Domperidone Tablet in hindi

Domperidone Tablet in hindi :डोमपेरिडॉन टैबलेट क्या है इसकी सम्पूर्ण जानकारी

डोमपेरिडॉन टैबलेट की जानकारी: What is Domperidone Tablet in hindi

Table of Contents HIDE

इस दवा को ‘डोपामीन-ऐंटैगनिस्ट’ भी कहते हैं। इसका सामान्य भाषा में मतलब है, उल्टी को, मत्तलि को रोक कर, अच्छा अनुभव करवाने वाली दवा। इसका काम होता है, पेट को खाली कर, खाने को बड़ी आंत में पहुँचा देना । इस प्रक्रिया के बाद उल्टी, मत्तलि और ऐसी दिक्कतें बंद हो जाती हैं।-Domperidone Tablet in hindi

  • इस दवा को लेने के बाद,  यह दवा तीस से साठ मिनट के पश्चात ही, अपना असर बताना शुरू करती है। इसका प्रभाव क़रीब छह घंटे तक रहता है। इसी कारण, जब भी डॉक्टर इसे प्रिस्क्राइब करते हैं, तो दिन में तीन बार लेने के निर्देश देते हैं, जिससे कि इसका असर बना रहे।
  • विभिन्न क्षेत्रों में यह दवा अलग-अलग ब्राण्ड नेम के अंदर बिकती है। नीचे दिए हुए कुछ ब्राण्ड नेम, जो लोकप्रिय हैं, यहाँ दिए जा रहे हैं:
  1. डोमस्टाल  DT 
  2. डोम DT 
  3. वोमिसटोप 
  4. एमीटैब
  5. डोमपेरीडॉन

डोमपेरीडॉन टैबलेट की खुराक: Domperidone tablet supplements

  • वयस्कों के लिए इस दवा को, 10 मिलीग्राम या 20 मिलीग्राम को ही लिया जाता है, क्योंकि यही इसके इस्तेमाल की  सही मात्रा होती है। चिकित्सक इसको दिन में तीन से चार बार लेने का निर्देश देते हैं। सबसे ज़्यादा खुराक, प्रतिदिन में 80 मिलीग्राम की होती है। इससे अधिक लेना आपके लिए  हानिकारक हो सकता है। 
  • पर बच्चों के लिए, यह सिरप और ड्रॉप फ़ॉर्म में भी उपलब्ध होता है। ड्रॉप फ़ॉर्म में स्ट्रेंठ, एक मिल्ग्राम/मिलीलीटर में होती है। वहीं सिरप में, इस दवा की स्ट्रेंठ 5 मिलीग्राम/ 500 मिलीलीटर में मौजूद होता है। उससे लेकर 10 मिलीग्राम , प्रति 500 मिली लीटर में यह मौजूद होता है। यह दवा बच्चों को दी जाती है, जब उन्हें उल्टी या मत्तलि महसूस हो रही हो। 

डोमपेरिडॉन टैबलेट के फ़ायदे और उपयोग: Domperidone Tablet benefits and uses in hindi

  • डोमपेरिडोन एक ऐसी विशेष टेबलेट है, जो पेट और बड़ी आंत में पहले जगह  बनाती है और फिर, उसमें हलचल  करवाती  है। 
  • ज़्यादातर, यह दवा पार्किंसंस रोग(Parkinson’s disease) के इलाज में, उपयोग की जाने वाली दवाओं में है। यह उस समय होने वाली उल्टी और मत्तलि का इलाज करती है। उनके साथ, यह और दिक्कतें, जैसे की जी के घबराहट का भी समाधान करती है। इनके  जैसी सभी दिक्कातों के इलाज के लिए भी, डोमपेरिडॉन का उपयोग  किया जाता है।

डोमपेरिडॉन टैबलेट से क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं? :Side effects of domperidone Tablet in hindi

डोमपेरिडोन को इस्तेमाल करने से कुछ दुष्प्रभाव उत्पन्न हो सकते हैं, जिनके इलाज की लिए, सामान्य रूप से, किसी ख़ास दवा की आवश्यकता नही होती है। समय के साथ, जैसे आपके शरीर को इस दवा की आदत पड़ती है, वैसे वो इससे सही प्रकार से समायोजित होने लगता है। उसके साथ यह दुष्प्रभाव, आराम से कम होने लगते हैं। आपके चिकित्सक, आपको इन साइड-इफ़ेक्ट से, सुरक्षित रहने के तरीक़े ज़रूर बता सकते हैं। यदि आपका नीचे दिए गए किसी भी दुष्प्रभाव से सामना पड़ा, तो आप जल्द से जल्द, अपने चिकित्सक को सूचित करें। सामान्य रूप से होने वाले साइड-इफ़ेक्ट, यह रहे:

इनके सबके अलावा, कुछ दुर्लभ मामलों में, निम्नलिखित दुष्प्रभाव भी देखे जा चुके हैं।  आइए, हम आपसे उनकी बातें करते हैं:

  • पेशाब करते समय जलन का अनुभव 
  • भूख के लेवल में परिवर्तन 
  • क़ब्ज़ या एसिडीटी होना 
  • बात करने में समस्या का अनुभव होना
  • सर चकराना 
  • चिड़चिड़ेपन का अनुभव 
  • शारीरिक निर्बलता 
  • पाँव में ऐंठन
  • जी घबराना 
  • यदि किसी रोगी की रेडीओथेरपी  या कीमोथेरपी  चल रही है, तो उस दौरान भी यह दवा उसे दी जाती है।
  • अगर  आपको इस दवा से कैसी भी ऐलर्जी हो, या कोई ऐसी दवा ले रहे हैं जिससे ऐलर्जी हो सकती है, या आपके आंत में व पेट में ख़ून निकालने का कोई रोग हो, या कोई भी हृदय या कार्डीऐक रोग हो, तो ऐसे मौक़ों पर, डोमपेरिडोन लेने से पहले, आपको एक बार अपने चिकित्सक से सलाह ज़रूर करनी चाहिए। इसके अलावा, यदि  आपका कोई और दवा या रोग चल रहा हो, तब भी, आप इस दवा को,  अपने चिकित्सक की सलाह के बिना ना लें।

