What is kidney cancer?

Kidney cancer(किडनी कैंसर)?कैंसर के प्रकार,लक्षण,कारण,उपचार

किडनी कैंसर क्या है( What is Kidney Cancer) 

किडनी कैंसर(Kidney cancer) होना आज के दौर में एक आम बात होती जा रही है। हर दूसरे व्यक्ति को इस बीमारी से लड़ना पड़ रहा है। आए दिन ना जाने कितने लोग खटिया और गंदी नशीली पदार्थों का सेवन करके अपनी जान गवा रहे। दरअसल हमारे शरीर में दो गुर्दे होते हैं। इन गुर्दों काम होता है रक्त को स्वच्छ रखना। लेकिन हमारे द्वारा ज्यादा नशीली पदार्थों का सेवन करने पर यह सीधे हमारे दोनों गुर्दों को हानि पहुंचाता है।तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि गुर्दों का कैंसर क्यों और कैसे होता है और इससे हम किस प्रकार अपने आप को बचा सकते है – 

किडनी कैंसर के प्रकार

1.टीनल सेल कार्सिनोमा-

टीनल सेल कार्सिनोमा दरअसल यह गुर्दे की छोटी नलिका में उत्पन्न होने वाला कैंसर होता है।इसको कैंसर का मुख्य कारण समझा जाता है।90% गुर्दे के कैंसर की मुख्य वजह है।

2.ट्रान्सिशनल सेल कार्सिनोमा-

हम इसको यूटोथेलियल कार्सिनोमा के नाम से जानते हैं। गुर्दों के कैंसर का दूसरा मुख्य कारण समझा जाता है।

3.विल्म्स ट्यूमर –

इस कैंसर को नेफ्रोब्लास्टोमास के नाम से जाना जाता है। या कैंसर बच्चों में अधिक पाया जाता है।

4.टीना सारकोमा-

यह किडनी कैंसर होने का 1% चांस माना जाता है। इसका उपचार साधारण सार्कोमा की तरह किया जाता हैं।

किडनी कैंसर के लक्षण( Symptoms of Kidney Cancer) 

  • स्टार्टिंग में किडनी कैंसर के लक्षण लोगों में ज्यादा देखने को नहीं मिलता है।इसलिए इस बीमारी के होने का अनुमान नहीं लगाया जा सकता।
  • जैसे-जैसे ट्यूमर बढ़ता जाता है। वैसे वैसे किडनी कैंसर के लक्षण दिखना शुरू हो जाते हैं।
  • पेशाब में रक्त का आना मुख्य लक्षण है।
  • शरीर पर पेट के तरफ गांठ हो जाना।
  • व्यक्ति को भूख ना लगना।
  • बॉडी में एक तरफ दर्द होना और दर्द में आराम ना मिलना।
  • धीरे-धीरे वजन का घटना।
  • किसी रोग या संक्रामक रोगों के ना होते हुए भी बुखार आना।बुखार का कम से कम 7 से 8 दिन तक रहना।

किडनी कैंसर होने के कारण ( Reason For Kidney Cancer) 

  • धूम्रपान करने से किडनी कैंसर के होने का 50% चांस होता है। धूम्रपान करना किडनी कैंसर को बढ़ावा देना होता है। धूम्रपान करना किडनी के कैंसर का मुख्य कारण है।
  • परिवार में किडनी कैंसर का इतिहास होना भी एक मुख्य कारण है। अगर आपके परिवार में किसी का भी किडनी कैंसर का इतिहास होगा। तो भी आपको किडनी कैंसर की समस्या हो सकती है।
  • अधिक मोटापे के कारण भी किडनी कैंसर की समस्या होने की संभावना रहती है।
  • जैसे जैसे किडनी कैंसर बढ़ता जाता है। वैसे वैसे पीठ के दर्द की समस्या भी बढ़ती जाती है।पीठ में दर्द होना भी किडनी कैंसर का एक मुख्य कारण है।

किडनी कैंसर के लिए चिकित्सा उपचार: ( medical Treatment For Kidney Cancer)

किडनी के कैंसर का इलाज मुख्य रूप से बॉडी से ट्यूमर को हटाने के लिए किया जाता है। इस इलाज के लिए सर्जरी का विकल्प सबसे अच्छा रहता है। सर्जरी द्वारा ट्यूमर को हटाने की प्रक्रिया करते हैं। ट्यूमर से बचाव के लिए सर्जरी सबसे महत्वपूर्ण साबित होती है।

रैडिकल नेफ्रेक्टमी

सर्जरी द्वारा बॉडी से गुर्दों को बाहर निकाल दिया जाता है। गुर्दे के साथ उसके आसपास के कुछ ऊतकों को भी निकाल दिया जाता है। ताकि शरीर में कैंसर कोशिकाओं से कोई हानि नहीं पहुंचे।साथ ही साथ लिम्फ नोड्स भी को हटा दिया जाता है।

