Phenergan Tablet in hindi

Phenergan Tablet in hindi : फेनेर्गन टैबलेट क्या है? इसके फायदे, उपयोग और नुकसान

फेनेर्गन टैबलेट की जानकारी: Phenergan Tablet Information in hindi

Table of Contents HIDE
  • फेनेर्गन टैबलेट (Phenergan Tablet in Hindi) या सिरप , बच्चों की  ऐसी दवा होती है, जिसका इस्तेमाल उल्टी या जलन जैसी समयाओं के उपचार के लिए किया जाता है। यह दवा हर मेडिकल स्टोर में मिलती ही है।
  • ज़रूरी नहीं कि इस दवा को आप बच्चों को हाई दें। यह उन रोगियों को भी दी जा सकती हैं जो कि वृद्ध हों और वो जो टैब्लेट नहीं खा सकते हैं। उन लोगों को आप कैल्क्युलेट करके, इसे पिला सकते हैं।
  • प्रोमेथाजैन सिरप, एक पहली पीढ़ी की ऐंटाई-हिस्टमीन  दवा है। इसके लेने से मरीज़ की साँस फूल  सकती है। इसका सेवन करने से उसे साँस लेने में दिक्कत भी हो सकती है। इसी कारण इस दवा को किसी चिकित्सक के दिशा-निर्देशों के बग़ैर नहीं देना चाहिए।
  • इस लेख में हम यह जानेंगे की इस दवा का उपयोग कैसे होता है, इसकी खुराक  कितनी होनी चाहिए, यह किस बच्चे को पिलानी चाहिए और किसको नहीं। और इन सब के साथ हम जानेंगे इस दवा के फ़ायदे और दुष्प्रभाव भी।

फेनेर्गन सिरप की संरचना, निर्माता एवं क़ीमत:Phenergan Syrup Composition, Manufacturer and Price

  • संरचना: इस दवा का दूसरा नाम है प्रोमेथाजैन सिरप, जो कि इस दवा का कॉम्पज़िशन या संरचना भी कहते हैं।
  • निर्माता : यह दवा अबोर्ड हेल्थ केर लिमिटेड द्वारा बनायी जाती है। फेनर्गन सिरप आपको 60 मिलिलेटेर तथा 100 मिलिलेटेर की प्लास्टिक बोतल की पैकिंग में मिल जाएगी।
  • क़ीमत : इसके सौ मिलिलेटर बॉटल की क़ीमत बत्तीस (32 /-) रुपय MRP में मिल जाएगी।

फेनेर्गन टैबलेट या सिरप की ज़रूरी सावधानियाँ :Important precautions of Phenergan Tablet or Syrup

इसके बारे में और जानने से पहले, हम यह निम्नलिखित सावधानियाँ बताना चाहते हैं। आइए उनकी बात करते हैं:Phenergan Tablet in hindi

  •  वह बच्चे जो दो वर्ष से छोटे होते हैं, जिन्हें हम इंफ़ंट्स या नवजात भी कहते हैं, उन्हें यह दवा देना बिलकुल माना है। इस पर आपको भी ध्यान देना है, क्योंकि यदि पहले कभी किसिने इतने छोटे बच्चे को यह दवा दी है, तो उस बच्चे को ब्रीथिंग प्रोबलेम या सान लेने में तकलीफ़ हुई है। यह तकलीफ़ इतनी गम्भीर होती है की उस बच्चे की जान भी का सकती है।
  • तो इस बात पर विशेष तौर पर ध्यान दें, की दो साल से छोटे बच्चे को किसी भी सूरत में, यह दवा ना दें।
  • इसके साथ ही, यदि आपका बच्चा दो वर्ष का है या उससे थोड़ा बड़ा है, तो आपको बहुत ध्यान से, चिकित्सक से निर्धारित की गयी खुराक ही देनी है। यदि आप भूल जाते हैं, तो तुरंत ही अपने फ़ार्मसिस्ट या चिकित्सक से सम्पर्क में आए और दवा दें।
  •  यदि आप अपने बच्चे को किसी चिकित्सक को दिखा रहे हैं, तो यह बहुत ज़रूरी है की आप अपने बच्चे का चिकित्सीय इतिहास उसे बताएँ। उसे यह भी बताएँ की बच्चा कौनसी और दवाएँ लेता है। अगर उसे किसी चीज़ से ऐलर्जी है, तो वो भी ज़रूर बताएँ।
  • अगर आपके बच्चे को साँस की कोई भी निम्नलिखित तकलीफ़ हो, तो दवा लेने से पहले चिकित्सक को ज़रूर सूचित करें, जिससे कि वो या तो इस दवा का डोस काम करे या इसकी जगह, कोई दूसरी दवा दे:
  • साँस लेने में तकलीफ़
  • दमा
  • COPD (क्रॉनिक अब्स्ट्रक्टिव पल्मनेरी डिज़ीज़, जो कि एक फेफड़ों की बीमारी है)
  • हृदय रोग
  • पेशाब का रोग
  • सीज़र या दौरे पड़ना

