Intagesic MR Tablet in hindi

Intagesic MR Tablet in hindi:इंटाजेसिक एम आर टैबलेट क्या है?इसके फायदे, उपयोग और नुकसान

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट का विवरण:

बाज़ार में इंटाजेसिक एमआर टैबलेट का निर्माण“इंटस फार्मा कंपनी” करती है । इंटाजेसिक एमआर टेबलेट का उपयोग मांसपेशियों में दर्द, जोड़ो में दर्द, सर में दर्द, दांत का दर्द, मोच आदि बीमारियों के उपचार  के लिए किया जाता है। अब इस लेख में हम आपसे बात करेंगे इंटाजेसिक एमआर टैबलेट(Intagesic MR Tablet in hindi) के उपयोग, फ़ायदे और इंटाजेसिक एमआर टैबलेट के दुष्प्रभावों के बारे में।

इंटाजेसिक-एमआर एक पैन किलर है। यह  मांसपेशियों को दर्द से राहत देने वाले रूप में काम करती है। यह टैबलेट आपके दिमाग़ तक पहुँचते हुए दर्द के संकेतों या संवेदनाओं को रोकने में सहायता करती है। इसी प्रकार यह वक़्त के साथ आपके दर्द से आराम दिलाती  है। जब आपके दर्द की परेशानी कम हो जाती है, तो यह आपको आराम करने और अछी भौतिक चिकित्सा करवाने में सहायता करती है। 

यह आख़िर में, स्केलेटल की मांसपेशियों से संबंधित दर्द को भी ज़्यादा आरामदायक बनाने में आपकी सहायता  करती है। 

यह हमेशा खेल में शामिल लोगों यानी की खिलाड़ियों के लिए एक बढ़िया विकल्प होता है क्योंकि वे इस तरह के स्केलेटल की मांसपेशियों में दर्द को काफ़ी बार महसूस करते रहते हैं।

यह ज़रूरी है कि आप दवा को तब ना लें अगर आप सोडियम ऑक्सीबेट का सेवन भी कर रहे हैं, या दवा के इंग्रीडीयंट्स से आपको एलर्जी हो। स्तनपान, गर्भवती महिलाओं या शिशुओं के लिए कोशिश कर रही महिलाओं को दवा के सेवन से दूर रहना चाहिए। इसके साथ, अगर आप लिवर या किडनी से संबंधित किसी भी बीमारी से पीड़ित हैं, तो आपको ऐसे मामलों में भी दवा नहीं लेनी चाहिए। 

कुछ साधारण दुष्प्रभाव जैसे बेहोशी, भूख में कमी, काले, खूनी या मिट्टी के रंग का मल, जी मचलना, खुजली या गहरे रंग के मूत्र हैं।

यह ज़्यादा अच्छा होगा कि अगर आप इसे थोड़े खाने के साथ लेते हैं और खाली पेट नहीं लेते हैं, क्योंकि तब यह पेट दर्द की संभावना को कम करेगा। आपको चिकित्सक द्वारा बताई गई खुराक, अवधि और आवृत्ति के हिसाब से रहना चाहिए और अपनी मर्ज़ी की दवा नहीं लेनी चाहिए। यदि आप शराब का सेवन करते हैं तो इस दवा से बहुत ज़्यादा  नींद की कमी हो सकती है और इस अवधि में इससे बचना चाहिए।

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट के फ़ायदे और उपयोग: Benefits & Uses of Intagesic MR Tablet in Hindi

इंटाजेसिक एमआर टैबलेट के फायदे और उपयोग इन सभी निम्नलिखित बीमारियों में किया जाता है। यह एक पेन-किलर है और इन सब दर्द से निवारण करता है:

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट के दुष्प्रभाव: Side Effects of Intagesic MR Tablet in Hindi

यहाँ आपको इंटाजेसिक एमआर टैबलेट के  साइड-इफ़ेक्ट या दुष्प्रभाव बताये गए है। इनमे से कुछ साइड-इफ़ेक्ट ऐसे है जो शरीर पर भारी पड़ सकते हैं। यदि आपको नीचे बताये गए में से कोई भी दुष्प्रभाव का पता चलता है तो आप तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सक को बुलाएँ।

 इंटाजेसिक एमआर टैबलेट के निम्नलिखित दुष्प्रभाव हैं:

  • मानसिक भ्रम की स्थिति 
  • आक्षेप या कँवलशंस 
  • मूत्र उत्पादन में कमी 
  • दिल तेज़ी से धड़कना  
  • गंभीर दस्त 
  • ड्राई माउथ 
  • पेट में अत्यधिक वायु या गैस 
  • भूख में कमी
  • पेट फूलना
  • दिल में जलन
  • रूखी त्वचा
  • चक्कर आना
  • सिरदर्द
  • घबराहट
  • पेट दर्द 
  • क़ब्ज़ 
  • त्वचा पर लाल चकत्ते
  • उलटी

यदि आपको इसके साथ-साथ कोई और दुष्प्रभाव होता है तो आप तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सक से संपर्क करें।

