What diarrhea or loose motion?

Diarrhea or Loose motion in hindi:दस्त या लूज मोशन इन हिंदी

अनियमित खानपान की वजह से पेट खराब होना लाजमी है ऐसे में लूज मोशन की शिकायत अक्सर किसी को भी हो सकती है। यदि इस समस्या का सही उपचार न किया जाए तो यह समस्या बहुत गंभीर हो जाती है और शरीर में पानी की कमी हो सकती है ऐसे में सही समय पर सही उपचार करना अति आवश्यक है। किसी भी व्यक्ति को दस्त होना कुछ बीमारी के लक्षण भी हो सकते हैं या फिर बैक्टीरिया व परजीवी के संक्रमण की वजह से भी हो सकते हैं। आइए जानते हैं दस्त(diarrhea or loose motion) के बारे में विस्तार से:- 

दस्त या लूज मोशन क्या होते हैं?(What are diarrhea or loose motion)

अनियमित रूप से खानपान या फिर और साधारण खान-पान की वजह से कई बार हमें एक से ज्यादा बार पोट्टी के लिए जाना पड़ता है। इस प्रक्रिया को साधारण रूप से लूज मोशन या दस्त की शिकायत कहा जाता है। खासतौर से यह प्रक्रिया बच्चों में देखी जाती है और वयस्कों में भी जब यह समस्या उत्पन्न हो जाती है तो ऐसे में शरीर में पानी की कमी होने लगती है जिसकी वजह से बच्चे वह बड़े डायरिया का शिकार हो जाते हैं जिसकी वजह से बच्चे व बड़ों की मौत भी हो जाती है। 

प्रत्येक वर्ष डायरिया के शिकार होने वाले बच्चों का आंकड़ा(Number of children suffering from diarrhea each year)

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन के अनुसार डायरिया के कारण 5 साल से कम उम्र के 5,25,000 बच्चे मौत का शिकार हो चुके हैं। यदि विश्व के आंकड़ों की बात की जाए तो प्रत्येक वर्ष लगभग 17 करोड बच्चे इसका शिकार होते हैं और यह समस्या खासतौर पर खान-पान पर ध्यान ना देने और साफ-सफाई ना रखने की वजह से होती है। 

लूज मोशन या दस्त होने के कारण(Reason to diarrhea or loose motion )

मुख्य रूप से लूज मोशन अनेक कारणों से हो सकता है जिसकी वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है कुछ निम्नलिखित कारण नीचे बताए गए हैं। 

  • फूड प्वाइजनिंग:– संक्रमित व दूषित भोजन यदि कोई व्यक्ति खा लेता है तो उसके पेट में गड़बड़ होने लगती है जिसे फूड पॉइजनिंग कहा जाता है जिसकी वजह से उसे गंभीर दस्त की समस्या से गुजरना पड़ सकता है। 
  • अस्यमित भोजन:-  कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें पूरा दिन कुछ ना कुछ खाने पीने के लिए चटपटा वह मसालेदार भोजन चाहिए होता है। जिसकी वजह से पेट में कई प्रकार की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं और दस्त जैसी समस्या भी जन्म लेती है। 
  • अधिक मीठे का सेवन:- कुछ लोगों को मीठा खाना बेहद पसंद होता है ऐसे में वे जब मन चाहे किसी भी प्रकार का मीठा खा लेते हैं ऐसे में दस्त की समस्या पैदा होने में देर नहीं लगती है। 
  • जीवाणु संक्रमण:- आपने अक्सर सुना होगा कि हवा में कई प्रकार के बैक्टीरियल इंफेक्शन से संक्रमित जीवाणु होते हैं जिनमें से कुछ वायरस रोटावायरस नोरोवायरस एस्ट्रोवायरस आदि भी हो सकते हैं। इन सभी वायरस की वजह से हमारे शरीर में इंफेक्शन हो जाता है जिसकी वजह से हमें दस्त जैसी समस्या से गुजरना पड़ सकता है। 
  • तनाव:- हमारे शरीर में हारमोंस का बढ़ना व घटना तनाव, परेशानी व डर की वजह से भी होता है जिसका असर सीधा हमारे पाचन तंत्र पर पड़ता है ऐसे में लूज मोशन या दस्त जैसी समस्या उत्पन्न होना आम बात है। 

