Kayam Churna in Hindi

Kayam Churna in Hindi : कायम चूर्ण क्या है? इसके फायदे,उपयोग,नुकसान और सम्पूर्ण जानकारी

आजकल वर्क फ्रॉम होम लाइफस्टाइल के कारण, सोशल डिस्टेंसिंग हमारे जीवन का एक सामान्य हिससा हो गए है।  हालाँकि परिवार के साथ कुछ और समय बिताना एक वरदान की तरह लग सकता है, लेकिन काम और घरेलू जीवन में संतुलन बनाना काफी कठिन है। असामान्य भोजन और सोने के समय ने जठरांत्र प्रणाली (गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल)में एक बड़ा बदलाव लाया है। -Kayam Churna in Hindi

इस तथ्य के बावजूद कि कब्ज एक आम पाचन समस्या है जो हम में से बहुत से लोगों को परेशान करती है, भोजन के समय में इस अचानक बदलाव ने दुनिया भर के लोगों को दर्दनाक और गंभीर रूप से कब्ज की शिकायत की है, यहां तक ​​​​कि उन व्यक्तियों में भी जिनके पेट में कोई असामान्यता नहीं है। इस तथ्य के बावजूद कि बाजार में बहुत सारी एलोपैथी दवाओं से भरा हुआ है, लोग पेट की विसंगतियों के इलाज के लिए प्राकृतिक उपचार और आयुर्वेदिक योगों की ओर अधिक झुकते हैं। ऐसा ही एक शक्तिशाली पुराना सूत्रीकरण है कायम चूर्ण

कायम चूर्ण क्या है? : What is Kayam Churna in Hindi

कायम चूर्ण एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक सूत्रीकरण है जो दशकों से कब्ज, कई जठरांत्र संबंधी विसंगतियों और अन्य पेट संबंधित विकारों का इलाज कर रहा है। इस हर्बल उत्पाद के मजबूत पाचक गुणों के कारण, इसे निर्धारित मात्रा में सेवन करने से वास्तव में पाचन में सुधार होता है और कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।

चूर्ण के सिद्धांतों के अनुसार निर्मित, कायम चूर्ण 7 अविश्वसनीय आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का एक संतुलित मिश्रण है, जिनमें से प्रत्येक कब्ज, गैस्ट्राइटिस, दस्त, पेट फूलना, पेट खराब होना , पेप्टिक अल्सर और गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग जैसे जठरांत्र संबंधी विकारों की एक विस्तृत श्रृंखला के इलाज के लिए संयोजन के रूप में काम करता है।

कायम चूरन में सोनामुखी की पत्तिया(Senna Leaves), काला नमक(Black Salt), निसोथ(Nishoth), हिमेज(Himej), स्वराजिका क्षार(Svarjika Kshara) और जेठी मध(Jethi Madh) का मिश्रण होता है। यह कब्ज के इलाज के लिए एक आयुर्वेदिक सूत्रीकरण है।

कायम चूर्ण को बनाने में उपयोग की जाने वाली सामग्री : Ingredients used to make Kayam Churna

कायम चूर्ण को बनाने के लिए बहुत सी ओषधियो का उपयोग किया जाता है उनमे से कुछ हे :

कायम चूर्ण के मुख्य उपयोग:Uses of Kayam Churna in Hindi

  • लैक्सेटिव (रेचक) की तरह कार्य करता है
  • कब्ज, एसिडिटी, गैस, पेट फूलना और सिरदर्द का इलाज करता है
  • पाचन संबंधी शिकायतों जैसे गैस्ट्राइटिस, अपच, पेट फूलना और अपच से भी राहत देता है
  • पाचन तंत्र को प्रभावित करने वाले तीव्र और पुराने विकारों के प्रबंधन में अच्छी तरह से काम करता है

