Fallopian tube blockage in hindi

Fallopian tube blockage in hindi:फेलोपियन ट्यूब में रुकावट

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट क्या होता है ?(What is a Fallopian tube blockage in hindi?)

Table of Contents HIDE

फेलोपियन ट्यूब , गर्भाशय के दोनों ओर दो पतली ट्यूब होती हैं जो एक विकसित अंडे को अंडाशय से गर्भाशय तक लाती हैं। यह ट्यूब फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। फर्टिलाइजेशन तब होता है जब विकसित अंडे फैलोपियन ट्यूब से होते हुए गर्भाशय में आ रहे होते हैं।फेलोपियन ट्यूब के बंद होने से अंडे गर्भाशय तक नहीं पहुंच पाते हैं, जिससे फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाती और गर्भधारण नहीं हो पाता है। जब किसी बाधा के कारण महिला के अंडाशय से अंडे गर्भाशय तक नहीं पहुंच पाते हैं, तो कहा जाता है कि उसे “फेलोपियन ट्यूब में रुकावट”(Fallopian tube blockage in hindi) होने की समस्या है। संक्रमण, सर्जरी और बार-बार होने वाले जखम के बाद फेलोपियन ट्यूब में अंदरूनी घावों के कारण फेलोपियन ट्यूब में रुकावट(Fallopian tube blockage in hindi) हो सकती है।आमतौर पर फेलोपियन ट्यूब बंद होने के गर्भधारण करने में समस्या के अलावा कोई लक्षण नहीं होते हैं। कुछ मामलों में, इससे पेट के एक तरफ हल्का, तेज़ या निरंतर दर्द हो सकता है।

अगर आप काफी समय से गर्भधारण नहीं कर पा रही हैं, तो आपके डॉक्टर फेलोपियन ट्यूब में बाधा का निदान कर सकते हैं। गर्भधारण में समस्या के अन्य कारणों के लिए आपको अल्ट्रासाउंड और अन्य परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है।फेलोपियन ट्यूब में रुकावट का इलाज उपलब्ध है लेकिन यह इस पर निर्भर करता है कि रुकावट कितनी है। अगर आपकी दोनों में से एक ट्यूब में रुकावट है, तब भी आप गर्भवती हो सकती हैं क्योंकि ओवुलेशन के दौरान, हर महीने अलग-अलग अंडाशय से अंडा गर्भाशय में आता है। फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के लिए फर्टिलाइजेशन की दवाएं और सर्जरी भी उपलब्ध हैं।

गर्भावस्था के थ्री ट्राइमेस्टर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के क्या लक्षण होते हैं ?(What are the symptoms of blockage in fallopian tubes?)

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के लक्षण निम्नलिखित हैं –
  • आमतौर पर फेलोपियन ट्यूब में रूकावट होने का एकमात्र लक्षण होता है गर्भधारण करने में समस्या होना।
  • कुछ मामलों में, फेलोपियन ट्यूब बंद होने से श्रोणि व पेट में दर्द हो सकता है। यह दर्द हल्का, तेज़ या निरंतर हो सकता है। इससे सम्बंधित दर्द पीरियड्स के दौरान भी हो सकता है।
  • फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के कारणों के अपने लक्षण भी हो सकते हैं। उदाहरण के तौर पर एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) से अक्सर मासिक धर्म में अधिक रक्तस्त्राव और पेट व श्रोणि में ज़्यादा दर्द होता है और यह आपके फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के जोखिम को बढ़ाता है।
  • फेलोपियन ट्यूब में रुकावट बांझपन (प्रजनन क्षमता में कमी) का एक मुख्य कारण है। शुक्राणु व अंडे फैलोपियन ट्यूब में फर्टिलाइजेशन के लिए मिलते हैं, फेलोपियन ट्यूब में रुकावट से फर्टिलाइजेशन में समस्या आ सकती है। 
  • कभी-कभी फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के कारण फर्टिलाइजेशन अंडा कहीं और अटक जाता है जिससे एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (अस्थानिक गर्भावस्था) होती है।
  • अगर किसी महिला को यह आभास होता है कि उन्हें एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (अस्थानिक गर्भावस्था) की समस्या है, तो उन्हें तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
  • एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (अस्थानिक गर्भावस्था) में आमतौर पर कोई लक्षण नहीं होते हैं। हालांकि, कई महिलाओं को इसमें गर्भावस्था के लक्षण हो सकते हैं, जैसे कि पेट के एक तरफ दर्द होना या योनि से रक्तस्त्राव होना।

नीचे दिए गर्भावस्था चार्ट को पढ़िए ,जो आपको प्रेगनेंसी में हैल्थी बनाए रखने में मदद करेगा

गर्भावस्था आहार चार्ट सम्पूर्ण जानकारी

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के क्या कारण होते हैं ?(What causes the Fallopian tube blockage in hindi?)

  • पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज: पी.आई.डी एक ऐसी स्थिति है जिसमें संक्रमण के कारण श्रोणि  में सूजन होती है। यह एक यौन संचारित रोग है जो आपकी फेलोपियन ट्यूब में रुकावट का कारण बन सकता है।
  • एस.टी.डी (यौन संचारित रोग): क्लैमाइडिया या सूजाक (गोनोरिया) जैसे अन्य यौन संचारित रोग के कारण भी फेलोपियन ट्यूब में बाधा उत्पन्न हो सकती है। इन समस्याओं का समाधान होने के बाद भी यह आपकी फेलोपियन ट्यूब में रुकावट पैदा कर सकते हैं।
  • एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता): यह फेलोपियन ट्यूब में रुकावट का सबसे आम कारण है। हर महीने मासिक धर्म चक्र के दौरान, आपके गर्भाशय में एक परत बनती है जो मासिक धरम के दौरान निकल जाती है। एंडोमेट्रिओसिस से ग्रस्त महिलाओं में यह परत गर्भाशय के बाहर फैलने लगती है (कुछ गंभीर मामलों में, फेलोपियन ट्यूब व योनि में)। यह परत मासिक धर्म के दौरान निकलने की जगह जमा होती जाती है जिससे फेलोपियन ट्यूब में रुकावट आ सकती है।
  • सर्जरी: अगर आपकी फेलोपियन ट्यूब से सम्बंधित कोई सर्जरी हुई है, तो आपको फेलोपियन ट्यूब में रुकावट की समस्या हो सकती है।
  • अपेंडिक्स (अपेन्डिसाइटिस): कुछ मामलों में, अपेंडिक्स की समस्याओं के कारण भी फेलोपियन ट्यूब में रुकावट हो सकती है।
  • हॉर्मोन की असामान्यताएं: हॉर्मोन में गड़बड़ी या असामान्यताओं के कारण फेलोपियन ट्यूब में रुकावट की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के बचाव के क्या उपाय होते हैं?(What are the preventive measures in the fallopian tube?)

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट से बचने के लिए निम्नलिखित तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है –
  • शराब के सेवन व धूम्रपान से बचें। 
  •  कहीं और ध्यान लगाने की कोशिश करें क्योंकि इससे तनाव (स्ट्रेस) कम होता है। 
  • योग करें क्योंकि योग के कुछ आसनों से आपके प्रजनन अंगों का स्वास्थ्य सुधरता है।
  • बाहर के खाने का सेवन कम करें। 
  • ताज़ा फल, हरी पत्तेदार सब्ज़ियों और नारियल तेल  को अपनी आहार में शामिल करें, इनमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। खट्टे फल, अंडे, आम और पालक में कैरोटीनॉयड होते हैं जिससे आपके एंजाइम और ब्लड सर्कुलेशन में मदद करते हैं
  • विटामिन सी का सेवन करें क्योंकि इससे सूजन कम करने में मदद मिलती है।

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट के कारण गर्भवती होने में समस्या हो सकती है लेकिन यह नामुमकिन नहीं है।अपनी समस्या के लिए डॉक्टर से अपने उपचार के बारे में बात करें। एक स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखना, अच्छे भोजन का सेवन करना और नियमित व्यायाम करना मददगार साबित हो सकता है।

फेलोपियन ट्यूब में रुकावट का इलाज कैसे होता है ?(How is the fallopian tube obstruction treated?)

  • एक तरफ की फेलोपियन ट्यूब की रुकावट का इलाज मुश्किल नहीं होता है। अगर एक ही तरफ की फेलोपियन ट्यूब में रुकावट है, तो गर्भधारण करने में समस्या नहीं होनी चाहिए क्योंकि अंडे दूसरी फेलोपियन ट्यूब से भी गर्भाशय तक आ सकते हैं। अप्रभावित फेलोपियन ट्यूब के द्वारा अंडे गर्भाशय तक आने की सम्भावना बढ़ाने के लिए कुछ दवाएं भी उपलब्ध हैं।
  • दोनों तरफ की फेलोपियन ट्यूब में रुकावट हो तो बिना उपचार के गर्भवती होना असंभव होता है। अगर फेलोपियन ट्यूब आंशिक रूप से बंद है, तो आप गर्भवती हो सकती हैं लेकिन इसमें एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (अस्थानिक गर्भावस्था) का जोखिम बढ़ सकता है क्योंकि अंडे को गर्भाशय तक जाने की पूरी जगह नहीं मिलती है। इन मामलों में, उपचार के आधार पर डॉक्टर आपको आईवीएफ (टेस्ट ट्यूब बेबी) की सलाह भी दे सकते हैं।
  • अगर दोनों फेलोपियन ट्यूब में रुकावट(Fallopian tube blockage in hindi) है, तो दवाओं से इसका उपचार नहीं हो पाता है। इस मामले में, लैप्रोस्कोपी इसका सबसे सटीक इलाज होता है। कम उम्र की महिलाओं में लैप्रोस्कोपी के सफल होने की अधिक सम्भावना होती है। यह सर्जरी या तो रुकावट को ठीक कर देती है या उस ऊतक को हटा देती है जिसके कारण समस्या हो रही है।

गर्भावस्था के 9 महीनो के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ?,क्या करे -क्या न करे

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 353

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top