Ajwain in Hindi,

Ajwain in Hindi : अजवाइन क्या है ? इसके फायदे और नुकसान

अजवाइन क्या है

अजवाइन जड़ी बूटी के फल , अजवाइन के बीज होते है जो की आम भारतीय व्यंजन में उपयोग किये जाते है अगर देखा जाए तो अजवाइन को “बीज” के रूप में ही हर जगह जाना जाता है यह भूरे रंग के होते है इनका स्वाद तोडा तीखा और कड़वा होता है ये जीरे के समन होते है लेकिन उनका स्वाद और सुगंध एक प्रकार के सुगन्धयुक्त पौधे के समान होती है।-Ajwain in Hindi

ये अक्सर पूरे बीज के रूप में बेचे जाते हैं, लेकिन उन्हें पाउडर के रूप में भी डाला जा सकता है और खाना पकाने के मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

अजवाइन के बीज अविश्वसनीय रूप से पौष्टिक होते हैं इनमे फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और अन्य विटामिन और खनिज पाए जाते है इस वजह से यह कई स्वास्थ्य लाभ के साथ जुड़े हुए है इन्हे बहुत ही प्राचीन समय से  पारंपरिक भारतीय चिकित्सा पद्धतियों में उपयोग किया जाता है 

यह एक मसाला है जो हर भारतीय घराने में बहुत प्रचलित है और जिसके बिना हर दाल तड़का अधूरा है, अजवाइन एक जड़ी बूटी के पौधे से प्राप्त होती है जो हमारे बहुत से देशो में उत्पन्न होती है।  इस जड़ी बूटी के सभी भागों में बहुत तेज़ गंध होती है इसलिए इसे संस्कृत में उग्रगंध के नाम से भी जाना जाता है।  यह उन दुर्लभ मसालों में से एक है जो स्वाद में अच्छा होने के साथ साथ  स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा होता है आयुर्वेदिक विशेषज्ञ, भारतीय घरों में इसके व्यापक उपयोग के पीछे के कारण को साझा करते हुए कहा, “अजवाइन के बीज आपके पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं। वे अपच के कारण किसी भी तरह की पेट की परेशानी का इलाज करते हैं जैसे पेट में दर्द या जलन। यह जिन लोगो को भूख नहीं लगती है वह इसका उपयोग अपनी भूख बढ़ाने के लिए करते है ।” 

आप सोच रहे होंगे कि कुछ लोग अजवाइन के बीज क्यों भूनते हैं। ऐसा करने से सुगंध के साथ-साथ स्वाद भी निखारता है। इसलिए, बहुत से लोग इसे व्यंजन में डालने से पहले इसे घी या मक्खन में भी भूनते हैं।

 अजवाइन के बीज को अधिकतम फायदा पहुंचाने के लिए कच्चा या पानी में भी डालकर खाया जा सकता है खाने के अंदर स्वाद और सुगंध डालना ही इसका एकमात्र उद्देश्य नहीं है  

बैंगलोर स्थित पोषण और कल्याण सलाहकार कहती हैं, “एक उत्कृष्ट पाचन और समृद्ध सुगंध होने के कारण,अजवाइन के बीज आमतौर पर मसालों में जोड़े जाते हैं, रोटी बनाने से पहले आटे में छिड़के जाते हैं या बेकिंग से पहले इसे ब्रेड में डालते हैं। यह फलों में भी खाने से पहले डाले जा सकते है । “

अजवाइन के फायदे और उपयोग – Benefits of Ajwain in Hindi

 यहाँ बालों, त्वचा और स्वास्थ्य के लिए अजवाइन के कुछ लाभ और उपयोग दिए गए हैं:

