palash

Palash profit and loss|पलाश के लाभ और हानि

पलाश क्या है ?-What is palash?

Table of Contents HIDE

पलाश(palash)एक ओषधीय पेड़ है। इसमें अनेक औषधीय गुण पाए जाते है पलाश(palash) हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण पेड़ है। इस पेड़ में लाल रंग के फूल पाए जाते है ।इस पेड़ के फूल और छाल,जड़े और इसके बीजो का उपयोग  विभिन्न बीमारियों को ठीक करने में किया जाता है। इसका उपयोग कई रोगो को ठीक करने में किया जाता है जैसे शरीर की सूजन को ठीक करने में ,मधुमेह के इलाज में ,मूत्र संबंधित रोगों में, योन रोगों को ठीक करने में ,और आँखो के इलाज में ,गर्भ निरोधक और शरीर की खुजली और शरीर के घावों को भरने में, पेट के दर्द में ,दस्त लगने पर और पाचनक्रिया को ठीक करने में ,गठिया रोग को ठीक करने में ,और भी कई बीमारियों  को ठीक करने में पलाश का उपयोग किया जाता है। इसमें कई पोशक तत्व पाए जाते है । यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही उपयोगी पेड़ है 

पोशक तत्व जो पलाश में पाए जाते है – Nutritional elements found in Palash

आयुर्वेदिक उपचार में पलाश का उपयोग कृमिनाशक और टॉनिक के रूप में किया जाता है। पलाश की पत्तियों में पाया जाता है ग्लू कोसाइड, लिनोलेइक एसिड, ओलिक एसिड और लिन्‍गोसेरिक एसिड और पलाश की छाल में पाया जाता है  गैलिक एसिड,साइनाइडिंग, लुपेनोन, पैलेसिट्रीन, ब्‍यूटिन, ब्‍यूटोलिक एसिड,पैलेससिमाइड और इसके फूलों में पाया जाता है फ्लेवोनॉयड्स, ट्राइटर पेन, आइसोबुट्रिन, कोरोप्सिन, आइसोकोरोप्सि और सल्‍फरिन यह सभी पोशक तत्व पलाश में पाए जाते है ।

औषधि उपयोग में आने वाले भाग – Parts used in medicine of Palash 

पलाश(palash) के पेड़ की छाल इसका तना ,पलाश के फूल ,पलाश के फल ,पलाश के बीज ,पलाश की जड़े ,पलाश की पत्तिया,पलाश का तेल  ये सभी उपयोग में लाए जाने वाले भाग है । इनका उपयोग कर शरीर के कई रोगों को ठीक किया जाता है ।

पलाश से होने वाले लाभ – Benefits from Palash

1. मधुमेह के इलाज में -Palash In the treatment of diabetes

यदि आप पलाश के फूलो को शाम के समय पानी में भिगो कर रख दे ,और सुबह इसको छान कर पानी का सेवन करने से मधुमेह की समस्या दूर होती है ।और यदि आप पलाश के फूलो को सूखा कर, उसका पॉवडर बनाकर उसका सेवन करते है तो यह भी शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है । यह मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है ।

2. सूजन को ठीक करने में –Palash To cure inflammation

पलाश के फूलो को सूखा कर, उनको पीस कर उसका लेप बना ले और इस लेप को सूजन वाली जगह पर लगाने से सूजन को ठीक किया जा सकता है।इसका उपयोग शरीर की जलन और खुजली को ठीक करने के लिए भी किया जाता है ।यह शरीर की सूजन को कम करने के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है 

3. त्वचा के संक्रमण में –Palash in Skin infections

त्वचा के संक्रमण को ठीक करने के लिए पलाश के बीजो का उपयोग किया जाता है। त्वचा के दाग धब्बो कील मुहासो और दाद जैसी समस्या को दूर करने के लिए पलाश के बीजो को पीस कर उसका लेप बना ले| और इसे चेहरे पर लगाले ।यह त्वचा के संक्रमण को ठीक करने के लिए भी बहुत ही फ़ायदेमंद होता है ।और यह त्वचा की सुंदरता और निखार को भी बढ़ाता है ।

4. रक्त को साफ करने में – To clean the blood

शरीर के रक्त को साफ करने के लिए पलाश के फूलो का उपयोग किया जाता है ।पलाश के फूलो को सूखा कर इनका पॉवडर बना कर, इसका सेवन करने से रक्त साफ होता है ।यह रक्त से हानिकारक तत्वों को बहार करने में मदद करता है ।यह रक्त संबंधित रोगों को दूर करने के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है ।

5. आँखो के इलाज में – In the treatment of eyes

आँखो के इलाज में पलाश की जड़ के अर्क का उपयोग किया जाता है।पलाश की जड़  का अर्क आँख में डालने से मोतियाबिंद को ठीक करने में मदद मिलती है । पलाश की जड़ के अर्क का उपयोग रतोंधी रोग को ठीक करने में भी किया जाता है ।आँखो की सभी प्रकार की समस्या को दूर करने के लिए पलाश की जड़ के अर्क का उपयोग किया जाता है ।यह आँखो की रोशनी को तेज करता है और यह आँखो के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है ।

6. पाचन क्रिया को ठीक करने में – To help digestion

पाचन क्रिया को ठीक करने में पलाश की छाल और पलाश की जड़ के अर्क का उपयोग किया जाता है । इसकी छाल को पानी में उबाल कर इसे छान कर पानी का सेवन करने से पाचन क्रिया ठीक होती है और यह भूख को भी बढ़ने में मदद करता है ।इसका सेवन करने से पेट के आफरे की समस्या भी दूर होती है । और यह एसिडिटी और अपच ,कब्ज आदि समस्याओं को ठीक करने में भी मदद करता है ।

