When to start protein powder during pregnancy?

Protein powder during pregnancy in hindi:गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन पाउडर..

गर्भावस्था के दौरान भूर्ण के पूर्ण विकास के लिए पर्याप्त आहार की आवश्यकता होती है जो कि एक महिला को निश्चित समय पर लेनी चाहिए यह गर्भवती महिला एवं उसके शिशु दोनों के लिए ही लाभकारी होती है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन(Protein powder during pregnancy in hindi) की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है एवं डॉक्टर द्वारा प्रोटीन ज्यादा मात्रा में लेने की सलाह दी जाती है। 

गर्भावस्था में यदि प्रोटीन की कमी हो जाए तो इससे शिशु का वजन कम हो जाता है और साथ ही साथ शिशु का जन्म समय से पहले हो जाता है जिसे Preterm बर्थ भी कहते हैं. परंतु इसका सेवन सीमा तक करना ही अच्छा होता है नहीं तो ज्यादा सेवन से इसके कई नुकसान भी हो सकते हैं।

बहुत सी गर्भवती महिलाओं को इसके बारे में नहीं पता होता कि उन्हें प्रोटीन की कितनी मात्रा गर्भावस्था के दौरान लेनी चाहिए। आज हम अपने इस लेख में आपको बताएंगे कि आपको प्रोटीन कब, कैसे और कितनी मात्रा में शुरू करना चाहिए? 

गर्भावस्था के 9 महीनो के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ?,क्या करे -क्या न करे

गर्भावस्था के दौरान कब शुरू करें प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल?(When to start using protein powder during pregnancy in hindi?)

जरूरी नहीं है की प्रोटीन पाउडर गर्भावस्था से ही शुरू किया जाए यदि कोई महिला अंडर वेट है या किसी महिला में प्रोटीन की कमी रहती है तो वह गर्भावस्था से पहले ही प्रोटीन पाउडर का सेवन शुरू कर सकती है। इसी के साथ साथ आप प्रोटीन युक्त आहार और प्रोटीन सप्लीमेंट्री भी ले सकते हैं। 

किसी भी महिला को गर्भ धारण करने से पहले प्रोटीन की 0.8 प्रति किलो ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए यह है उसके लिए लाभकारी होता है।

जिसके अनुसार यदि आपका वजन 50 किलोग्राम है तो आपको 50*0.8- 40 ग्राम प्रोटीन का सेवन 1 दिन में अवश्य करना चाहिए। 

इसके अतिरिक्त आप रोज 40 ग्राम प्रोटीन तक का सेवन अपने आहार में कर सकती हैं एवं गर्भावस्था के दौरान डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशानुसार प्रोटीन का सेवन करना चाहिए एवं आप खुद भी प्रोटीन की मात्रा अपने रोजाना के आहार में बड़ा कर ले सकते हैं यह गर्भवती महिला एवं उसके शिशु दोनों के लिए लाभकारी होता है। 

प्रोटीन प्रसव के बाद भी महिलाओं को लेना चाहिए। एवं स्तनपान के दौरान भी महिला प्रोटीन पाउडर का सेवन कर सकती हैं। 

इसके सेवन से केवल शिशु को ही लाभ नहीं मिलता बल्कि प्रसव के बाद एक महिला भी जल्द से जल्द रिकवर होती है। 

गर्भावस्था के थ्री ट्राइमेस्टर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन पाउडर कितना सुरक्षित है(How safe is protein powder during pregnancy in hindi)

इसमें कोई दो राय नहीं है कि गर्भावस्था के दौरान एवं गर्भावस्था से पहले प्रोटीन पाउडर का सेवन करना किसी प्रकार का हानिकारक तथ्य है। परंतु प्रोटीन पाउडर का सेवन करते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए जो कि इस प्रकार है:

  • किसी प्रकार की भी दवा लेने से पहले उसका लेबल जरूर देख ले। आर्टिफिशियल प्रोटीन का सेवन करने से गर्भवती महिला एवं उसके शिशु को नुकसान पहुंच सकता है। आप पौधे या पशु से प्राप्त प्रोटीन पाउडर का सेवन कर सकती हैं। 
  • किसी भी दवा का सेवन करने से पहले हम लोग की पूरी तरह जांच कर लेनी चाहिए ऐसे ही प्रोटीन पाउडर में मिले सभी तत्वों को अच्छे से जांच लें इसमें किसी प्रकार का शुगर या प्रिजर्वेटिव का प्रयोग नहीं होना चाहिए। 
  • प्रोटीन पाउडर का सेवन करने से पहले डॉक्टर से अवश्य पूछ लेना चाहिए एवं डॉक्टर के जांच करने के बाद ही प्रोटीन पाउडर का सेवन करना आपके और आपके शिशु के लिए सही साबित होता है नहीं तो यह आप को किसी प्रकार का नुकसान दे सकता है ऐसे नुकसान होने से बचे एवं प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल डॉक्टर के अनुसार ही करें।
  • डॉक्टर द्वारा बताए गए निश्चित समय पर ही प्रोटीन पाउडर का सेवन करना जरूरी होता है ज्यादा मात्रा में सेवन करने से बचें।
  • प्रोटीन पाउडर का सेवन करने से आपको किसी प्रकार की एलर्जी महसूस होती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें हैं एवं ऐसे प्रोटीन पाउडर को लेने से बचें।

Diet chart pregnancy in hindi:गर्भावस्था आहार चार्ट सम्पूर्ण जानकारी

प्रोटीन पाउडर के महत्वपूर्ण तथ्य(Important facts of protein powder)

गर्भावस्था के दौरान एक गर्भवती महिला को कैलोरी में 20 से 25 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। यह यूसीएसएफ बेनिनोफ चिल्‍ड्रन हॉस्पिटल के द्वारा निश्चित किया गया है। जबकि यह आपकी प्रेगनेंसी से पहले वजन के ऊपर निर्भर करता है। डॉक्टर के अनुसार सामान्य वजन और ऐसी महिला जिनका वजन कम है प्रोटीन पाउडर का सेवन उन महिलाओं के लिए अत्यावश्यक होता है। 

Mood swing in pregnancy in hindi:प्रेगनेंसी में मुड में बदलाव..

जैसे-जैसे गर्भावस्था का समय बढ़ता जाता है वैसे वैसे हम प्रोटीन की मात्रा बढ़ा सकते हैं। आप प्रोटीन पाउडर का सेवन दूध में मिलाकर कर सकते हैं यदि आपको किसी प्रकार से प्रोटीन पाउडर का स्वाद अच्छा नहीं लगता है तो आप डॉक्टर से संपर्क करके इसे शेक में मिलाकर भी पी सकती हैं। 

यह बातें पहली बार मां बन रही महिला के लिए बहुत ही आवश्यक होती है उसे इन बातों का अवश्य ध्यान रखना चाहिए ताकि गर्भवती महिला एवं उसके शिशु को किसी प्रकार की हानि ना हो सके।

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 349

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top