एसिडिटी क्या है एसिडिटी के लक्षण,कारण,इलाज,घरेलू उपाय

कायम चूर्ण के फायदे : Benefits of Kayam Churna in Hindi

कब्ज का उपचार करे  : Remedies Constipation

आयुर्वेदिक उपचार में कब्ज के इलाज के लिए सदियों से इस हर्बल मिश्रण का उपयोग किया जा रहा है।  यह यकृत द्वारा पित्त के स्राव को सक्रिय रूप से बढ़ाता है, जो बदले में, आंतों और यकृत के क्रमाकुंचन गति पर कार्य करता है, जिससे बड़ी आंत से मल जो हे वो सुचारू रूप से आगे की और बढ़ता है । यह मल में श्लेष्म और अतिरिक्त वसा की मात्रा को कम करने और आंतों की दीवारों से चिपके रहने से रोकने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और इस तरह आसानी से मल त्याग करने में यह सहायता करता है। 

पाचन को बढ़ाता है : Enhances Digestion

शक्तिशाली पाचन गुणों के लिए यह जाना जाता है , कायम चूर्ण पेट और आंत में खाद्य कणों को तोड़ने में मदद करता है, पाचक रस के स्राव को बढ़ावा देता है और इस तरह आंतों के माध्यम से आवश्यक पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ाता है। यह न केवल पेट में सूजन और गैसीय ऐंठन को कम करते हुए पेट की गैस को खत्म करने में मदद करता है बल्कि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों के इलाज में भी उच्च महत्व रखता है।

आईबीएस से राहत देता है : Relieves IBS

IBS को संस्कृत में ग्रहणी के रूप में भी जाना जाता है, यह ज्यादातर उनहेल्थी आहार को खाने के कारण होता है, खाद्य कणों का अत्यधिक सेवन जो पचाने में मुश्किल होते हैं, ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन जो एलर्जी का कारण बनते हैं, या जो पोषक तत्वों से कम होते हैं, अधिक खाना, अनियमित अंतराल पर भोजन करना और अन्य शारीरिक और मानसिक कारक। यह दस्त और कब्ज दोनों का कारण बन सकता है। कायम चूर्ण में अविश्वसनीय जड़ी-बूटियों होती है जिसका उपयोग करने से इस दर्दनाक बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है। 

सूजन और पेट फूलना रोकता है : Prevents Bloating And Flatulence

काला नमक, सेना के पत्ते, मुलेठी, अजवाइन, हरीतकी और त्रिवृत जैसे बायोएक्टिव घटकों की उपस्थिति के कारण, यह पाचक चूर्ण पेट फूलना, आंतों की गैस, सूजन और पेट के भारीपन को कम करने में अत्यधिक महत्व रखता है।

अल्सर को ठीक करता है : Cures Ulcers

विभिन्न अध्ययनों में जड़ी-बूटियों के ग्लाइकोप्रोटीन स्राव को पेप्टिक और अल्सरेटिव कोलाइटिस सहित विभिन्न प्रकार के पेट के अल्सर के इलाज में और यहां तक ​​कि पेट के दर्द का इलाज करने में बेहद प्रभावी पाया गया है। सही खुराक पर, यह अल्सर और घावों को ठीक करने में भी मदद करता है।

कायम चूर्ण का उपयोग कैसे करें? : How to use Kayam Churna in hindi

कायम चूर्ण की प्रभावी चिकित्सीय खुराक रोगी की उम्र, गंभीरता और स्थिति के आधार पर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकती है। आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श करना जरूरी है, क्योंकि वह संकेतों की पूरी तरह से जांच करेगा और एक विशिष्ट समय अवधि के लिए सही खुराक निर्धारित करेगा।

कायम चूर्ण: १/2 चम्मच सोते समय, एक गिलास पानी के साथ इसका सेवन किया जा सकता है। 

कायम गुटिका / गोली: 1 – 2

कायम चूर्ण के नुकसान  : Side effects of Kayam Churna in hindi

यद्यपि यह पाचन संबंधी विसंगतियों के लिए एक अचूक उपाय है, लेकिन डॉक्टर के परामर्श से ही इसका सेवन करना चहिये। दवा की अधिक मात्रा या नियमित सेवन से आंतों को कमजोर करके और शरीर के प्राकृतिक क्रमाकुंचन आंदोलनों के साथ संघर्ष करके एक रेचक आदत विकसित हो सकती है, जिससे अंततः पुरानी कब्ज हो सकती है। यह दस्त, उच्च रक्त पोटेशियम, पेट में दर्द, तरल पदार्थ की हानि आदि सहित अन्य जटिलताओं को भी जन्म दे सकता है। हालांकि अधिकांश वयस्कों द्वारा निर्धारित खुराक में इसका सेवन किया जा सकता है, गर्भवती महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए क्योंकि यह गर्भाशय के संकुचन को उत्तेजित कर सकता है जिससे रक्तस्राव होता है । यहां तक ​​कि कम उम्र के बच्चों को भी यह दवा नहीं देनी चाहिए।