7. पेट के कीड़े को मारने में – Kill stomach worms

पेट के कीड़े को मारने और पेट दर्द की समस्या को दूर करने के लिए भी पलाश की छाल और पलाश की जड़ के अर्क का उपयोग किया जाता है ।पलाश की छाल को पानी में उबाल कर उसे छान कर उस पानी के सेवन से पेट दर्द की समस्या दूर होती है और पलाश की जड़ के अर्क का सेवन करने से पेट के कीड़ो से राहत मिलती है। पलाश पेट की समस्या के लिए बहुत ही उपयोगी होता है ।

8. नकसीर को ठीक करने में – To cure hemorrhage

यदि आप को नकसीर (नाक से खून बहने) की समस्या है तो पलाश के फूल आप के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद हो सकते है ।पलाश के फूलो क शाम को पानी में भिगो दे और सुबह इसे छान कर इसमें थोड़ी मिश्री मिला कर इसका सेवन करने से नकसीर की समस्या से छुटकारा मिलता  है । नकसीर की समस्या को दूर करने के लिए पलाश के फूल बहुत ही उपयोगी माने जाते है ।

9. मिर्गी को ठीक करने में – To cure epilepsy

मिर्गी की समस्या होने पर पलाश की जड़ का अर्क एक दो बून्द नाक में डालने से मिर्गी की समस्या दूर होती है।यह मिर्गी के रोगियों के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है। 

10. दस्त को ठीक करने में – To cure diarrhea

दस्त की समस्या होने पर रोगी को पलाश के पेड़ से मिलने वाला गोंद की 2 ग्राम मात्रा और इसके साथ दालचीनी और कुछ मात्रा में खस खस के दानो को मिला कर ,इनको पीस कर ,इसका सेवन करने से दस्त से राहत मिलती है ।दस्त को ठीक करने में पलाश के बीजो का भी उपयोग किया जाता है।

11. योन शक्ति को बड़ाने में – To increase yon strength

योन शक्ति को बड़ाने में पलाश की जड़ो के रस का उपयोग किया जाता है। पलाश की जड़ो के रस के सेवन से योन संबंधित समस्या दूर होती है और यह योन शक्ति को बड़ाने में भी मदद करता है । और यह वीर्य के अनैच्छिक प्रवाह को रोकने में मदद करता है  यह योन समस्या को दूर करने के लिए बहुत ही उपयोगी होता है ।

12. मूत्र रोग में – In urinary disease

पलाश के फूलो का उपयोग मूत्र रोग में भी किया जाता है।जैसे मूत्र में जलन होना ,मूत्र का रुक रुक कर आना आदि समस्याओं को दूर करने के लिए पलाश के फूलो का उपयोग किया जाता है । मूत्र रोग संबंधित कोई समस्या हो तो पलाश के फूल को पानी में उबाल कर, इन फूलो को निकाल कर थोड़ा ठंडा कर के इन्हे पेडू पर बांधने से मूत्र रोग की समस्या से राहत मिलती है।

13. बुखार को ठीक करने में – To cure fever

यदि आप को बार बार बुखार आने की समस्या है तो पलाश के फूल आप के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद हो सकते है। पलाश के फूलो का रस निकाल ले और इसमें गाय का दूध और मिश्री मिला कर ,इसका सेवन करने से बुखार ठीक हो जाता है। यदि शरीर में अधिक गर्मी की शिकायत है तो यह शरीर की गर्मी को कम करने में भी उपयोगी है। 

14. गले के दर्द को ठीक करने में – To cure throat pain

यदि गले में दर्द और संक्रमण की समस्या है तो यह पलाश के फूलो के द्वारा ठीक किया जा सकता है। पलाश के फूलो का रस निकाल कर, उसे पानी में मिला कर ,इस पानी से गरारा करने से गले के दर्द और गले के संक्रमण को ठीक किया जाता है। यह गले के संक्रमण को दूर करने के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है ।

15. खुजली ठीक करने में – To cure itching

यदि अधिक खुजली की शिकायत है तो पलाश के बीजो को पीस कर, उसमे निम्बू का रस मिला कर, उसका लेप बना कर खुजली वाली जगह पर लगने से, खुजली से राहत मिलती है । यह खुजली और त्वचा के इंफेक्शन को ठीक करने में भी मदद करता है यह खुजली को ठीक करने के लिए बहुत ही उपयोगी है ।

16. बवासीर को ठीक करने में – To cure hemorrhoids

यदि आप को बवासीर की समस्या है तो आप पलाश के ताजे पत्तो पर घी लगा कर दही की मलाई के साथ इसका सेवन करने से बवासीर की समस्या से राहत मिलती है । पलाश बवासीर के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है ।

17. गर्भ निरोधक के रूप में – As contraceptive

पलाश का उपयोग गर्भ निरोधक के रूप में भी किया जाता है यह महिलाओ के गर्भ को ठहरने से रोकने में मदद करता है 

पलाश से होने वाली हानि – Loss from palash

1. पलाश के अधिक सेवन से एनीमिया की समस्या हो सकती है ।

2. गर्भवती महिला इसका अधिक सेवन ना करे ।

3. यदि आप को इससे एलर्जी की समस्या है तो इसका सेवन नहीं करना चाहिए ।

यहां हमने आपको पलाश (palash)से होने वाले फायदे और नुकसान बताए हे अब कुछ और जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 352

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top