eye cancer

Eye cancer(आई कैंसर)?,लक्षण,जोखिम कारक,चिकित्सा उपचार

हमारे शरीर का हर हिस्सा महत्वपूर्ण होता है उसी तरह आंख भी एक महत्वपूर्ण अंग है बिना आंखों के जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है।जैसा कि कहावत है की आंख है तो जहान है। बिना आंखों के इस संसार की हर खुशियां अधूरी सी है। आज हम इस पोस्ट में आंखों में तेजी से बढ़ रहे हैं,कैंसर(Eye cancer) जैसी भयानक बीमारी का कारण और उपायों का विवरण करेंगे।इसी के साथ साथ हम यह भी जानेंगे की आखिर यह बीमारी भारत में इतनी तेजी से क्यों फैल रही है और लोगों को अपना शिकार किस प्रकार बना रही है।

आई कैंसर क्या है (What is Eye Cancer)

आंख के कैंसर को असामान्य कैंसर कहा जाता है और यह इस तरह आपकी आंखों की पलक की मांसपेशियों को खराब कर देता है कि वह दिखने में बहुत ही भद्दा दिखने लगती हैं। दरअसल यह आपकी आंखों के  सारे सेल्स को पूरी तरह से सड़ा देता है। इस कैंसर को नेत्र गोली या अंत राशि कैंसर भी कहा जाता है क्योंकि आंखों के अंदर शुरू होता है। सबसे आम होने वाले आई कैंसर मेलेनोमा और लिंफोमा हैं और बच्चों में सबसे आम कैंसर रेटिनोब्लास्टोमा है जो कि रेटिना की कोशिकाओं में शुरू होता है और उसको खराब कर देता है।

आंख के कैंसर का उपचार के प्रकार कैंसर कितना खतरनाक है और यह कितना फैल चुका है उस पर निर्भर करता है। यह सर्जरी, विक्रण चिकित्सा, ठंडा या गर्म, चिकित्सालय, लेजर थेरेपी से किया जा सकता है।

आई कैंसर के लक्षण क्या है (Synmptoms Of Eye cancer)

  • एक आंख में बिल्कुल कम या फिर धुंधली दृष्टि।
  • किसी भी एक या दोनों आंखों से दिखाई न देना।
  • परितारिका पर एक बढ़ता अंधेरा स्थान।
  • चमकती रोशनी की सनसनी होना।
  • आंखों के केंद्र में अंधेरे सर्कल के आकार में परिवर्तन हो जाना।
  • यह ट्यूमर के रूम में बढ़ता जाता है।
  • जन्म के साथ आंखों में पड़ी झाइयों की अच्छी तरह से जांच करा लेनी चाहिए और डॉक्टर द्वारा सुनिश्चित करवा लेना चाहिए कि यह आई कैंसर जैसी भयानक बीमारी से ग्रस्त तो नहीं है। झाइयों की सुनिश्चित जांच से या निश्चित हो जाता है कि या मैं मेलेनोमा में परिवर्तन ना हो।
  • आईरिस और कांजुक्टिवल ट्यूमर (मेलानोमा) – एक गहरे 

दाग के रूप में बदलते रहते हैं।अगर कोई भी परितारिका व कंजाक्तिवा पर अगर बढ़ रहा हो तो उसकी डॉक्टर द्वारा तुरंत जांच करवा लेना ही अच्छा होता है।

आई कैंसर के जोखिम कारक (Eye Cancer risk factors)

लिखित कार्य को में आई कैंसर की संभावना बहुत बढ़ सकती है:

  • नीली आंखों या हरी आंखों वाले लोग।
  • सफेद लोग होने के नाते।
  • बड़ी उम्र के लोगों में।
  • डिस्प्ले स्टिक नेवस सिंड्रोम।
  • पराबैगनी प्रकार के संपर्क में होना या आ जाना।

आई कैंसर से निवारण (Treatment For Eye Cancer)

  • दिन के मध्य के दौरान सूर्य से हर तरीके से बचें
  • सनस्क्रीन वर्षभर पहने
  • सुरक्षात्मक कपड़े पहने

आई कैंसर के निदान के लिए प्रयोगशाला परीक्षण और प्रक्रियाएं (Medical Treatment For Eye cancer)

नेत्र परीक्षा

आंखें बाहर की जांच करने और बड़े हुए रक्त कोशिकाओं की तलाश करना।

नेत्र अल्ट्रासाउंड

आंख की छवियों का उत्पादन करने के लिए।

एंजियोग्राफी

  • आंख मेलानोमा का पता लगाने के लिए
  • पूरी तरीके से अपने चेहरे को अच्छी तरह धोना चाहिए।
  • सूजन से बचने के लिए आंखों को अच्छी तरह साफ सुथरा रखें साफ पानी से धोएं और आंखों से मेकअप हटा दे सोने से पहले। 
  • आपको आंखों की सूजन से बचने के लिए विभिन्न तरह के उपाय करने चाहिए क्योंकि आंखों की सूजन बहुत ही भयानक होती है। सूजन से बचने के लिए आपको डॉक्टर की सलाह अनुसार उपायों को अच्छी तरह से करना चाहिए।
  • लेजर लाइट द्वारा डॉक्टर इस कैंसर का इलाज करते हैं
  • इरिदेक्टोमी – परितारिका के प्रभावित डॉक्टर सावधानी से हटाते हैं।
  • कोरोदेक्टोमी -रंजितपटल परत को हटाना रेटिना की सुरक्षा करना।
  • इरिदोच्क्ले क्टोमी – आईरिस वह रोमक देह को हटाना दिया जाता है।
  • आईबॉल विभाजन – ट्यूमर को हटाने के लिए आंख को
  • काटकर, मेलेनोमा वह ऑपरेशन करना बहुत मुश्किल हो जाता है।

आंखों का कैंसर देशभर में काफी तेजी से बढ़ रहा है। इस कैंसर से बच्चे बड़े सभी काफी प्रभावित होते जा रहे हैं या बहुत ही भयानक रूप लेता जा रहा है पिछले वर्ष के हिसाब से अगर हम अंदाजा लगाएं तो या कैंसर काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है।

यह कैंसर बहुत ही घातक होते हैं शरीर को पूरी तरह से हानि पहुंचाते हैं। आई कैंसर से बचने के लिए डॉक्टर ने विभिन्न विभिन्न प्रकार के रेडिएशन थेरेपी से लेकर कई ऑपरेशन से इस बीमारी को पूर्ण रूप से नष्ट करने की कोशिश की है। हमने अपनी इस पोस्ट में आई कैंसर किस प्रकार होता है आई कैंसर होने के कारण लक्षण और उपाय सभी प्रकार की जानकारियां हमने आपको अपनी इस पोस्ट के जरिए दी है और कैंसर आई से जुड़े सभी आशंकाओं को दूर करने का पूरा प्रयास किया है।

कैंसर के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण जानकारिया

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 330

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top