Lofel O 500 mg in Hindi

Lofel O 250 mg in Hindi:लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट 

लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट क्या है?(What is Lofel O 250 mg in Hindi?)

Table of Contents HIDE

लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट(Lofel O 250 mg in Hindi) वो दवाई है जो फ्लूरोक्विनोलोन एंटीबायोटिक  से ही सम्बंधित है, यह निमोनिया जैसे बीमारियों के बैक्टीरिया के इंफेक्शन से लड़ता है। यह किडनी इंफेक्शन जैसे सम्बंधित बीमारियों का इलाज करता है। यह दवाई उन बैक्टेरिया को मार देती है जो कि शरीर मे इंफेक्शन फैलता है। यह डी.एन.ए गइराज़ एंजाइम को जोड़ कर सिमित करके, बैक्टीरिया के सेल के अंदर सेल प्रतिरूप  और कोशिका अलग करने की प्रक्रिया में रुकावट डालता है। इस एंजाइम के बिना बैक्टीरिया की जीवकोष जिंदा नहीं रह पाती।यह शरीर में जीवाणुनाशक के रूप में काम करता है।  यह बैक्टीरिया इंफेक्शन का इलाज करने के लिए माना जाता है, यह दवाई मार्किट में  टैबलेट और ऑय ड्राप में उपलब्ध रहती है। इस से भी नसों का नियंत्रण किया जा सकता है। यह दवाई आपको डॉक्टर के कहने पर ही लेनी होगी डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में या आपको कोई रोग है या आपको कोई नशे की आदत हो इस बारे में उनको सभी जानकारी देनी होगी । इस दवाई को दो गुना करके कभी न ले इस से आपको बहुत गंभीर दुष्प्रभाव का सामाना करना पड़ सकता है। यह दवाई उन महिलाओं के लिये भी नही है जो गर्भवती हो या गर्भधारण करने वाली हो। आइए अब आपको इस दवाई का इस्तेमाल किन बीमारियों में नहीं करना चाहिए इसके साइड इफेक्ट और इस दवाई की कुछ विशेषता  के बारे में बताने जा रहे है।

यह दवाई किन बीमारियों का इलाज करती है?(What diseases does Lofel O 250mg medicine treat?)

आइये आपको बताते है यह टैबलेट किन किन बीमारियों से लड़ने में आपकी मदद करती है।
  • गैस्ट्रोएन्टेरेटिस
  • क्रोनिक ब्रोन्काइटिस, 
  • मूत्र पथ में संक्रमण
  • एंथ्रेक्स
  • ट्यूबरक्लोसिस
  • किडनी की कोई समस्या 
  • प्रोस्टेट

इस दवा की सलाह कब दी जाती है?(When is Lofel O 250mg medicine advised?)

  • सिस्टाइटिस:लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट सिसस्तैटिस के इलाज में इस्तेमाल की जाती है। जो ई- कोलाई, स्यूडोमोनस एरुगिनोसा,  और क्लेबसीला न्यूमोनिया के कारण मूत्र पथ इंफेक्शन  के कारण होता है।
  • पाइलोनेफ्रिटिस: लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट  पाइलोनफ्राइटिस के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो कि ई- कोलाई, स्यूडोमोनस एरुगिनोसा, एन्ट्रोकोलाई और क्लेबसिला न्यूमोनिया के कारण किडनी के इंफेक्शन को सही करता है।
  • यूरेथ्राइटिस:लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट नोंगोनोकोकल मूत्र पथ के इलाज  में इस्तेमाल किया जाता है जो की  ईकोली, स्यूडोमोनस एरुगिनोसा और क्लेबिसिला के कारण मूत्र पथ पर सूजन हो जाती है। उसका इलाज में इस्तेमाल होता है।
  • त्वचा और संरचना संक्रमण: लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट त्वचा और संरचना के इलाज  में सेल्युलाइटिस, घाव पे इंफेक्शन और स्टाटेप्टोकोकस पायरेनीज और स्टेफिलोकोकस ऑरियस के कारण स्किन पर फोड़े हो जाते है जिसके इलाज़ में इसका इस्तेमाल करते है।
  • निमोनिया: लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट  निमोनिया के इलाज में इस्तेमाल  किया जाता है जो स्ट्रैपटोकोकस न्यूमोनिया और हैमोफिलस इन्फ्लूएंजा की वजह से फेफड़ों में इंफेक्शन कर देता है। 
  • ब्रोंकाइटिस : लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट ब्रोंकाइटिस के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो की  स्ट्रैपटोकोकस निमोनिया, हेमोफिलस इन्फ्लूएंजा और कुछ मायकोप्लाज्मा न्यूमोनिया जैसे बीमारियों के कारण फेफड़ों में सूजन हो जाती  है।

