Hemp Seeds in hindi

Hemp Seeds in hindi:भांग के बीज के फायदे और नुकसान

भांग नशीले पदार्थ के रूप में विख्यात है, लोग भांग को नशे के लिए प्रयोग करते हैं तो कुछ जगहों पर इसका उपयोग दवा के रूप में भी किया जाता है। भांग के पौधे का हर भाग बहुत ही उपयोगी माना जाता है बात फिर चाहे उसकी पति को पीसकर दवा बनाने की हो या फिर भांग के पेड़ की छाल को रस्सी बनाने की, इसी तरह भांग के बीज(Hemp Seeds in hindi) भी बहुत ही उपयोगी माना जाता हैं। भांग को मानव के स्वास्थ्य के लिए अधिक फायदेमंद माना जाता है वह इसलिए क्योंकि इसमें 9 महत्वपूर्ण अमीनो एसिड होते हैं, जो कि प्राकृतिक रूप से मानव शरीर को प्राप्त नहीं हो पाते। इन सबके अलावा भांग के बीज में प्रोटीन की अधिक मात्रा में पाया जाता है तथा भांग के बीज में ओमेगा 3 फैटी एसिड और ओमेगा 6 फैटी एसिड की संतुलित मात्रा होती है जो आपके शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक होते हैं। भांग के बीज कैंसर और ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) जैसी गंभीर बीमारियों से लड़ने तथा इन गंभीर बिमारियों को कम करने की क्षमता देता है। भांग के बीजो का गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल स्वास्थ्य पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण यह अधिक फाइबर सामग्री के कारण कब्ज और दस्त को भी जल्द ही ठीक कर देता है।

भांग क्या होता है? भांग के फायदे और नुकसान

भांग के बीज में उपस्थित पोषक तत्व :- (Nutrients present in Hemp seeds- Hemp Seeds in hindi )

भांग के बीज में पोषक तत्वों की कोई कमी नहीं होती है इसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्व उपस्थित होते हैं जो कई बीमारियों में फायदेमंद साबित होते हैं। भांग के बीज में पोषक तत्व इतने भरपूर मात्रा में होते हैं इसी कारण से इसे स्वस्थ आहारों में भी गिना जाता है। भांग के बीज में उपस्थित पोषक तत्व कुछ इस प्रकार से हैं 

ओमेगा-3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड का एक अच्छा संतुलन भांग के बीज में होता है जो कि 3:1 के संतुलन में रहता है जो कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा कुछ और भी पोषक तत्व भांग के बीज में उपस्थित होते हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं-

  • मैग्नीज, 
  • विटामिन,
  • मैग्नीशियम,
  • फास्फोरस,
  • जस्ता,
  • तांबा,
  • लौह,
  • कार्बोहाइड्रेट,
  • प्रोटीन,
  • वसा

उपयुक्त सभी पोषक तत्वों की उपस्थिति के कारण ही भांग के बीज के फायदे बहुत अधिक होते हैं।

भांग के बीज का तेल :- (Hemp seed oil)

भांग के बीज( Hemp Seeds in hindi ) का तेल भी औषधीय गुणों से कम नहीं है, भांग के बीज के तेल में पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, प्रोटीन, कैनाबिनोइट, विटामिन-ई आदि अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो इन्हें और भी गुणकारी बनाते हैं।

 भांग के बीज के फायदे :- (Benefits of hemp seeds)