  • अगर आप कायम चूर्ण का अधिक मात्रा उपयोग करते है तो आपको खुजली, उलटी, दस्त आदि परेशानिया का सामना करना पड़ सकता है। 
  • बहुत अधिक लम्बे समय तक कायम चूर्ण का उपयोग करने से पुरुषो के स्पर्म की गुणवत्ता कम हो जाती है। 
  • यदि आप कायम चूर्ण का अधिक सेवन करते है तो पेटदर्द की समस्या हो सकती है।
  • इसका अधिक सेवन करने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है ।
  • आपको भूख कम लग सकती है ।
  • हाई ब्लडप्रेशर, शुगर की बीमारी, हाई पित्ताशय जैसी बीमारियों वाले रोगियों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए। 
  • गर्भवती महिलाओ को इसका उपयोग नहीं करना चाहिए और यदि आप इसका उपयोग करना चाहते है तो पहले डॉक्टर की सलाह ले। 
  • कायम चूर्ण का उपयोग काम उम्र के बच्चो को नहीं करना चाहिए। 

कायम चूर्ण के उपयोग में सावधानियां : Kayam Churna precaution in Hindi

कायम चूर्ण का उपयोग करने से पहले हमे कुछ सावधानियां का सामना करना चाहिए जो निम्न लिखित है।

  • कायम चूर्ण का लगातार सेवन करने से हमे इसकी आदत हो जाती है । जो की बहुत ही खतरनाक होती है।
  • यदि आपको कायम चूर्ण के किसी भी घटक से एलर्जी हे तो आपको इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए। 
  • जो महिलाए गर्भवती हे उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आपको इसका सेवन करना हे तो आप डॉक्टर की सलाह जरूर ले। 
  • जो महिलाए स्तनपान करवा रही हे उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आपको इसका सेवन करना हे तो आप डॉक्टर की सलाह जरूर ले। 
  • अगर आप शराब का सेवन करते है तो आपको इस चूर्ण का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  • जिन बच्चो की आयु कम हे उन्हें इस चूर्ण का सेवन नहीं करवाना चाहिए।
  • यदि आप विटामिन और अन्य दवाइयों का सेवन कर रहे है तो आपको कायम चूर्ण का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेना चाहिए। 

संकेत:Indications

कब्ज, एसिडिटी, सिरदर्द और कब्ज से जुड़े अल्सर और पेट फूलना

स्टोरेज इनफार्मेशन : Storage instructions

  • ठंडी, सूखी और अंधेरी जगह में स्टोर करें
  • सीधी धूप से बचाएं

सुरक्षा जानकारी:Safety information

  • कायम चूर्ण का उपयोग करने से पहले हमे लेबल को ध्यान से पड़ लेना चाहिए। 
  • कायम चूर्ण का दी गई सलाह से ज्यादा खुराक का सेवन नहीं करना चाहिए 
  • कायम चूर्ण को बच्चों की नज़र और पहुंच से दूर रखना चाहिए। 

निष्कर्ष : Conclusion

कायम चूर्ण एक चमत्कारिक उपाय है जो कब्ज, इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम , अपच, गैस्ट्रिटिस और भूख न लगना सहित कई स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में अत्यधिक महत्व रखता है। शक्तिशाली हर्बल सामग्री से भरपूर, उचित चिकित्सक की सिफारिश के साथ इस पाचक पाउडर के लाभों का आनंद लें।

डिस्क्लेमर : इस साइट में शामिल जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है और इसका उद्देश्य डॉक्टर द्वारा चिकित्सा उपचार का विकल्प नहीं है। हर व्यक्ति की विशिष्ट व्यक्तिगत आवश्यकताओं के कारण, पाठक को पाठक की स्थिति की जानकारी की उपयुक्तता निर्धारित करने के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी


मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top