इस दवाई का इस्तेमाल किन  लोगो को नहीं लेनी चाहिए(Which people should not use this medicine)

अगर आप इन रोग से पीड़ित हो तो आप इस टैबलेट का इस्तेमाल बिल्कुल न करे।

लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट  के विपरित संकेत क्या हो सकते है?(What may be the contraindications of Lofel O 250 mg in Hindi?)

  •  एलर्जी: लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट या किसी भी ओर फ्लोरोक्विनॉलोन से आपको एलर्जी है तो दवाई को बिल्कुल ना लेंI
  •   टेंडन टूटना: अगर आपको  कण्डरा टूटना या टेन्डीनिटिस की कोई मेडिकल हिस्ट्री है (ऐसी स्थिति जिसमें ऊतक को हड्डी से जोड़कर ऊतक को सूजन हो जाती है) तो इस दवाई का इस्तेमाल बिल्कुल भी न करें।
  •  मायस्थीनिया ग्रेविस::अगर  आपको पास कमजोरी से पीड़ित है और अपनी इच्छा को  नियंत्रण करने  या मांसपेशियों में दर्द के साथ साथ थकान बहुत होती है, तो इस दवाई को न ले।

लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Lofel O 250 mg in Hindi )

हम आपको इस दवाई से होने वाले साइड इफेक्ट के बारे में बताने जा रहे  इनमे कुछ गंभीर साइड इफेक्ट भी है। अगर आपको ऐसा कुछ भी महसूस होता है तो तुरंत अपने डॉक्टर को संपर्क करें।

  • पेट के निचले हिस्से में दर्द 
  • घबराहट होना
  • काला या टेरी मल 
  • कंफ्यूजन 
  • दस्त लगना
  • बुखार (फीवर) होना 
  • पेशाब के दौरान दर्द 
  • भूख की कमी 
  • जोड़ो में दर्द (जॉइंट पेन) 
  • स्वाद में बदलाव 
  • पेट में अत्यधिक वायु या गैस 
  • नाक बहना
  • अवसाद( डिप्रेशन)
  • उनींदापन
  • चकते
  • न्यूरोलॉजिकल
  • गले में खराश होना
  • अंगरवाह
  • दिमाग मे आत्महत्या के विचार आना
  • अनिन्द्रा ( नींद न आना)
  • झटके

लोफेल ओ 250 एम.जी टैबलेट की मुख्य विशेषताएं क्या है?(What are the main features of side effects ?)

  •  यह दवा मूत्र में काफी हद तक उत्सर्जित होती है और इसका प्रभाव 16 से 20 घंटों की अवधि में  रहता है।
  •  इस दवाई का असर दवाई लेने के 1 से 3 घंटे के अंदर ही हो जाता है।
  •  डॉक्टर का मान न है कि अगर आप गर्भवती महिला है तो यह दवाई  आम तौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए  नहीं होती  है और इसका इस्तेमाल केवल डॉक्टर की देखरेख में और उन से पूछ कर ही किया जाना चाहिए।
  •   इस दवाई को खाने की आदत किसी भी प्रकार से नहीं पड़ती।
  • अगर आप स्तनपान कराने वाली महिला है तो आप इस दवाई को बिल्कुल नहीं ले सकती क्योंकि यह शिशु के जोड़ों के विकास होने पर असर करता है। आप किसी से भी पूछ कर इस दवाई को न ले। अपने डॉक्टर की सलाह से ही इस दवाई का सेवन करे।

यह दवा कैसे काम करती हैं?(How does this medicine work?)

लोफेल ओ 250 एम. जी टैबलेट क्लास फ्लुओरोक़ुइनॉलोनेस से जुड़ी हुई है। यह जीवाणु डी.एन.ए  के एंजाइम को रोक कर जीवाणु को खत्म करने के रूप में काम करता है, जो डी.एन.ए प्रतिकृति, राइट बैक, रिपेयर और पुनर्मूल्यांकन के लिए आवश्यक है। इससे जीवाणु डी.एन.ए में वृद्धि और अस्थिर होने की अवस्था आती है, जो की सेल के मरने का कारण बनती है।

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 439

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top