Oats in Hindi

Oats in Hindi : ओट्स क्या है इसकी सम्पूर्ण जानकारी

ओट्स क्या है (oats kya hai) ? : What is Oats

ओट्स(Oats in Hindi)  घुलनशील फाइबर से भरपूर होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। ये घुलनशील फाइबर आंतों के लिए अच्छा होता है और ग्लूकोज अवशोषण को कम करने में मदद करते हैं। ओट्स में बीटा ग्लूकेन भी होता है जो एक लिपिड कम करने वाला एजेंट है। यह एक बहुत ही स्वस्थ ब्रेकफास्ट का विकल्प होता है – आप अपने ओट्स को फलों और कुरकुरे नट्स के साथ भी खा सकते हैं।

अगर आपको बहुत तेज़ भुख लग रही है तो यह एक बहुत ही अच्छा विकल्प होता है , एक हल्का शाम का नाश्ता या आपकी व्यस्त सुबह में फटाफट नाश्ते का विकल्प होता है इसके अंदर आवश्यक ऊर्जा होती है , ओट्स एक ऐसा सुपरफूड है जो आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप आसानी से फिट रहने में मदद कर सकता है । प्रोटीन से भरपूर, फाइबर से भरपूर और कम वसा वाले, ओट्स को आपकी ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने और आपको एक स्वस्थ जीवन शैली जीने में मदद करने के लिए बनाया गया है। वे न केवल पेट के लिए अच्छे हैं बल्कि दिलचस्प रूप से सुपर फिलिंग, संतोषजनक और बहुमुखी हैं। ओट्स में फाइबर, विटामिन ई, आवश्यक फैटी एसिड आदि जैसे पोषक तत्वों की एक विस्तृत श्रृंखला होती है जो उन्हें स्वस्थ भोजन चार्ट में सबसे ऊपर बनाती है। हम आपको ओट्स(Oats in Hindi)  के फायदे बताते हैं।

ओट्स का क्या मतलब होता है : Ots Meaning in Hindi

ओट्स को हम अनाज (ots meaning in hindi) का ही एक रूप कह सकते । जोकि बीजो के रूप में होता है। ओट्स जौ से मिलकर बना होता है जिसके अंदरभरपूर मात्रा में फाइबर और पोषक तत्व पाए जाते है| जिसका सेवन करने से आपको भरूपर मात्रा में प्रोटीन मिलता है। इसे नाश्ते के लिए सर्वोत्तम विकल्प माना जाता है। इसके अंदर फाइबर की मात्रा पाई जाती है जिसके कारन यह जल के साथ घुलनशील होता है। यह पचाने में भी बहुत आसान होते है। एक समय ऐसा भी था की ओट्स का इस्तेमाल जानवरो के लिए किया जाता था। लेकिन बाद में उसमे कई सारे बदलाव किये गए और उसे मनुष्य के खाने योग्य बनाया है। ओट्स मार्किट में कई अलग -अलग रूपों में पाए जाते है। इसलिए खरीदते समय यह ध्यान देना चाहिए की ओट्स असली है या नकली।

यहा हम आपको ओट्स के कुछ लाभ बताने जा रहे है ? : Benefits of eating oats in hindi

1. ओट्स हमे हृदय रोग से बचाता है: “ओट्स में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट हृदय रोग के लिए फायदेमंद होते हैं और आहार फाइबर अच्छे कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) को प्रभावित किए बिना खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करने में मदद करते हैं , ओट्स में प्लांट लिग्नांस भी होते हैं, विशेष रूप से एंटरोलैक्टोन, जो हृदय रोग से बचाते हैं। इस प्रकार, ओट्स आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह एक प्रमुख खाद्य पदार्थ है जो दिल के लिए अच्छा साबित हुआ है। 

2. ओट्स कब्ज को रोकता है: ओट्स घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है, जो मल त्याग को नियंत्रित करने में मदद करता है और इसलिए कब्ज को रोकता है। अपने दैनिक आहार में ओट्स को शामिल करने से कब्ज की समस्या दूर हो सकती है। अपने नाश्ते के भोजन के हिस्से के रूप में इनका उपयोग किया जा सकता है। 

3. रक्त शर्करा(ब्लड शुगर) के स्तर को नियंत्रित करता है: चूंकि ओट्स रक्त शर्करा को स्थिर करने में मदद करता है और टाइप -2 मधुमेह के जोखिम को कम करता है, इसलिए मधुमेह रोगियों को नियमित रूप से ओट्स का सेवन करना चाहिए। 