भांग के बीज( Hemp Seeds in hindi ) के बहुत शिकायतें हैं जिनमें से कुछ निम्न है-

  • कैंसर में फायदेमंद :- भांग के बीज या भांग के बीज के तेल में कैनबिनोइट नाम का एक तत्व पाया जाता है, जो कैंसर से बचने में सहायता करता है तथा भांग के बीज और पत्तियों में एंटी कैंसर के गुण भी होते हैं जो कैंसर के जोखिम को भी कम करने में मदद करते हैं एक शोध में या ज्ञात हुआ है कि भांग के बीज के गुणों से कैंसर कोशिकाएं नष्ट होती हैं। भांग के बीज को ट्यूमर और अलसर से भी बचने के लिए उपयोग में लाया जाता है। भांग के बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें कि इसे कितनी मात्रा में, कब और कैसे लेना है क्योंकि कैंसर एक जानलेवा बीमारी है और इस बीमारी में पूरी तरह से घरेलू इलाज पर निर्भर नहीं रहा जा सकता।
  • हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद :- भांग के बीज में उपस्थिति आवश्यक फैटी एसिड की अच्छी मात्रा होने के कारण भांग के बीज, रक्त में कोलेस्ट्रॉल को कम करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं। भांग के बीज में उपस्थित फैटी एसिड सूजन को कम करने में भी अपनी मदद करता है जो कि खराब रक्त परिसंचरण और उच्च रक्तचाप के कारण से होता है। इसी तरह भांग के बीज स्ट्रोक और हृदय के दौरे जैसे कई दिल संबंधी बीमारियों को कम करने में हमारी मदद करते हैं। भांग हृदय को स्वस्थ रखने के लिए भांग के बीज का उपयोग किया जा सकता है पर पूर्ण रुप से भांग के बीज पर निर्भर नहीं रहा जा सकता अतः उपयोग के साथ ही साथ हृदय को स्वस्थ रखने के लिए सही जीवन शैली और एक्सरसाइज इत्यादि भी जरूरी है। 
  • मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद :- भांग के बीज मस्तिष्क को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होते हैं। भांग के बीज में उपस्थित आवश्यक फैटी एसिड पार्किंसेस और अल्जाइमर रोग आदि जैसे रोग जो कि मस्तिष्क को कमजोर बनाते हैं इन सभी स्थितियों को दूर करने में मदद करता है। भांग के बीज स्मृतियों को बढ़ाने में भी मदद करते हैं जिससे अवसाद और चिंता दूर हो जाती है।
  • त्वचा के लिए फायदेमंद :- भांग के बीज का तेल त्वचा के लिए भी एक अच्छी औषधि है। त्वचा पर भांग के बीज का तेल लगाने से यह हमें सूर्य की हानिकारक किरणों से होने वाली क्षति से बचाता है। भांग के बीज के तेल से त्वचा नर्म और चमकदार होती है। इसके अलावा शुष्क त्वचा, खुजली और सोरायसिस जैसी त्वचा रोग में इसका उपयोग करने से यह इन त्वचा रोगों से लड़ने में सहायता करता है। इसके अलावा भांग के बीज का तेल त्वचा कैंसर से भी बचाव कर सकता है। अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो इसका उपयोग करने से पहले त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य ले लें।
  •  मधुमेह में सहायक :- मधुमेह में भांग के बीज का तेल अत्यंत लाभदायक हो सकता है क्योंकि भांग के बीज के तेल में ओमेगा-3 पालीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड उपस्थित होता है जो कि मधुमेह के रोगियों के लिए टाइप 1 डायबिटीज के लक्षणों को कुछ हद तक कम करने में मदद करता है। मधुमेह में सिर्फ घरेलू उपायों पर निर्भर नहीं रहा जा सकता अतः डॉक्टरों के निर्देशानुसार मधुमेह की दवा भी लेना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि मधुमेह का घरेलू इलाज करने से वह काम तो हो सकता है पर खत्म नहीं हो सकता।
  •  वजन कम करने में सहायक :- भांग के बीज को भूख को दबाने के लिए जाना जाता है। भांग के बीज का सेवन करके भूख को बहुत देर तक शांत किया जा सकता है। वजन कम करने के लिए आपको भांग के बीज की कुछ मात्रा आहार के साथ प्रतिदिन लेना होगा। ऐसा करने से आपको भूख कम लगेगी और आपका वजन घटना शुरू हो जाएगा।
  •  पाचन के लिए फायदेमंद :- भांग के बीज में उपस्थित फाइबर घुलनशील होता है तथा बीज के अंदर इसकी मात्रा भी अच्छी होने के कारण यह बीज पाचन तंत्र से हानिकारक पदार्थ को दूर कर देता है। भांग के बीज के अंदर पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने की शक्ति होती है। भांग के बीज के अंदर कैनबिनोइट्स नाम का कंपाउंड होता है जो कि पेट में दर्द, दस्त और सही पाचन में बहुत लाभकारी हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना बेहतर होगा क्योंकि इस संबंध में अभी शोध की आवश्यकता है।
  •  अनिद्रा को दूर करने में सहायक :- भांग के बीज में मैग्नीशियम की अधिक मात्रा में उपस्थिति होने के कारण यह हमारे अनिद्रा का इलाज करने में भी मदद करता है। एंजाइमो और हार्मोन पर मैग्नीशियम की प्रतिक्रिया के कारण अच्छी नींद आने लगती है अतः यदि आप अनिद्रा से परेशान हैं तो भांग के बीज का उपयोग करके आप इस समस्या को दूर कर सकते हैं।
  • मासिक धर्म में फायदेमंद :- मासिक धर्म में महिलाये जिन समस्याओ का सामना करतीं हैं वह सिर्फ एक महिला ही समझ सकती है। समस्याये जैसे:- पेट में दर्द और ऐंठन। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपाय की बात की जाए तो भांग का बीज सबसे बढ़िया उपाय है, इससे ऐंठन से छुटकारा पाया जा सकता है। भांग के बीज में एंटीस्पास्मोडिक उपस्थित होते हैं, जो मासिक धर्म में होने वाली ऐंठन से राहत दिलाने में सक्षम होता है। अगर गंभीर अवस्था में है तो डॉक्टर से परामर्श लेने में बिल्कुल भी देरी नहीं करनी चाहिए।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक :- अगर किसी व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है तो आमतौर पर वह कई तरह की बीमारियों का शिकार हो सकता है। अतः भांग के बीज में उपस्थित कैनाबिनोइट्स को लेकर जानवरों पर कई शोध हुए और इन शोधो में यह ज्ञात हुआ कि कैनाबिनोइड्स कई प्रकार की प्रतिरक्षा कोशिकाओं की कार्यप्रणाली को मॉड्यूल करते हैं। फिलहाल अभी इसका प्रयोग मानव पर नहीं किया गया है, मानवो पर इसका प्रयोग करने की आवश्यकता है।

