Piroxicam Tablet in hindi

Piroxicam Tablet in hindi : पिरॉक्सिकम टैबलेट क्या है? जानिए इसके फायदे, उपयोग और नुकसान

पिरॉक्सिकम टैबलेट की जानकारी: Piroxicam Tablet Information

– पिरोक्सिकैम (Piroxicam) एक ऐसी दवा है, जो कि दर्द का निवारण करती है। बाक़ी दर्दों के अलावा, इसका इस्तेमाल मुख्यतः गठिया से पैदा होने वाले सूजन, दर्द और त्वचा में बनने  वाले कठोरता के इलाज में होता है।-Piroxicam Tablet in hindi

– यह दवा एक विशेष  वर्ग की दवाओं से सम्बंध रखती है, जिसे हम NSAID’s (नोस्टोरायडियल, एंटी-इन्फ्लैमेटरी ड्रग्स) के नाम से ज़्यादा जानते हैं। यह दवा, शरीर में दर्द की वजह से, बनने वाले कुछ पदार्थों का बनना, रोकता है। अगर यह पदार्थ बन जाएँ, तो यह सूजन करने की ओर बढ़ते हैं।

आज हम इस लेख में इस दवा के फ़ायदों, उपयोग और दुष्प्रभावों को।

  •  पिरोक्सिकैम एक नॉन-सटेरोईडल, ऐंटाई-इन्फ़्लैमटॉरी ड्रग की श्रेणी में आती है। यह दर्द को ख़त्म करने वाली, एक स्ट्रोंग पेन-किलर होती है। इसके इस्तेमाल के साथ हम और दवाइयाँ, जैसे कि पारासेटामोल, डैकलोफेनाक और नीमो-स्लाइड काम नहीं करते हैं।

पिरॉक्सिकम कैसे उपलब्ध होती है: How Piroxicam is available

  • पिरोक्सिकैम की दवा आपको टैब्लेट फ़ॉर्म में, जेल फ़ॉर्म में और इंजेक्शन फ़ॉर्म में मिल जाती है, मगर इस लेख में हम सिर्फ़ पिरोक्सिकैम टैब्लेट की बात करेंगे।
  • पिरोक्सिकैम टैब्लेट, आपको बाज़ार में 10 मिली ग्राम और 20 मिलीग्राम में उपलध होती है।

यह टैब्लेट विशेषकर दो फ़ॉर्म में आती हैं, जिनको हम DT और MD कहते हैं। DT का मतलब होता है ‘Dispersable Tablet’, यानी की यह पानी में घुल जाती है, और इसका असर दिखाना शुरू करती है। वहीं MD का मतलब होता है ‘Mouth Dissolving, यानी की ऐसी गोली जो मुँह में घुल जाती है, और वहीं इसका असर दिखाना शुरू होता है।

पिरॉक्सिकम के ब्राण्ड नेम: Brand name of Piroxicam Tablet in hindi

  • हम आपको कुछ लोकप्रिय ब्राण्ड नेम बता देते हैं, जिसकी वजह से आप इस दवाई को किसी भी ब्राण्ड नेम से ख़रीद सकें। हो सकता है की आपके क्षेत्र का ब्राण्ड नेम अलग हो, जो हम यह नहीं दे पे हैं, आप इससे बिलकुल भी कन्फ़्यूज़ ना हों। वैसे भी चिकित्सक, अपने क्षेत्र और ब्राण्ड नेम के हिसाब आपको सलाह देंगे। यह रहे वो लोकप्रिय ब्राण्ड नेम:
  • डोलोनेक्ष (Dolonex)
  • डोलोफ़ोर्स (Doloforce)
  • पैरोक्ष (Pirox)
  • यूजेसिक (Ugesic)
  • फ़ेलडीन (Feldene)
  • एम- क्विन (M-Quin)

पिरॉक्सिकम के फ़ायदे:Benefits of Piroxicam Tablet in hindi

  •  आप अब तक जान ही गए होंगे, की यह एक बहुत ही अच्छा पेन-किलर या दर्द-निवारक है।
  • यदि किसी व्यक्ति को Rheumatoid arthritis या गठिया होता है, तो उसे इस दवा का उपयोग करना हाई पड़ता है। इस बीमारी में, जोड़ों में दर्द और कठोरता आजाती है, जिसे स्टिफ़्नेस हेकते हैं। ऐसी स्थिति में दर्द और सूजन के लिए, चिकित्सक द्वारा, यह दवा दी जाती है।
  • यदि किसी व्यक्ति को हड्डियों से सम्बंधित बीमारियाँ, जैसे ऑस्टीओपरोसिस और ओसटेओ-आर्थ्राइटिस है, तो उसमें भी रोगी को काफ़ी दर्द और सटिफनेसस रहता है। वहाँ भी डॉक्टर द्वारा यह दवा दी जाती है।
  • यदि कोई महिल है, जिसे मासिक  धर्म के समय बहुत दर्द हो रहा है, विशेषकर पीठ में और हिप्स-जोईंट (कूल्हों के जोड़) में, तब भी इस दवा की सलाह, चिकित्सक देता है।
  • यदि किसी की कोई मेजर सर्जरी होती है, तो इस स्थिति में, उसको काफ़ी दर्द रहता है, तो वहाँ भी उसे, यह दवा दी जाती है।
  • किसी ऐक्सिडेंट की चोट का भी दर्द ठीक करने के लिए, इस दवा का इस्तेमाल होता है।
  • स्पोर्ट्स खेलने वाले, या कोई स्टंट करने वाले व्यक्ति को भी, शारीरिक दर्द कम करने के लिए, यह दवा दी जाती है।
  • किसी भी शारीरिक दर्द में और सर के दर्द में यह दवा बहुत हाई लाभदायक होती है।
  • जब भी कोई व्यक्ति नशा छोड़ता है, तब भी चिकित्सक, उस व्यक्ति को, इस दवा की सलाह देता है।