लूज मोशन या दस्त के प्रकार(Types of diarrhea or loose motion)

सामान्य रूप से लूज मोशन के तीन प्रकार होते हैं जो निम्नलिखित हैं:- 

  • तीव्र दस्त:- कई बार ऐसा होता है कि जीवाणु व वायरल संक्रमण की वजह से हमें अचानक से लूज मोशन जैसी समस्या आरंभ हो जाती है। जब तक हम इसको समझ पाए तब तक हमारे शरीर में पानी की बहुत ज्यादा कमी हो जाती है। आमतौर पर यह समस्या कई घंटों वह 15 दिनों तक लगातार बनी रहती है।
  • तीव्र खूनी दस्त:- बार-बार ढीले लूज मोशन होना और उनके साथ खून का निकलना इसे तीव्र खूनी दस्त या पेचिश भी कहा जाता है।
  • लगातार या पुराना दस्त:- लगातार 14 से 15 दिनों या उससे अधिक समय तक दस्त का लगा रहना बहुत ज्यादा खतरनाक हो सकता है इसका कारण पुरानी आंत में सूजन भी हो सकती है। 

डायरिया(दस्त) या लूज मोशन के लक्षण(symptoms of diarrhea or loose motion)

आप डायरिया से जूझ रहे हैं इसका पता आपको निम्नलिखित लक्षणों से हो सकता है:- 

  • पेट में ऐठन 
  • पेट दर्द 
  • पेट का फूलना 
  • प्यास का बढ़ना
  • वजन का लगातार घटना 
  • बुखार रहना 
  • उल्टी जैसा जी मचलाना और 
  • पेट और पेट के आसपास की जगह का खाली खाली महसूस होना।

अन्य गंभीर लक्षण(Other serious symptoms)

दस्त होने के अन्य गंभीर लक्षण भी हो सकते हैं जो निम्नलिखित हैं:- 

  • दस्त के साथ रक्त का आना
  • बार बार उल्टी होना
  • प्यास बहुत ज्यादा लगना और पानी पीने के बाद वापस से उल्टी होना।

दस्त या लूज मोशन का इलाज(Treatment of diarrhea or loose motion)

व्यस्त और बच्चे दोनों में ही दस्त का विभिन्न अलग-अलग इलाज होता है। व्यस्त और बच्चों के लिए नीचे विभिन्न प्रकार की दवाई लिखी गई है जो संपूर्ण सुरक्षित व असरदार है। 

  • वयस्कों के लिए लूज मोशन की टेबलेट
    1. लोफेल 500 एमजी(Lofel 500Mg Tablet)
    2. लोपेरामाइड (Loperamide)
    3. लोमोटिल टैबलेट(Lomotil Tablet)
  • बच्चों के लिए दस्त की दवाई
    1. बच्चों को आमतौर पर ओआरएस(Ors) का घोल यदि समय समय पर घोलकर अच्छी तरह दिया जाए तो उससे दस्त जल्दी ठीक हो जाते हैं।
    2. इसके अलावा जिंक टेबलेट(Zinc Tablet) बच्चों को दस्त कम करने के लिए दी जानी चाहिए जो कि बेहद असरदार है।

 दवाइयां तो हर बीमारी का इलाज है लेकिन दवाइयों से बचना भी बहुत जरूरी है जिसके लिए आपको बीमारी से बचना आवश्यक है। डायरिया जैसी बीमारी से बचने का सबसे अचूक उपाय है साफ-सफाई यदि आप अपने आसपास पूरी साफ सफाई का ध्यान रखते हैं तो आप डायरिया के शिकार कभी नहीं हो पाएंगे। 

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 352

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top