फेनेर्गन सिरप की स्ट्रेंठ :Strength of Phenergan Syrup :Phenergan Tablet in hindi

इस सिरप में 5 mg की स्ट्रेंठ, 5 ml में जोति है।- इसका यह मतलब होता है कि जब भी आप एक टीस्पून सिरप अपने बच्चे को देते हैं, तो उस में 5 mg की ताक़त होती है।

फेनेर्गन टैबलेट या सिरप के फ़ायदे:

  • आप जानते हैं ही की यह एक प्रो-हिस्टमीन गोली होती है, तो इसका अहम इस्तेमाल ऐलर्जी की प्रतिक्रियाओं को सही करना होता है। अगर किसी बच्चे को, या व्यक्ति को, किसी भी दवा के ऐलर्जी की वजह, उसकी त्वचा पर कैसी भी ऐलर्जी आना, या शरीर में बुखार, या कोई सूजन आजाना,  तो काफ़ी चिकित्सक, यह दवा लेनी का परामर्श देते हैं। 
  •  बच्चों को ऐलर्जी तब भी होती है, जब उन्हें कोई छोटा-बड़ा कीड़ा काटता है, या फिर उन्हें किसी नयी दवा से  कोई दुष्प्रभाव होता है।यह दवा को उस समय भी दिया  जाता है।
  • इसका एक और ज़रूरी इस्तेमाल है, और वो होता है ‘मोशन सिक्नेस’। इस समस्या में किसी भी इंसान को, जब किसी भी वाहन में बैठे रहने पर उल्टी का  बेचैनी महसूस होती है। उस समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी, ये दवा दी जाती है।
  • किसी और तरह से भी, यदि नौसेया या उल्टी हो, तब भी ये दवा दी जाती है।
  • इस दवा को जब बच्चे को नींद नहीं आती, तब भी उसका इस्तेमाल होता है। एक बार सिरप देने पर, बच्चा चार से छह घंटे तक सोया रहता है।
  • जब भी बच्चे की ऐसी कोई ट्रीटमेंट हो जिसमें चिकित्सक चाहता है की बच्चा सोता रहे और ना उठे, जैसे की MRI या CT स्कैन, तब भी ये दवा उसे दी जाती है।
इन सब फ़ायदों के अलावा, चिकित्सक अपने अनुभव के अनुसार, किसी और इस्तेमाल में भी इस दवा का इस्तेमाल कर सकता है।

फेनेर्गन टैबलेट या सिरप के दुष्प्रभाव:

  • आम साइड-इफ़ेक्ट जो देखा गयाहै, वो यह होता है कि बच्चे के गले में और नाक में सूखा पन बना रहता है।
  • क़ब्ज़ 
  • साँस लेने में तकलीफ़ 
  • नींद आना 
  • पेशाब में कोई दिक्कत 
इन सब के अलावा यदि आपको कोई भी नया दुष्प्रभाव दिखे, तो आप तुरंत ही इसका सेवन बंध करें, और चिकित्सक से मिलें, जिससे कि वो इस पर कुछ बदलाव लाएँ।

फेनेर्गन टैबलेट या सिरप की खुराक:

  • सामान्य रूप से, जब भी चिकित्सक बच्चे को इस  दवा लेने का परामर्श देता है, तो वो बच्चे के, शरीर के भार के अनुसार ही होता है। 
  • यह  दवा 1 मिलीग्राम फेनेर्गन, हर किलोग्राम बॉडी के वज़न के हिसाब से दी जाती है।
  • यदि बच्चे को ऐलर्जी होती है, तो उसे दो साल तक की उम्र तक, एक टीस्पून सिरप रोज़ाना , दी जाती है। ज़रूरत पढ़ने पर, उसे दिन में दो या तीन टीस्पून भी दे सकते हैं।
यह बात बहुत ज़रूरी है कि, आप किसी चिकित्सक के बताए निर्देशों पर ही ये दवा दें।
  • मोशन सिक्नेस, जिन बच्चों को होती है, उन बच्चों को सफ़र करने के चौबीस घंटे पहले ही, उसके शरीर के वज़न के हिसाब से देते हैं, और सफ़र शुरू करने के ठीक एक घंटे पहले, उसे दोहराया जाता है। इससे बच्चा आराम से चार से छह घंटे तक आराम से सफ़र कर पाएगा।
  • बच्चे को दवा खाने के बाद, नींद आएगी ही, इससे आप बिलकुल ना घबराएँ। पर अगर बहुत देर तक सो रहा है, तो एक बार आप चिकित्सक से ज़रूर सलाह लें।
  • इस दवा को आप खाने के पहले, या खाने के बाद ले सकते हैं, इसमें कोई भी दिक्कत नहीं होती है। 

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 353

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top