अपच से तुरंत राहत/पाचन के लिए फायदेमंद हे अजवाइन 

यह अजवाइन के बीज के सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभों में से एक है ,और क्यों आपकी मम्मी इसे कभी भी भोजन में डालना नहीं भूलती है इसका एक ही कारण हे की यह आपके पेट को मजबूत बनता है। अगर हमारा पेट ख़राब होता है तो वह सबसे अधिक हमारी दैनिक दिनचर्या को डिस्ट्रब करता है। अजवाइन में सक्रिय एंजाइम गैस्ट्रिक रस को मुक्त करके हमारे पाचन कार्यों को बढ़ाने में मदद करते हैं। 1 चम्मच जीरा और 1 चम्मच अजवाइन बीज लें और इसमें 1/2 चम्मच अदरक पाउडर मिलाएं। पेट में जलन को ठीक करने के लिए इस मिश्रण को रोजाना पानी के साथ लेना चाहिए। 

सामान्य जुकाम का इलाज करता है

अजवाइन आसानी से बलगम को ठीक करके नाक में ब्लॉकेज (रूकावट )से बचने में मदद करता है। अजवाइन के बीज और गुड़ का पेस्ट तैयार करके इसे गर्म करें और इसे 2 चम्मच दिन में दो बार लेने से बेहतर महसूस होता है। इससे अस्थमा और ब्रोंकाइटिस जैसी श्वसन संबंधी बीमारियों से निपटने में भी मदद मिलती है। माइग्रेन के सिरदर्द से राहत प्रदान करने के लिए, अजवाईन के पाउडर को एक पतले कपड़े में लें और इसे बार-बार सुंगे या अपने तकिए के नीचे रखें।

कान और दांत के दर्द के लिए

एक भयानक कान दर्द को कम करने के लिए, अजवाइन के तेल की दो बूंदें पर्याप्त हैं। दांत-दर्द से तुरंत राहत पाने के लिए, गुनगुने पानी में , 1 चम्मच अजवाइन और नमक के मिश्रण से गार्गल (कुल्ला) करें। बस अजवाइन के बीज के जलने से जो धुँआ निकलता है  उस धुएं की भाप लेना एक दर्द वाले दांत के लिए चमत्कार जैसा होता है । इसके अलावा, यह एक माउथ वॉश के रूप में काम करता है और अच्छी मौखिक स्वच्छता(ओरल  हाइजीन) बनाए रखता है।

घावों की सफाई के लिए

अजवाइन के बीज में थाइमोल(अजवाइन का सत्व) नामक एक घटक एक मजबूत कवकनाशी और रोगाणुनाशक के रूप में कार्य करता है। इस प्रकार, संक्रमण या कट्स का इलाज करने के लिए अजवाईन के बीजों को कुचल कर त्वचा पर लगाया जा सकता है। इसलिए अगर अगली बार आप इस तरह की किसी भी चोट के संपर्क में आते हैं, तो अजवाईन के बीज को अपने बचाव में लाएं।

अजवाइन का पानी 

अजवाइन या ओमा पानी एक आयुर्वेदिक चमत्कार है, खासकर महिलाओं के लिए। यह गर्भवती महिलाओं के लिए गर्भाशय और पेट को साफ करके अपच की समस्या को ठीक करता है और अनियमित पीरियड्स की समस्या को हल करता है। बच्चों को गैस की समस्या को कम करने के लिए अक्सर अजवाइन का पानी दिया जाता है  अजवाइन पानी तैयार करने के लिए, 2 चम्मच भुने हुए अजवाईन के बीजों को पानी में उबालें।  आप स्वाद के लिए 1 चम्मच शहद डाल सकते हैं। नियमित रूप से पानी पीने से मेटाबोलिज्म (चयापचय) की दर को बढ़ाने में मदद मिलती है , इससे फैट जलता है और इस प्रकार वजन कम करने में मदद मिलती है।

बालों को सफ़ेद होने से रोकता है 

अजवाइन के बीज बालों के प्री-मैच्योर ग्रेइंग को रोकने में मदद करते हैं। इस मिश्रण को तैयार करने के लिए, एक कप पानी में करी पत्ता, सूखे अंगूर, चीनी और अजवाईन के बीज डालें और पकाएँ। जब तक आपको परिणाम मिलना शुरू नहीं हो जाते तब तक हर दिन इसका एक गिलास पानी पीना चाहिए

