Himalaya Acne N Pimple Cream in Hindi

Himalaya Acne N Pimple Cream in Hindi : हिमालय एक्ने एन क्रीम की सम्पूर्ण जानकारी

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम की जानकारी: Himalaya Acne N Pimple Cream Information

Table of Contents HIDE

यह क्रीम एक आयुर्वेदिक मलहम होती है। इस क्रीम को अहम रूप से चेहरे पर दिखती बीमारियाँ जैसे एकने या मुँहासे, काले धब्बे, खारिश, लाल चकत्ते इत्यादि समस्याएँ से दूर करने में मदद करता है। इस क्रीम की तासीर ठंडी होती है, तो इसका इस्तेमाल चेहरे को ठंडक भी प्रदान करता है इसी वजह से यह खारिश या खुजली को कम करती है।-Himalaya Acne N Pimple Cream in Hindi

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम उत्पाद का निर्माता और क़ीमत: Himalaya Acne N Pimple Cream Product Manufacturer & Price

  • इस क्रीम के बीस ग्राम की क़ीमत होती है 45 रुपय
  • इस क्रीम का औपचारिक शेल्फ़-लाइफ़ तो होती है तीन साल, मगर आपने अगर इसका सील तोड़ कर इस्तेमाल शुरू कर दिया है, तो आपको एक साल के अंदर खत्म करना होता है
  • इस क्रीम के निर्माता हैं ‘हिमालय ड्रग कंपनी’

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम के फ़ायदे और उपयोग: Benefits and Uses of Himalaya Acne N Pimple Cream

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम के उपयोग करने से आपको नीचे दी गयी बीमारियों के इलाज में मदद मिलेगी:

  • पिंपलेस और मुँहासे
  • खारिश या खुजली
  • काले धब्बे
  • झुर्रिया
  • लाली
  • चहरे पर संक्रमण 

वैसे इस दी गयी सूची के अलावा भी, इस क्रीम का इस्तेमाल कुछ और बीमारियों या समस्याओं में किया जाता है। पर आप इस बात का ध्यान दें कि इस जब भी आप इस क्रीम का उपयोग शुरू कर रहे हों, तो एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम में मौजूद सामग्री : Ingredients in Himalaya Acne N Cream

  • – शलमिल 
  • – कुमारी 
  • – निर्गुंडी 
  • – मसूरा 
  • – इन्द्राणी 

इन हर्बल तत्वों के साथ-साथ इसमें यह निम्नलिखित निष्क्रिय सामग्रियाँ भी हैं:

  • मेथैल पाराबिन 
  • पोली पाराबिन 

यदि आप आमतौर पर कोई भी क्रीम लेते हैं, तो उसमें रसायनों के साथ पाराबिन होती ही हैं, पर इस क्रीम में सिर्फ़ पाराबिन होते हैं, रसायन नहीं।

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम की बनावट या टेक्स्चर:

  • यह काफ़ी थिक क्रीम होती है। इसको आपको अपने मुँहासों या एक्ने पर लगना है और छोड़ देना है।
  • इसे सिर्फ़ एक्ने पर ‘स्पॉट-ट्रीटमेंट’ के तौर पर ही लगाएँ, पूरे चेहरे पर ना फैलाएँ। मुहाँसों पर इसके साथ हल्का सा मसाज़ करें, जिससे कि यह अंदर जाए।
  • इसकी ख़ुशबू बहुत अच्छी होती है, ना ये बहुत ज़्यादा स्ट्रोंग गंध की है, ना ही बहुत कम गंध की है।
  • इसके लगाने के क़रीब पंद्रह या बीस मिनट के बाद यह ड्राई हो जाती है। और आधे घंटे के बाद यह परतदार हो जाती है।

हिमालय एक्ने एन पिंपल्स क्रीम का उपयोग कैसे करते है : How to Use Himalayan Acne N Pimple Cream in Hindi

  • इस क्रीम को लगाने से पहले, अपने चेहरे को अच्छे से पानी से धो लें। उसके बाद ही, आप इसको अपने मुँहासों, चेहरे, गर्दन या फिर वो जगह जो की सूज गई है, वहाँ लगाएँ।
  • आप इस क्रीम को दिन में दो बार अच्छे से लगा सकते हैं। जब तक आपके घाव ठीक नहीं होते, तब तक इस क्रीम का उपयोग करते रहिए।
  • मगर एक बात का आपको ज़रूर ध्यान देना है, की आपको इसका इस्तेमाल, अपने चिकित्सक के दिशा-निर्देशों के हिसाब से ही करना है। यदि आप इसको अधिक मात्रा में लगाएँगे, तो इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

हिमालय एक्ने एन क्रीम के दुष्प्रभाव और नुकसान : Himalayan Acne N pimple Cream Side Effect in Hindi