भांग के बीज को उपयोग करने के तरीके :- (Ways to use hemp seeds)

भांग के बीज( Hemp Seeds in hindi ) को उपयोग करने के कुछ तरीके निम्न हैं- 

  • भांग के बीज को पीसकर उसका सेवन दलिया या फिर दही में मिलाकर किया जा सकता है। 
  • भांग के बीज को स्मूदी में डालकर सेवन किया जा सकता है। 
  • सलाद में भांग के बीज को मिलाकर सेवन किया जा सकता है। 
  • भांग के बीज को दूध में मिलाकर सेवन किया जा सकता है।

भांग के बीज के नुकसान :- (Hemp seed loss)

भांग के बीज( Hemp Seeds in hindi ) के फायदे तो बहुत हैं परंतु इसके कुछ नुकसान भी हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं :-

  • भांग के बीज में वसा की मात्रा अधिक होती है तो इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से यह पाचन तंत्र को प्रभावित करता है और हल्के दस्त तथा अन्य परेशानियों को भी बढ़ा सकता है। 
  • अगर आपका कोई अन्य चिकित्सकीय उपचार चल रहा है तो भांग के बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। 
  • यदि आप एंटीकोंगुलेंट दवाओं का सेवन कर रहे हैं तब भी आपको भांग के बीज का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह खून में प्लेटलेट्स को तोड़ सकता है और प्लेटलेट्स टूटने के कारण से रक्तस्राव का खतरा बढ़ सकता है। 
  • गर्भवती महिलाओं का इसका उपयोग बिलकुल नहीं करना चाहिए, इससे गर्भपात का खतरा हो सकता है। 
  • भांग के बीज का अधिक सेवन करने से मस्तिष्क संबंधी समस्या उत्पन्न हो सकती है। 
  • कुछ लोगों को भांग या भांग के बीज से एलर्जी हो सकती है तो उन्हें भी भांग के बीज का सेवन नहीं करना चाहिए। 

कुछ और जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 353

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top