4. कैंसर के जोखिम को कम करता है: अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के अनुसार, लिग्नन, वही यौगिक जो हृदय रोग को रोकने में मदद करता है, “स्तन, प्रोस्टेट और डिम्बग्रंथि के कैंसर जैसे हार्मोन से संबंधित कैंसर की संभावना को कम करने में मदद करता है”। इसलिए ओट्स खाना पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए अच्छा होता है।

5. उच्च रक्तचाप को कम करता है: यदि आप उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं, तो ओट्स की एक दैनिक खुराक इस समस्या से निपटने में मदद करेगी और बदले में उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम करेगी। आप नाश्ते के रूप में या दोपहर के भोजन के समय भी इस स्वास्थ्यप्रद ओट्स को खा सकते हैं।

6. मैग्नीशियम का समृद्ध स्रोत: ओट्स मैग्नीशियम का एक समृद्ध स्रोत है, जो एंजाइम फ़ंक्शन और ऊर्जा उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण है, और रक्त वाहिकाओं को आराम देकर, हृदय की मांसपेशियों की सहायता और रक्तचाप को नियंत्रित करके दिल के दौरे और स्ट्रोक को रोकने में मदद करता है। मैग्नीशियम का उच्च स्तर ग्लूकोज और इंसुलिन स्राव के शरीर के उचित उपयोग को पोषण देता है।

7. वजन घटाने में मदद करता है: ओट्स एक कम कैलोरी वाला भोजन है जो पाचन को धीमा कर देता है और आपको लंबे समय तक आपका पेट भरा हुआ हे ऐसा महसूस करता है। 

8. रोग के प्रति प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ाता है: ओटमील में बीटा-ग्लूटेन नामक अद्वितीय फाइबर न्यूट्रोफिल को संक्रमण की जगह पर अधिक तेज़ी से यात्रा करने में मदद करने के लिए दिखाया गया है और यह वहां पाए जाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने की उनकी क्षमता को भी बढ़ाता है।

9. त्वचा की रक्षा करता है: ओट्स का उपयोग खुजली और जलन को दूर करने के लिए सुखदायक एजेंट के रूप में किया जाता है, साथ ही त्वचा के लिए कई प्रकार के लाभ भी प्रदान करता है। द अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के अनुसार, “ओटमील त्वचा के पीएच को सामान्य करने में सक्षम है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज और नरम करने में भी मदद करता है।”

ओट्स खाने के साइड इफ़ेक्ट या नुकसान  : Oats Side Effect in Hindi

ओट्स खाने से हमारे शरीर को बहुत ही ज्यादा फायदा होता है और पोषण तत्व मिलते है , लेकिन कुछ वजह से इसके कुछ साइड इफ़ेक्ट भी होते है। अगर आप बहुत अधिक मात्रा में ओट्स खाते है तो उससे होने वाले नुकसान निम्नलिखित है।

आजकल मार्किट में तरह तरह के ओट्स मिल रहे है, जिसके अंदर बहुत अधिक मात्रा में शुगर पाई जाती है|जो की शरीर के लिए हानिकारक हो सकती  है। जिसका अधिक मात्रा में सेवन करने से डाइबिटीज के मरीजों के लिए समस्या का कारन बन सकता है। 

यदि आप ओट्स को सही तरीके से पकाकर नहीं बनाते है तो यह शरीर के अंदर आंतो में फस सकता है| जिसके कारण आपकी पेट की नसे जाम हो जाती है। ऐसे में आपको कब्ज जैसे परशानियों का सामना करना पास सकता है।

अगर आप ओट्स का बहुत अधिक मात्रा में सेवन करते है तो यह हानिकारक हो सकता है।क्योकि इसमें भारी मात्रा में फेटिक एसिड पाया जाता है। जिसका अगर आप अधिक मात्रा में सेवन करते है तो उससे पाचन क्रिया ख़राब हो सकती है।

कम पोषक तत्व वाले ओट्स का सेवन करने से आपको थकान, मासपेशिया कमजोर हो सकती है , अधिक नींद आना,चिंता होना , नाख़ून न बढ़ना और माइग्रेन जैसी समस्याए का सामना करना पड़ सकता है।

ओट्स के अंदर ग्लूटेन की मात्रा उपस्थित नहीं होती है। ओट्स को खेतो में गेहू और जौ के साथ ही उगाया जाता है। तो इनके साथ मिलने के कारण इसमें ग्लूटोन की मात्रा उपस्थित हो सकती है। अगर आप ग्लूटोन युक्त ओट्स (oats meaning in hindi) का सेवन करते है तो उससे कमर दर्द, जोड़ो में दर्द, डायरिया, पेट में दर्द ,मरोड़ या त्वचा से संबधित बीमारिया उत्पन्न हो सकती है।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 439

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top