इस प्रक्रिया में होता यह है, की उस व्यक्ति की मसपेशियों को, उसके नशीले पदार्थ की, चाहे वो अफ़ीम की या शराब की, आदत पड़ जाती है। उसके शरीर को उस पदार्थ की आदत होती है, पर उसे छोड़ते ही, उसके मांसपेशियों में दर्द शुरू होता हैं। उस दर्द को ख़त्म करने के लिए, यह दवा उसे दी जाती है।

नोट: वैसे यह दवा हर दर्द के लिए काम करती है, पर अगर किसिको पेट-दर्द हो, तो यह दवा काम नहीं करती।

पिरॉक्सिकम के दुष्प्रभाव: Sideeffect of Piroxicam Tablet in hindi

इस दवा के काफ़ी सारे दुष्प्रभाव  होते हैं, तभी इसे ज़रूरत पर ही दिए जानते हैं, नहीं तो इसको आमतौर पर नहीं दिया जाता है। यह रहे आम दुष्प्रभाव:

  • क्योंकि यह दवा NSAID के वर्ग की दवा है, यह गैस्ट्रिक समस्याएँ देंगी ही।
  • आपको पेट में बेचैनी का अनुभव होगा।
  • उल्टी या मत्तलि का आभास होगा।
  • दस्त हो सकते हैं।
  • पेप्टिक अल्सर हो सकते हैं।
  • पेट में ब्लीडिंग हो सकते हैं।
  • यदि हम गम्भीर दुष्प्रभावों की ओर जाएँ, तो व्यक्ति को चक्कर असकते हैं, उसे नींद ना आने की दिक्कत हो सकती है।
  • उसके पैंक्रीयास  में सूजन असकती है, उसको किड्नी की बीमारी असकती है।
  • लिवर फ़ेल्यर हो सकता है।
  • सुनने में समस्या और डिप्रेशन भी हो सकता है।

यदि ऊपर दिए साइड-इफ़ेक्ट के अलावा आपको कोई और साइड-इफ़ेक्ट हो, तो तुरंत इस दवा को बंद करें और अपने चिकित्सक या फ़ार्मसिस्ट को मिलें।

पिरॉक्सिकम की खुराक या डोसिज: Piroxicam supplements

  • जब आओको दर्द हो, तो सामान्यतः इसको दिन में एक बार दिया जाता है।
  • यदि रोगी, अफ़ीम या शराब का नशा छोड़ रहा है, तो इसे दिन में दो बार भी दिया जा सकता है।
  • इस दवा को स्पेशलली , आप खाने के बाद ही लें, क्योंकि खाने के पहले लेने से आपको यह गैस्ट्रिक समस्या देगा।
  • वैसे यह दवा DT और MD फ़ॉर्म में तो आती है, पर यदि आप DT को पानी में घोल कर लेंगे, तो यह जल्दी असर दिखाएँगे।
  • वैसे इस दवा को आप दूसरे पेन किलर्ज़ के साथ भी ले सकते हैं, पर दूसरी दवाओं को दिन में दो बार या तीन बार दिया जाएगा और पिरॉक्सिकम को दिन में एक बार दिया जाएगा। इसे एक स्पेशीऐलिटी फ़ॉर्म में ही दिया जाएगा।
  • इस दवा को बिना चिकित्सक के सलाह के, नहीं लेनी होती है, क्यूँकि इसके बहुत सारे दुष्प्रभाव होते हैं।

पिरॉक्सिकम के साथ इंटरैक्शन: Interactions with piroxicam

  • शराब के साथ पारस्परिक क्रिया:

इस दवा को शराब के साथ बिलकुल नहीं लेना चाहिए। अगर रोगी के पेट में ब्लीडिंग होने के लक्षण, जैसे ही दिखें, या मल में सूखापन या उसका रंग, कॉफ़ी के रंग का हो, तो तुरंत ही चिकित्सक को सम्पर्क करें।

  • दवाओं के साथ इंटरैक्शन
  • वार्फरिन (Warfarin)- यदि एक साथ लिया जाए तो, इन दवाओं के लेने से, ख़ून के बहाव में खतरे को, काफ़ी बढ़ाया जा सकता है ।
  • कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Corticosteroids)
  • फ्लुओरोक़ुइनोलोन (Fluoroquinolone)
  • एंजियोटेनसिन कंवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स (Angiotensin converting enzyme inhibitors)
  • रोग के साथ इंटरैक्शन

दमा या अस्थमा -यदि आपको आपको NSAID सेन्सिटिव या सामवेदनशील अस्थमा है, तो आपको यह दवा नहीं लेनी चाहिए।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 353

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top