Levosulpiride Tablets in hindi

Levosulpiride Tablets in hindi:लेवोसेलपिरीड टैबलेट के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

लेवोसेलपिरीड टैबलेट क्या है?-What is Levosulpiride Tablet?-Levosulpiride Tablets in hindi

Table of Contents HIDE

लेवोसेलपिरीड(Levosulpiride Tablets in hindi) “एटिप्लिक एंटीसाइकोटिक ड्रग्स” की श्रेणी में आता है। 

इसका उपयोग मानसिक विकारों के लिए किया जाता है। लेवोसुलिपाईड में एंटीसाइकोटिक, एंटीड्रिप्रेसेंट, एंटीमेटिक (उल्टी रोकता है) और एंटी डिस्पेप्टिक (एंटी-इंडिजेस्टियन) गुण होते हैं|

क्या है इसकी रासायनिक संरचना?-What is its chemical composition?-Levosulpiride Tablets in hindi

इन गोलियों में दो तत्व होते हैं:

एसोमेपेरसोल (Esomeprazole) और लेवोसलपिरैड  (Levosulpiride)।

इसको एक ऐंटिसेप्टिक दवा की मान्यता प्राप्त है। 

दवा का सक्रिय तत्व, Levosulpuride होता है। इसका घटक  दवा में सक्रिय नमक होता है।

लेवोसेलपिरीड का उपयोग-Use of Levosulpiride-Levosulpiride Tablets in hindi

निम्नलिखित बीमारियों , विकारों और लक्षणों की रोकथाम, नियंत्रण और उपचार में लेवोसुलिपाईड का उपयोग किया जा सकता है:

  • पागलपन के एक प्रकार को 
  • डिप्रेशन
  • मुंह में जलन वाला सिंड्रोम
  • समय से पूर्व स्खलन
  • मधुमेह गैस्ट्रोपेरिसिस
  • चिंता का विकार
  • गैस्ट्रोसोफेजियल रिफ्लेक्स बीमारी (दिल की धड़कन, अपचन)
  • इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रो

लेवोसेलपिरीड कैसे काम करता है?-How Does Levosulpiride Work?-Levosulpiride Tablets in hindi

ये हॉर्मोन , डोपामाइन दिमाग़  में न्यूरोट्रांसमीटर के रूप में काम करता है। मनोवैज्ञानिक समस्याएँ भी हो सकती हैं, डोपामाइन के बदलाव से |

लेवोसेलपिरीड में डोपामाइन का ख़ुद ग्रहण करने की  कार्रवाई करता है। इस प्रकार यह मस्तिष्क, पेट और आंत के विशेष जगहों में इन न्यूरोट्रांसमीटरों की क्रिया को संशोधित करने का काम करता है।

भारत में लेवोसेलपिरीड का मूल्य-Levosulpiride Price in India

इस दवा का मूल्य: 75 रुपये में 10 गोलियों की एक स्ट्रिप।

लेवोसेलपिरीड कैसे ले?-How to take Levosulpiride?

  • लेवोसेलपिरीड की मात्रा और इसे लेने का तारीख़, आपके चिकित्सक द्वारा तय किया जाना चाहिए। जितनी खुराक निर्धारित हो, उससे ज़्यादा नहीं लेनी चाहिए।
  • लेवोसेलपिरीड को आराम से निगला या पिया जा सकता है । इसे खाने से कम से कम आधा घंटे पूर्व लेना चाहिए।
  • लेवोसेलपिरीड की टैबलेट को आराम से सारे तरल पदार्थ के साथ निगल लेना चाहिए। इसमें डरने की कोई आवश्यकता नहीं होती।
  • लेवोसुलिपाईड को चिकित्सक की अनुमति से पहले या दवा का कोर्स ख़त्म होने के पूर्व, बंद नहीं करना चाहिए।
  • लेवोसुलिपाईड का इस्तेमाल, किसी काउंटर दवा के रूम में नहीं करना चाहिए

लेवोसेलपिरीड की सामान्य खुराक?-Usual dose of levosulpiride?