 मच्छर निरोधक

यदि आपका बाजार से खरीदा मच्छर निरोधक काम करने में असफल हो गया है, तो आप इसे घर पर भी बना सकते हैं। कार्डबोर्ड के टुकड़ों पर सरसों के तेल को अजवाइन के बीजों के साथ मिलाकर लगा दे अब आप इन कार्डबोर्ड के टुकड़ो को अपने कमरे के कोनों में  मच्छरों को भगाने के लिए  बाँध सकते हैं-Ajwain in Hindi

त्वचा की सफाई

अजवाइन के पाउडर का मुख्यता उपयोग मुहासे के निशान को हल्का करने में लाया जाता है। जहाँ आपको मुहासे का निशान हे वहा आप इस पेस्ट को १०-१५ मिनट के लिए लगा लीजिये फिर इसे कुनकुने पानी से धो लीजिये | यह एक प्रभावी घरेलू उपाय है यह त्वचा की गंदगी से छुटकारा पाने में भी काफी मदद करता है-Ajwain in Hindi

एलोवेरा फेस पैक

गठिया के दर्द को दूर करता है

अजवाइन के बीज में दो गुण होते हैं जो उन्हें गठिया से लड़ने में मदद करते हैं। उनके पास एंटीबायोटिक गुण हैं जो लालिमा(रेडनेस) को कम करते हैं और सूजन का मुकाबला करते हैं, और उनके पास संवेदनाहारी गुण होते हैं जो दर्द और सूजन को कम करते हैं। घरेलू उपाय के रूप में, आप कुचले हुए बीजों के पेस्ट को जोड़ों पर लगा सकते हैं या अजवाईन के बीज के गर्म पानी में पैर डालकर बैठ सकते है -Ajwain in Hindi

गर्भवती महिलाओं के लिए

भारत में कई गर्भवती महिलाओं को अजवाइन को अपने आहार में शामिल करने की सलाह दी जाती है। गर्भावस्था अक्सर अपने साथ कई गैस्ट्रिक मुद्दों को लेकर आती है जैसे कब्ज और सूजन। इन लक्षणों को दूर करने के लिए अजवाईन के पानी को पीना चाहिए । कई महिलाओं को पाचन और गर्भाशय को साफ करने में मदद करने के लिए अपने प्रसव के बाद अजवाईन का पानी पिने का सुझाव दिया जाता है। -Ajwain in Hindi

नोट: इसके कोई पर्याप्त वैज्ञानिक प्रमाण नहीं हैं, तो इसे आप डॉक्टर द्वारा सलाह लेकर ही सेवन करे 

अजवाइन के नुकसान / दुष्प्रभाव – Side Effects of Ajwain in Hindi

ज्यादातर लोगों के लिए, अजवाइन के बीज सुरक्षित हैं।सामान्य तोर पर आजवाइन का सेवन करने से हमे कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है पर जैसा की सब जानते है किसी भी चीज़ का अतयधीक मात्रा में सेवन करना बहुत ही खतरनाक होता है इसलिए इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से  या किसी जानकर व्यक्ति से एक बार जरूर परामर्श करे 

  • गर्भवती या स्तनपान करने वाली महिलाओं को संभावित स्वास्थ्य दोषों या गर्भपात (1Trusted Source) सहित भ्रूण के स्वास्थ्य पर संभावित खतरनाक प्रभावों के कारण उनसे बचना चाहिए।
  • यदि आप गर्भवती हैं, तो बीज, अर्क, या पाउडर के रूप में अजवाइन के बीज लेने से पहले अपने डॉक्टर के साथ परामर्श करना महत्वपूर्ण है।
  • इसके अतिरिक्त, अजवाइन के बीज का अधिक मात्रा में सेवन करने से  मतली की महत्वपूर्ण रिपोर्ट को नोट किया गया है। इस कारण से, बीज कम मात्रा में खाया जाना चाहिए।
  • मुँह के छाले होने 
  • जलन को महसूस करना 

कुछ और जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 352

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top