
  • पेट में अल्सर 
  • zollinger-ellison सिंड्रोम 
  • सीने में जलन 
  • गले में जलन 
  • पाचन तंत्र के रोग 
  • प्रेगनेंसी में अपच 
  • लैरिंजाइटिस 
  • पेट दर्द पेट में गैस 
  • पेट के रोग 
  • खट्टी डकार 
  • प्रेगनेंसी में एसिडिटी 
  • मुंह की बदबू आदि

रेनिटिडिन 150 Mg को इस्तेमाल करने का तरीका:- (How to use ranitidine 150 Mg

प्रत्येक दवाई को यदि डॉक्टर की सलाह से ही सेवन की जाए तो ज्यादा फायदेमंद होती है। ऐसे में रोगी की आयु उसका चिकित्सक इतिहास आदि पर दवाई की मात्रा निर्भर करती है। 

रेनिटिडिन 150Mg से होने वाले कुछ साइड इफेक्ट और दुष्प्रभाव (some side effects from ranitidine 150Mg

कहते हैं प्रत्येक वस्तु के नकारात्मक और सकारात्मक दोनों ही प्रकार के प्रभाव होते हैं ठीक इसी प्रकार से विशेषज्ञों की रिसर्च के आधार पर Ranitidine 150Mg के भी कुछ दुष्प्रभाव निम्न प्रकार से बताए गए हैं। 

  • थकान 
  • उगना 
  • सिरदर्द 
  • कब्ज
  • दस्त 
  • खांसी 
  • दुर्बलता 
  • अग्नाशय सूजन 
  • मन्दनाड़ी 
  • पीलिया 
  • हेपेटाइटिस 
  • डिप्रेशन 
  • नपुसंकता
  • उलझन 
  • अग्नाशय सूजन

रेनिटिडिन 150Mg को सेवन करने से संबंधित चेतावनी (warnings related to consumption of Ranitidine tablet)

  • यह एक ऐसी टेबलेट है जिसका गर्भवती महिलाओं पर कोई अधिक दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। 
  • साथ ही स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी यह टेबलेट बिल्कुल सही और सुरक्षित है। 
  • आमतौर पर इस टेबलेट के हानि कारक प्रभाव कुछ ज्यादा नहीं है इसलिए डॉक्टर की सलाह के बिना भी इसे लिया जा सकता है।
  • इस टैबलेट का दुष्प्रभाव मरीज के लीवर पर बेहद कम पड़ता है क्योंकि इसमें ड्रग की मात्रा बहुत सीमित होती है जिसकी वजह से इसे खाने से कोई ज्यादा असर लीवर पर नहीं होता है। 
  • हृदय के लिए भी यह एक सुरक्षित दवाई है जिसे लेने से कुछ ज्यादा खासा असर हृदय पर नहीं पड़ता है। 
  • दिमाग संबंधित बीमारियों के लिए यह दवाई बिल्कुल भी सक्षम नहीं है क्योंकि इसमें ऐसा कोई भी तत्व मौजूद नहीं है जो दिमागी हालत को ठीक कर सके। 
  • यदि यह दवाई एक्सपायर हो जाती है तो इसका इस्तेमाल करने से कोई साइड इफेक्ट तो नहीं होता है लेकिन फिर भी एक्सपायर दवाई लेना सेहत के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है क्योंकि वह शरीर की समस्या को कम करने की वजह बढ़ा सकती है।
  • 18 साल की आयु से कम बच्चे को यह दवाई देना सुरक्षित नहीं हो सकता है क्योंकि इसके कुछ उल्टे प्रभाव हो सकते हैं।
  • इस दवाई का अधिक सेवन भी मरीज को कई प्रकार की समस्याएं जैसे ब्लड प्रेशर का कम होना आदि उत्पन्न कर सकता है ऐसे में तुरंत डॉक्टर के संपर्क में आना जरूरी है।
  • Ranitidine 150 Mg या उससे अधिक मात्रा की टेबलेट का सेवन करने से मरीज को नींद आ जाती है क्योंकि कुछ लोगों को ड्रग लेने की आदत नहीं होती है ऐसे में यदि वे गोली खाते हैं तो वह गहरी नींद में कई घंटों तक सोते रहते हैं। 

निम्नलिखित मरीजों को रेनिटिडिन 150 Mg नहीं लेनी चाहिए…(the following patients should not take Ranitidine tablet

वैसे तो इस टेबलेट के दुष्प्रभाव और दुष्परिणाम कम है लेकिन फिर भी कुछ मरीजों के लिए इस दवाई का सेवन निषेध है जो निम्नलिखित है।

  • जिस मरीज को गुर्दे की बीमारी हो उस मरीज को Ranitidine टैबलेट का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।
  • लिवर रोग से पीड़ित व्यक्ति को भी Ranitidine टेबलेट का सेवन जरूरत पड़ने पर भी नहीं करना चाहिए। 
  • पोरफायरिया नामक रोग से ग्रसित होने पर भी पीड़ित को इस दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जो व्यक्ति हृदय रोग से जूझ रहा हो उन्हें भी इस दवाई से परहेज करना चाहिए।
  • कुछ लोगों को कुछ दवाइयों से एलर्जी होती है ऐसे में बिना डॉक्टर की सलाह लिए इस दवाई का सेवन उन लोगों को बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
  • कुछ लोगों को विभिन्न प्रकार के ड्रग से एलर्जी होती है ऐसे में Ranitidine मैं मौजूद ड्रग उन्हें नुकसान पहुंचा सकता है इसलिए उनका सेवन बिना जानकारी के नहीं करना चाहिए। 

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 353

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top