  • लेवोसेलपिरीड की खुराक सदा रोगी की हालत, उम्र और दवा की ओर उसकी प्रतिक्रिया से तय की जाती है।
  • इस दवा के साइड इफेक्ट्स की गंभीरता को नज़र-अन्दाज़ नहीं करना चाहिए। उसको काम करने के लिए इसकी खुराक को निर्धारित मात्रा तक ही सीमित रखना चाहिए। बाद में, सही परिणाम पाने के लिए खुराक को बढ़ाया जा सकता है।
  • डिस्प्सीसिया और अन्य जीआई समस्याओं के लिए इस दवा की खुराक:25 मि.ग्रा. की गोलियां, दिन में तीन बार होती है।
  • बुजुर्ग मरीजों में इसके खुराक की मात्रा कम होनी चाहिए और इस दवा को डॉक्टर के निर्धारण पर ही लेना चाहिए।
  • चिकित्सक की सहमति के बग़ैर ना ही अपनी खुराक को बदलें और ना ही अचानक उसे लेना बंद करें।
  • लक्षणों में कमी या उनमें सुधार के मामले में, तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श लें।
  • लक्षणों के बदतर होने पर भी, अपने डॉक्टर को तुरंत सोचित करें।

लेवोसेलपिरीड से कब-कब  बचें?-How often to avoid levosulpiride-Levosulpiride Tablets in hindi

इन सब रोगों के समय, रोगियों को या तो लेवोसुलिपाईड से बचना चाहिए या उसे सावधानी से इस्तेमाल करना चाहिए:

  • इसके किसी भी घटक से एलर्जी वाले रोगी 
  • मिर्गी के इतिहास वाले रोगी 
  • स्तन कैंसर वाले रोगी 
  • शराब का नशा करने वाले रोगी 
  • फ्यूक्रोमोसाइटोमा जैसे ट्यूमर वाले रोगी 
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं
  • जीआईटी (गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट)
  • प्रोलैक्टिन इम्बैलेंस वाले रोगी 
  • दिल के रोग वाले रोगी 
  • अस्थमा के रोगी 
  • गंभीर गुर्दे और लिवर की बीमारी वाले रोगी 

लेवोसेलपिरीड के दुष्प्रभाव:Sideeffect Of Levosulpiride

लेवोसेलपिरीड के साइड इफेक्ट्स में यह सब हो सकता है :

  • आलस्य
  • पोस्टूरल हाइपोटेंशन
  • असामान्य थकान, कमजोरी और नींद 
  • सिर चकराना
  • अनियमित मासिक-धर्म चक्र
  • वजन बढ़ना
  • स्तन की कोमलता
  • कब्ज
  • कामेच्छा में कमी
  • न्यूरोलेप्टिक मैलिग्नेंट सिंड्रोम (मांसपेशी कठोरता और उच्च बुखार)
  • पुरुषों में स्तन वृद्धि

इसके अलावा लेवोसेलपिरीड से कुछ एलर्जी या अवांछित प्रभाव भी जन्म ले सकते हैं। ऐसे किसी लक्षण के दिखते ही,  तुरंत चिकित्सा लें।

लेवोसेलपिरीड अंगों पर प्रभाव:Effect on levosulpirid organs

समस्याग्रस्त जिगर और गुर्दे की बीमारी वाले रोगियों को सावधानी से लेवोसुलिपाईड का इस्तेमाल करना चाहिए। कुछ मामलों में इसकी खुराक की मात्रा में बदलाव भी हो सकते हैं। अपने चिकित्सक को सूचित करें।

ऐलर्जी की प्रतिक्रियाएं:Allergy’s reactions of levosulpirid

लेवोसेलपिरीड के किसी भी तत्व से एलर्जी होते ही, सबसे पहले अपने चिकित्सक को सूचित करें और उसकी सलाह लें। एलर्जी की प्रतिक्रिया के लक्षण निम्न हो सकते हैं:

  • त्वचा पर चकत्ते या खुजली
  • साँसों की कमी
  • चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन
  • बेहोशी

दवा के परस्पर क्रिया (इंटरैक्शन) में सावधानी:-Caution in drug interactions of levosulpiride-Levosulpiride Tablets in hindi

जब एक शरीर, अलग-अलग प्रकार के दवाओं का सेवन करता है, तो ज़ाहिर सी बात है की जो ज़्यादा शक्तिशाली दवाई हैं, वह कम पर प्रभाव डालती है, और इस पूरी प्रक्रिया में, शरीर को नुक़सान होने की सम्भावना बाढ़ जाती है।

रोगी को सदा यह सलाह दी जाती है की वो अपने चिकित्सक को अपने द्वारा प्रयोग की जाने वाली सभी दवाओं या काउंटर उत्पादों या विटामिन की खुराक के बारे में बताए। लेवोसेलपिरीड निम्न दवाओं के साथ प्रभाव डाल सकता है:

  • शराब
  • एंटी-एसिड्स
  • एंटीहाइपेर्टेन्सिव दवा (दवाएं जो रक्तचाप को कम करती हैं)
  • लीवोडोपा
  • सिसाप्राइड
  • कोर्टिकोस्टेरोइड्स
  • फ्यूरोसीमाइड
  • क्लोरोक्विन

लेवोसेलपिरीड के प्रभाव: Effects of Levosulpiride

इस दवा के मुंह द्वारा लेने के 1 से 2 घंटे के भीतर ही लेवोसुलिपाईड के प्रभाव शुरू हो जाते हैं और यह प्रभाव लगभग 5से 8 घंटे तक रहता है।

लेवोसेलपिरीड टैबलेट के बारे में पूछे जाने वाले सामान्य प्रश्न-Frequently asked questions about Levosulpiride Tablet

  • क्या लेवोसेलपिरीड नशे की लत है?