अगर इस क्रीम के उपयोग को देखा जाए तो इस क्रीम के इस्तेमाल से कोई दुशप्रभाव नहीं होते हैं। पर आप सब यह बात तो अच्छे से जानते ही होंगे, की किसी भी चीज़ को हद से ज़्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे चेहरे को हानि हो सकती है। इसी कारण इस  क्रीम का इस्तेमाल करने से पहले, आप एक बार, अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।

ज़्यादा इस्तेमाल करने से, यह निमलिखित दुशप्रभाव हो सकते हैं:

  • चेहरे पर सूजन या जलन दिखना ।
  • खुजली होना। 
  • एलर्जी
  • सफ़ेद दाग

मुँहासे होने का कारण: 

  • जब किशोरियों के होर्मोनल असंतुलन से सम्बंधित कोई भी बदलाव आता है, तो यह एक बड़ी वजह बनती है।
  • जब गर्भावस्था या प्रेग्नन्सी आती है, तो मुँहासों का निकलना काफ़ी आम होता है।
  • यदि आप तनाव में रहती हैं, तब भी यह पनपते हैं।
  • यदि आप गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करते हैं, तो यह निकलते हैं।
  • जब आप स्किन की ठीक से देख -रेख नहीं करते, तब भी यह पनपते हैं।
  • आप अगर बाहर या गंदगी से घर आकर, मुँह नहीं धोते हैं, तब भी यह होते हैं।
  • फ़ैट वाला खाना ज़्यादा खाने से भी यह पनपते हैं।
  • कुछ दवाओं के ज़्यादा लेने से भी मुँहासे निकलते हैं। वह दवाइयाँ होती हैं- स्टेरॉयड , टेस्टोस्टेरोन , एस्ट्रोजन इतयादि।

हिमालय एक्ने एन पिम्पल क्रीम के इस्तेमाल में सावधानियां : Himalayan Acne N pimple Cream Precautions in Hindi

इस क्रीम का इस्तेमाल करने से पहले नीचे दी गयी सभी सावधानियों का पालन करना ज़रूरी है।

  • अगर आपको त्वचा का कोई भी रोग हो, तो इस क्रीम का उपयोग करने से पहले, अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।
  • अगर आप पहले से ही किसी और क्रीम का इस्तेमाल कर रहे हैं, या तो उसका उसे बंद करें, या उसको यूज़ ना करें। पर ज़्यादा जानकारी के लिए, अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।
  • अगर आपको इस क्रीम में मौजूद किसी भी सक्रिय सामग्री से ऐलर्जी है, तो आप इसको इस्तेमाल ना करें।
  • इसका उपयोग करने से पहले, एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर करें।
  • यदि आप इस क्रीम को अपने किसी भी घाव या चोट पर लगने की सोच रहे हैं, तो एक बार अपने चिकित्सक की परामर्श ज़रूर लें।

आमतौर पर पूछे जाने वाले सवाल:

  • प्रश्न – क्योंकि यह क्रीम आयुर्वेदिक है, तो क्या इसका घावों पर इस्तेमाल करना कोई और हानि पहुँचा सकती है?  
  • उत्तर: इस क्रीम को आप केवल बाहरी हिस्सों पर ही उपयोग कर सकते हैं। इसको किसी और घाव या खुजली पर यूज़ ना करें।
  • प्रश्न : इस क्रीम को मुँहासों पर लगाकर, कितनी देर में धोना होता है?
  • उत्तर:  आप इस क्रीम को अपने चेहरे पर लगाकर छोड़ दें और इसे तब तक दूसरी बार ना लगाएँ, जब तक आप इसे धो ना लें।
  • प्रश्न: इस जेल के साथ क्या आप किसी और क्रीम का उपयोग कर सकते हैं?
  • उत्तर: आप इसको इस्तेमाल तो कर सकते हैं, पर आपकी बीमारी की जटिलता पर भी निर्भर होती है। अगर आपको जटिलता अधिक है, तो आप अपने चिकित्सक से ज़रूर परामर्श करें।
  • प्रश्न – क्या मुंहासे वाली शक़्ल को साफ़ करने के लिए, साबुन का उपयोग किया जा सकता है?
  • उत्तर: जी नहीं, अगर आपके चेहरे पर बहुत अधिक मुँहासे हैं, तो आप साबुन का उपयोग ना करें। कहा जाता है कि साबुन का उपयोग आप कभी ना करें।
  • प्रश्न: –क्या इस क्रीम से चेहरे के मुँहासे सदा के लिए ख़त्म हो जाते हैं?
  • उत्तर: एक्ने एन पिम्पल क्रीम आपके चेहरे के मुँहासों को कम तो करता ही है, और बढ़ने से भी रोकता है।

कुछ और जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 330

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top