कंजर्वेटिव नेफ्रेक्टमी

कंजर्वेटिव नेफ्रेक्टमी को नेफ्रॉन-स्पेरिंग नेफ्रेक्टमी के नाम से भी जानते हैं। इस सर्जरी द्वारा गुर्दे के एक हिस्से के साथ उसके आसपास के ऊतकों को भी निकालते हैं। कंजर्वेटिव नेफ्रेक्टमी में केवल ट्यूमर, लिम्फ नोड्स को ही निकालते हैं।

इम्यूनोथेरेपी 

इस सर्जरी में शरीर में पाए जाने वाले|इम्यूनोएक्टिव रसायनों के सिंथेटिक संस्करण का इस्तेमाल किया जाता है।जिससे की किडनी के कैंसर को जल्द से जल्द बाहर निकालकर शरीर का बचाव कर सकें।

दवाएं

कुछ दवाओं द्वारा भी किडनी के कैंसर से बचाव किया जा सकता है। यह दवाएं कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में काफी मदद करती हैं। दवाओं द्वारा किडनी कैंसर के संकेतों को नष्ट किया जाता है।दवाई किडनी कैंसर को नष्ट करने में मुख्य भूमिका निभाती है।

किडनी कैंसर से बचाव के लिए कुछ घरेलू उपाय: ( Home Remedies For Kidney Cancer)

किडनी कैंसर से बचाव के लिए कुछ घरेलू उपाय जिनको आजमा कर किडनी कैंसर से बचाव किया जा सकता है।हम आपको घरेलू उपचारों के बारे में बताते हैं।जिनसे आप किडनी के कैंसर से बचाव कर सकते हैं। यह घरेलू उपचार इस बीमारी की रोकथाम करते हैं। 

ग्रीन टी

ग्रीन टी बहुत फायदेमंद होती है।आजकल लोग फिट रहने के लिए ज्यादातर ग्रीन टी का ही प्रयोग करते हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी। कि किडनी के कैंसर के लिए ग्रीन टी बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है। हम आपको ग्रीन टी के फायदे बताते हैं। जिससे आप कैंसर जैसी भयानक बीमारी से बचाव कर सकते हैं। ग्रीन टी का नियमित सेवन करने से किडनी की बीमारी को ठीक किया जा सकता है।नेटल चाय, डैंडेलियन चाय और तुलसी चाय कुछ ऑर्गेनिक चाय हैं। जो आपके स्वास्थ्य को सुरक्षित रखती है। ग्रीन टी के सेवन से जहरीले तत्व शरीर से बाहर निकलते हैं।दिन भर में 2/3 बार लगातार ग्रीन टी का सेवन करते रहें हैं।

अंगूर का रस

किडनी के कैंसर जैसी समस्याओं को दूर करने में अंगूर का रस बहुत ही फायदेमंद साबित होता है।अंगूर के रस का सेवन करने से विषैले पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं।इसीलिए लगातार अंगूर के रस का सेवन करें।या किडनी के कैंसर की बीमारी को दूर करने में मदद करेगा।

मुनक्के

रात को सोते वक्त मुनक्के को पानी में भिगो दें। सुबह उठकर मुनक्के का पानी पीना बहुत ही फायदेमंद होता है। किडनी लिए बहुत ही फायदेमंद है। इस प्रक्रिया को लगातार करते रहें।

फल

फलों में पर्याप्त मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। कुछ ऐसे फल हैं। जो यूरिक एसिड और यूरिया को बाहर निकालने में हमारी मदद करते हैं।जैसे

स्ट्रॉबेरी, रसभरी, जामुन और करौंदे फल किडनी से इन एसिडों को बाहर निकालते हैं।

किडनी कैंसर जैसी भयानक बीमारी से लड़ने के लिए इन फलों का सेवन लगातार करते रहें।

नींबू संतरे तरबूज

किडनी के लिए नींबू संतरे और तरबूज आदि का जूस बहुत ही फायदेमंद होता है। क्योंकि इन रसों से हमको विटामिन सी और

यानी साइट्रिक एसिड या साइट्रेट साइट्रेट तत्व प्राप्त होते हैं।जो किडनी में मौजूद पथरी की बीमारी को होने से रोकते हैं।

किडनी कैंसर से बचाव के लिए सबसे पहले हमें धूम्रपान आदि नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। हमको इन सभी पदार्थों को त्याग देना चाहिए ताकि कैंसर जैसी भयानक बीमारी हमारे शरीर में प्रवेश ना करें। इसी के साथ साथ अपने आसपास उसके लोगों में नशीली पदार्थों के खिलाफ जागरूकता फैलाए। उसके अलावा यदि आपको किसी भी प्रकार के किडनी संबंधित परेशानी होती है तो अपने नजदीकी चिकित्सक से संपर्क करें क्योंकि किडनी से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या को में हलके में ना लें।

कैंसर के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण जानकारिया

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 330

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top