ऐसी किसी प्रवृत्ति की सूचना अब तक नहीं मिली है।

  • क्या शराब के साथ लेवोसेलपिरीड ले सकते हैं?

इसके साथ शराब लेने की सलाह कभी नहीं दी जाती क्योंकि इससे प्रतिकूल प्रभावों का खतरा बढ़ सकता है। रक्तचाप में बदलाव होने से नींद और चक्कर भी आ सकते हैं|

  • क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

खाद्य उत्पादों के साथ ऐसा कोई प्रभाव नहीं देखा गया|

  • क्या गर्भवती होने पर लेवोसेलपिरीड ले सकते हैं?

गर्भावस्था में इस दवा के उपयोग की सलाह नहीं दी जाती| इसका इस्तेमाल केवल तभी करना जाना चाहिए जब इसके फ़ायदे ज्यादा हों| यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो अपने डॉक्टर को ज़रूर सूचित करें।

  • क्या बच्चे को स्तनपान के दौरान लेवोसेलपिरीड ले सकते हैं?

स्तनपान कराने वाली औरतों को लेवोसुलिपाईड के तबलेट्स  का इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दी जाती है क्योंकि यह स्तन के दूध में पास होकर बच्चे को दुशप्रभाव पहुंचा सकता है। यदि आप अपने बच्चे को स्तनपान करा रही हैं तो हमेशा अपने डॉक्टर को सूचित करें।

  • क्या लेवोसेलपिरीड लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

लेवोसेलपिरीड से कुछ रोगियों को साइड इफेक्ट्स जैसे सेडेशन, उनींदापन, रक्तचाप में कमी, भ्रम आदि हो सकता है। भारी मशीनरी या वाहन चलाने के दौरान ऐसे मरीजों को सावधानी बरतनी चाहिए। यह ख़तरनाक हो सकता है।

  • यदि लेवोसेलपिरीड अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

इसे निर्धारित खुराक की मात्रा से अधिक नहीं लिया जाना चाहिए क्योंकि इसका हानिकारक प्रभाव हो सकता है। इसे ज्यादा लेने से लक्षणों में अत्यधिक उनींदापन, रक्तचाप, कोमा आदि शामिल है। यदि ज्यादा खुराक लेने का संदेह भी  हो तो तुरंत डॉक्टर की तलाश करें।

  • यदि एक्सपायरी हो चुकी लेवोसेलपिरीड खाएं तो क्या होता है?

वैसे एक्सपायर हो चुकी खुराक किसी भी बड़े प्रतिकूल प्रभाव का कारण नहीं बनती| लेकिन दवा की शक्ति कम हो सकती है। सुरक्षित और स्वाथ रहने के लिए हमेशा एक्सपायरी दवा की जांच करें और कभी भी इनका उपयोग न करें।

  • यदि लेवोसेलपिरीड की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

जैसे ही आपको याद आये तुरंत अपनी भूली हुई खुराक लें लेकिन यदि दूसरी खुराक का समय हो गया हो तो दोगुनी खुराक ना लें|

लेवोसेलपिरीड टैबलेट का भंडारण कैसे करे :How to store Levosulpiride Tablet

  • इसे सीधी धूप और गर्मी से बचाकर कमरे के तापमान पर रखें|
  • इसे बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें।

लेवोसेलपिरीड के कुछ टिप्स:Some tips of Levosulpiride

लेवोसेलपिरीड का इस्तेमाल  हृदय रोगियों और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रक्तस्राव वाले रोगियों  में सावधानी से किया जाना चाहिए।

लेवोसेलपिरीड लेने वाले रोगी पोस्टरल हाइपोटेंशन से पीड़ित हो सकते हैं| 

(जब कोई व्यक्ति बैठे या लेटे तो इसका प्रभाव रक्तचाप पर पड़ता है)

नोट:

कृपया करके लेवोसेलपिरीड (Levosulpiride) टैब्लेट  का इस्तेमाल तभी  करें जब आपको आपके डॉक्टर निर्धारित करें।

यहाँ हम कुछ और बीमारियों के बारे में जानकारिया दे रहे हे जोकि आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हे
मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top