Domstal Baby Drop in Hindi

Domstal Baby Drop in Hindi:डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स की सम्पूर्ण जानकारी

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स की जानकारी:Information about Domstal Baby Oral Drops

Table of Contents HIDE

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स(Domstal Baby Drop in Hindi), डोपमीन के ख़िलाफ़ के एक वर्ग में गिना जाता है। देखा जाए तो, अहम रूप से यह ऐसे लोगों को दिया जाता है, जो एक गैसट्रो-इंटेस्टैनल बीमारी, जिसे हम ‘जठरांत्र’ के नाम से भी जानते हैं, उस बीमारी के रोगियों को दिया जाता है।

यह दवाई गोलियों के रूप में भी उपलब्ध होता है। इसे लेने का सिर्फ़ मौखिक तरीक़ा ही होता है।

आमतौर पर इस दवा को भोजन करने के पंद्रह से तीस मिनट पहले ही लेना चाहिए। वो इसलिए क्योंकि तभी ये आपको भोजन को जल्दी पचा पाने में सहायता करता है।

 अगर थोड़े समय के उपयोग बाद, आपको लगता है कि इसको लेने से आपको कोई सहायता नहीं मिल रही, तो इसको लेना बंद करें और जाकर अपने चिकित्सक को सूचित करें। वही आपको आगे क्या करना है, उस बारे में बताएगा।

कैसे उपलब्ध है बाज़ार में, डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स:

  • डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स एक दवा के रूप में, बाज़ार में दो रूप में मिलती है:
    • डोमस्टाल सिरप (domstal baby syrup use in hindi)
    • डोमस्टाल टैबलेट | डोमस्टाल 10Mg टैबलेट और डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स 5ML

तो चलिए, इस लेख में हम जानते हैं कि इस दवा के क्या-क्या फ़ायदे और दुशप्रभाव होते हैं।

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स का उपयोग कब करें: When to use Domstal Baby Oral Drops-Domstal Baby Drop Uses in Hindi

इस दवाई का उपयोग आप तब कर सकते हैं, जब आपको यह निम्नलिखित बीमारियाँ हो:

  • गैस
  • मितली
  • उलटी
  • खट्टी डकार
  • दिल में जलन
  • पेट की पूर्णता

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स के फ़ायदे: Domstal Baby Drop Benefits:Domstal Baby Drop in Hindi

  • यह दवा गैस ट्रो इंटेस्टैनल बीमारियों को ठीक कर, पाचन की क्रिया तो ठीक करता ही है, पर साथ में यह मत्तलि और उल्टी जैसी दिक्कतों से भी लड़ता है।
  • डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स उन लोगों को भी दिया जाता है, जो कि पर्किंसोंस रोग के मरीज़ होते हैं।
  • यह दवा मत्तलि और उल्टी जैसी समस्याओं को रोकने के लिए इसलिए कामगार है, क्योंकि यह पाचन क्रिया की शुरुआत में, मुँह के आस-पास की मांसपेशियाँ को जितना जकड़ता है, उतना ही यह आंत की मांसपेशियों को ढीला छोड़ता है।
  • इसके साथ-साथ, ये दवा मस्तिष्क में स्थित उल्टी के केंद्र को भी नियंत्रित करती है, जिसकी वजह से मत्तलि की भावना भी ठीक हो जाती है।

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स के दुष्प्रभाव: Domstal Baby Drop Side Effects in Hindi

  • वैसे डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स के काफ़ी सारे दुष्प्रभाव होते हैं, पर यह ज़रूरी नहीं कि यह सब हमेशा ही दिखे। यह साइड-इफ़ेक्ट हर मरीज़ पर अलग-अलग प्रभाव डालते होंगे। आप इन दुष्प्रभावों को ध्यान से देखें, और यदि आपको इनमे से किसी का भी अनुभव हो, तो तुरंत ही अपने चिकित्सक से सम्पर्क करें:
  • दस्त
  • सिर दर्द
  • खुजली
  • पेट दर्द
  • चकत्ता
  • स्तन की पीड़ा 
  • मासिक धर्म में रुकावट
  • मनोवस्था की समस्याएँ
  • नींद की कमी
  • ज़्यादा ग़र्मी  लगना

यदि आपको कोई ऐसा दुष्प्रभाव आता है, जो कि ऊपर सूची में नहीं है, तो तुरंत ही अपने चिकित्सक के  या अपने मेडिकल स्टोर के सम्पर्क में आएँ ।

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स की अहम विशेषताएँ:Important features of Domstal Baby Oral Drops

  • इस दवा का असर क़रीब  6 घंटे तक रहता है।
  • इस दवा का प्रभाव, दवा लेने के तीस मिनट से लेकर एक घंटे में कभी भी होना शुरू होजाता है।
  • अब तक जितने लोगों ने इस दवाई का उपयोग किया है, उनमे इसकी आदत पढ़ने का रुझान नहीं देखा गया है।
  • इस दवा को शराब के साथ लेना बिलकुल सयरक्षित नहीं है। और आप जैसे ही लक्षणों को महसूस करते हैं, तो झट से अपने चिकित्सक के पास जाएँ।
  • वैसे, यह दवा गर्भवती महिलाओं के लिए भी सेफ़ या सुरक्षित नहीं है, क्योंकि यह भ्रूण पर असर डाल सकता है।
  • यह दवा स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी सुरक्षित नहीं होती है, क्योंकि यह शिशु पर भी असर डाल सकती है।
  • आप अब तक तो जान ही गए होंगे, कि टैब्लेट के कुछ दुष्प्रभावों नींद आना भी शामिल होता है, टैबलेट लेने के बाद गाड़ी चलाना या भारी मशीनरी चलना उचित नहीं होगा।
  • यह दवा किड्नी की प्रणाली पर भी असर डाल सकता है। तो जिन मरीज़ों के किड्नी की कार्यप्रणाली में दिक्कत आइ हुई है, उन्हें इस टैबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए।  इस दवा से किड्नी की दिक्कतें और ज़्यादा बढ़ सकती हैं।
  • यह दवा लिवर फ़ंक्शन को भी प्रभावित कर सकता है क्योंकि जिन मरीज़ों के लिवर  की कार्यप्रणाली पहले से ही बिगड़ी हुई है, उन्हें इस टैबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे लिवर की दिक्कतें बढ़ती हैं,और एक बहुत ख़तरनाक भी हो सकता है। इसमें लिवर के फैल या विफल होने की सम्भावना भी होती है।

डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स की खुराक:Domstal Baby Oral Drops Supplements

  • कोई खुराक भूल जाने पर:

अगर आप किसी भी समय की खुराक भूल जाएँ, तो याद आने पर तुरंत ही आपको वो खुराक ले लेनी चाहिए।

  • ज़्यादा मात्रा में खुराक लेने पर:

अगर आपने ग़लती से अपने टैब्लेट की ज़्यादा खुराक ले ली है, तो आपको तुरंत ही अपने चिकित्सक को सम्पर्क करना है। यह इसलिए क्योंकि ज़्यादा खुराक लेने से दिल का तेज़ धड़कना, कमज़ोरी, बेहोशी इत्यादि भी शामिल है।

  • डोमस्टाल बेबी ओरल ड्रॉप्स के इंटरैक्शन:
  • एक से ज़्यादा टैब्लेट या दवाई लेने पर, हमेशा दवाई का किसी खाद्य-सामग्री या पेय-पदार्थों के साथ मिलने पर एक ख़तरा रहता है, उस पदार्थ के साथ दवाई के पारस्परिक क्रिया करने का। हम इस क्रिया को इंटरैक्शन भी कहते हैं।
इंटरैक्शन, रोग के साथ:Disease

इसमें कुछ बीमारियों के साथ नेगेटिव या नकारात्मक प्रतिक्रिया हो सकती है। इनमें दमा, गुर्दा का बिगड़ी हुआ सिस्टम और गैस्ट्रो-इंटेस्टाइनल बीमारियाँ भी शामिल हैं।

इंटरैक्शन, दवाओं के साथ: Medicine

अगर यह दवाई शराब के साथ ली जाए,तो यह रोगियों के पेट में जाकर, पेट के अल्सर और ख़ून का सिक्रीशन को भी बढ़ावा दे सकते हैं, जो कि जानलेवा हो सकते हैं।

डोमस्टाल बेबी ड्रॉप्स से सावधानियां :Domstal Baby Drop Precautions in Hindi

आप जब भी इस टैब्लेट को खाना शुरू करें, तो ज़रूरी है की आप पहले अपने चिकित्सक को सूचित करें। आप चिकित्सक को आपकी अब तक की बीमारियाँ, उसकी दवाइयाँ, आपकी ऐलर्जी और आपकी अन्य स्वास्थ्य स्थिति के बारे में बताएँ। सदा अपने चिकित्सक के दिशा-निर्देशों  और पैक के ऊपर प्रिंट किए निर्देशों का भी पालन करें। यदि दवाई के कुछ समय के खाने के बाद भी आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा, और उलटा वो और बिगड़ रहा है, तो तुरंत ही अपने चिकित्सक को सूचित करें। कुछ ज़रूरी बिन्दु नीचे दिए गए हैं, कृपया उन पर ध्यान दें:

  • इस टैब्लेट का सेवन खाना  खाने के 1 घंटे पूर्व, या खाने  के 2 घंटे बाद ही करें ।
  • यदि आपको मधुमेह है, या दिल की कोई बीमारी है, तो इस दवा को लेना शुरू करने से पहले, एक बार चिकित्सक से ज़रूर मिलें।
  • इस टैब्लेट के उपयोग के दौरान शराब को न छुएँ।
  • यदि आपको इसमें उपस्थित  तत्वों से एलर्जी है, तो फिर इसका उपयोग न करें। और डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।
  • यदि आप शिशु को दूध पिला रहे हों, तो स्तनपान के दौरान, इस ड्रॉप के उपयोग से पहले चिकित्सक की  सलाह जरूर लें।
  • गर्भावस्था के समय, इस दवा के उपयोग करने की सलाह ली जाती है। अगर आप और ज़्यादा जानकारी जानना चाहते हैं, तो चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें।
  • यदि आप पहले से ही हिसि विटामिन सप्लमेंट का उपयोग करते हैं, तो इस दवा को शुरू करने से पहले, एक बार अपने चिकित्सक को ज़रूर सूचित करें।
  • ब्च्चों के लिए इस टैब्लेट या दवा का उपयोग बिलकुल न करें।
  • यदि आपको रक्तचाप की समस्या है या फिर दिल की कोई भी बीमारी है, तो इस दवाई का उपयोग ना करें।
  • किड्नी या गुर्दे से पीड़ित कोई भी रोगी इस दवाई का सेवन ना ही करें तो बेहतर होगा।
  • पौटेशियम की कमी या फिर उसकी अधिकता, या फिर मैगनीशियम की कमी से पीड़ित रोगियों को इस दवा का उपयोग नहीं करना चाहिए।

कुछ और जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 320

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top