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट के विपरीत के संकेत:

  • दमा या अस्थमा 
  • ह्यपेर-सेंसिटीवीटी 

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट की सावधानियाँ: Precautions of Intagesic MR Tablet in Hindi

  • यदि आपको NSAIDs या क्लोरोजॉक्सजोन से सम्बंधि रखने वाले किसी दवाई से एलर्जी है तो आप इंटाजेसिक एमआर टैबलेट का सेवन बिलकुल न करें।
  • किसी फोड़े या अल्सर से पीड़ित रोगी, इंटाजेसिक एमआर पेट, कोलन और गुदा(किडनी) में गंभीर सूजन की वजह भी बन सकते है।
  • इंटाजेसिक एमआर टैबलेट का इस्तेमाल जन्म से दिल के रोग से पीड़ित बच्चों के लिए नहीं करना चाहिए।
  • दमा या अस्थमा वाले रोगी भी इंटाजेसिक एमआर टैबलेट का सेवन बिलकुल न करें।
  • गंभीर लिवर की बीमारी से पीड़ित रोगी  भी इस दवाई का सेवन बिलकुल नहीं करें।
  • पीड़ित गुर्दे(किडनी) के मरीजों को भी इंटेजेसिक एमआर टैबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • इस दवाई को सदा चिकित्सक के बताए हुए दिशा-निर्देशों के हिसाब से ही सेवन करें।
  • इस टैबलेट को उपयोग  करने के समय पर अपना रक्तचाप या BP चेक करते रहे।

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट की खुराक: Dosage of Intagesic MR Tablet in Hindi

  • आप जब भी इंटाजेसिक एमआर टैबलेट का लेना शुरू करें तो एक ही  बार में पूरा टैबलेट निगल जाए।
  • गोली  को कभी भी मुँह में लेने के बाद दांतो से न चबाये।
  • इस दवा का सेवन करने के पहले अपने चिकित्सक को बताये और उनके दिशा-निर्देशों पर  ही दवाई का सेवन करें।
  • इंटेजेसिस एमआर टैबलेट का सेवन या तो दिन में दो-तीन बार करें या अपने चिकित्सक के दिशा-निर्देशों के अनुसार करें।
  • 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चे इस दवाई को लेने से पहले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।
  • हमेशा चिकित्सक  की सहमति के अनुसार ही दवाइयों का सेवन करें और लंबे समय तक इस टैबलेट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

इंटाजेसिक एम आर टैबलेट की मुख्य विशेषताएँ:

  • इस दवा का असर 8-20 घंटों के बीच तक रहता है और इसलिए,खुराक  की आवृत्ति से एक इंसान से दूसरे इंसान में बदल सकता है। चिकित्सक यह समझने के लिए शुरुआती खुराक के दौरान जांच कर सकते हैं कि आपका शरीर टैबलेट पर कैसे प्रतिक्रिया करती है और उस हिसाब से निर्धारित करती है।
  • अधिकांश मामलों में, इस टैबलेट का पूरा असर 24 घंटों के अंदर ही खत्म हो जाता है या कुछ मामलों में एक दिन से ज़्यादा  समय ले सकता है।
  • मरीज़ों को यह सलाह दी जाती है कि आप इंटागेसिक-एमआर टैबलेट के साथ शराब का सेवन न करें क्योंकि इससे कुछ गंभीर सेहत की  समस्याएं हो सकती हैं।
  • गर्भवती महिलाओं को टेबलेट के सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि यह आपकी और आपके भ्रूण, दोनो की तबियत ख़तरे में डाल देता है।
  • दूध पिलाते समय या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इंटागेसिक-एमआर टैबलेट का सेवन करने से मना किया जाता है, क्योंकि इससे आपके शिशु  को बहुत नुकसान हो सकता है। डिक्लोफेनाक नामक तत्व आपके साथ-साथ आपके बच्चे में भी गंभीर साइड इफेक्ट्स दे  सकता है।
  • वाहन चलाते समय यह सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है की यह गोली ना लें। इसमें  सतर्कता की ज़रूरत होती है क्योंकि टैबलेट से चक्कर आना, उनींदापन आदि जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • इस टैबलेट का सेवन गुर्दे(किडनी) की बीमारियों के पहले से मौजूद हालातों  को और बिगाड़ सकती  है। इसलिए, यदि आप वह रोगी हैं, तो आपको चिकित्सक को जानकारी देनी चाहिए, ताकि चिकित्सक आपको ज़रूरी खुराक प्रदान कर सकें या एक और विकल्प  के रूप में दवा दे सकें।
  • जिगर या लिवर  से संबंधित बीमारियों से पीड़ित लोगों में, यह सलाह दी जाती है कि आप चिकित्सक  से  ठीक  दिशा-निर्देश लेने के लिए अपने मामले पर चर्चा करें क्योंकि दवा पहले से मौजूद स्थितियों के साथ इंटरेक्शन कर सकती है और विपरीत दुष्प्रभावों  की वजह  बन सकती है।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top