कौन सी दवाएं डोमपेरिडॉन के साथ, परस्पर क्रिया कर सकती हैं

किसी भी संभावित दवा के रिएक्शन से बचने के लिए, आपको उन सभी दवाओं की एक सूची बना के रखनी चाहिए, जिनका आप इस्तेमाल कर रहे हैं। इनमें, चिकित्सक के दिशा-निर्देश की दवाएं और बिना पर्चे वाली दवाइयां, दोनो शामिल हैं। 

इसे अपने चिकित्सक और केमिस्ट के साथ शेर करें। आप अपने चिकित्सक  की  सलाह पर ही, डोमपेरिडोन के साथ, किसी और दवा का इस्तेमाल करें। अपने बचाव के लिए, अपने चिकित्सक की इजाज़त के बिना, किसी भी दवा की खुराक को परिवर्तित ना करें, अहम रूप से, नीचे दी गयी दवाओं की :

  • एमिफ्रामप्रिडीन 
  • बीप्रिडिल
  • सिसप्राइड
  • ड्रोनडेरोन
  • फ्लुकोनाजोल
  • केटोकोनाजोल
  • मेसोरिडाजिज
  • पिमोजाइड
  • पिपेरेक्वाइन
  • पॉसकोनाजोल
  • सॉक्विनवीर
  • स्क्वैरविर
  • थिओरिडाजीन
  • जिप्रासीडोन

कुछ प्रकार की दवाएं, इस दवा के साथ, परस्पर क्रिया कर सकती हैं। इन दवाओं पर भी ध्यान दें, जैसे :

  • एंटी-हाइपरटेन्सिव
  • एंटी-पार्किंसोन ड्रग्स
  • एंटी-एंजायटी ड्रग्स
  • एंटी-डिप्रेसेंट
  • एंटी-प्लेटलेट ड्रग्स
  • एंटी-रेट्रोवाइरल ड्रग्स
  • एंटीबायोटिक्स
  • एंटीफंगल
  • एंटी-मलेरियल दवाएं
  • एंटी-साइकोटिक ड्रग्स
  • अल्फा ब्लॉकर्स
  • कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स

डोमपेरिडॉन को कैसे स्टोर करें:How to store domperidone Tablet in hindi

  • इस दवा  को सीधे सूरज की रोशनी और कमरे के तापमान पर, गीलेपन से दूर, कहीं भी रखा जा सकता हैं। इन गोलियों को कभी भी, गूसलखाने  या फ्रिज में रखने की ग़लती ना करें। 
  • इनके विभिन्न ब्रांड हो सकते हैं, जिनको स्टोर करने का तरीके अलग-अलग हो सकते हैं। 
  • भंडकारन या स्टॉरिज से जुड़े दिशा-निर्देशों के लिए, आप सदा इन गोलियों के पैक पर छपे निर्देशों को सही लिहाज़ से पढ़ें। आप यदि इसके संदर्भ में और जानना चाहते हैं, तो अपने केमिस्ट से ज़रूर पूछें। 
  • सावधानी के लिए, आप अपनी  सभी दवाओं को बच्चों और पालतू पशुओं की पहुँच से दूर ही रखें।
  • टॉयलेट में कभी भी, डोमपेरिडॉन की गोली को फ्लश न करें, और  ना ही उन्हें किसी खुली नाली में फेंकें। गोली के एक्स्पायर होने के बाद, या ज़रूरत ना होने पर ही, इसे फेकें।

डोमपेरिडॉन का इस्तेमाल करने से पहले, मरीज़ को यह सारी चीज़ें मालूम होनी चाहिए:

यदि आपको नीचे दिए गयी किसी भी बिन्दु पर कोई भी शंका हो, तो  इस दवा के सेवन से पहले अपने चिकित्सक से ज़रूर पूछें:

  • अगर आपको डोमपेरिडॉन या उसके किसी और मेल से तकलीफ़ या ऐलर्जी है, तो इस औषधि का इस्तेमाल करने से पहले, अपने चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें। 
  • एलर्जी के विशिष्ट गुणों में, बदन पर दाने उभर आना, और भोजन निगलने या सांस लेने में दिक्कत होना। इसमें होंठ, शक़्ल, गले या ज़बान में फुलाव देखा जा सकता है।
  • पिट्यूटरी ग्लैंड का ट्यूमर, ‘प्रोलैक्टिनोमा’ नाम से भी जाना जाता है।
  • यदि आपके आंत में ऐंठन होती है, या मल से रक्त आता है, तो यह पेट या अंताड़ी में होने वाली, एक ख़तरनाक रोग का पहला पड़ाव हो सकता है। आप कृपया जाँच करवाएँ।
  • अगर आपको जिगर या लिवर में कोई दिक्कत हो, तो भी आप इस्तेमाल से पहले ध्यान दें।
क्या प्रेग्नन्सी या गर्भावस्था, या स्तनपान के समय, डोमपेरिडॉन का सेवन सुरक्षित है?
  • प्रेग्नन्सी या स्तनपान के समय, डोमपेरिडॉन का इस्तेमाल के कितने रिस्क होते हैं, इस बारे में अभी तक कोई सही शोध हमारे पास उपस्थित नहीं हैं। डॉमपेरिडॉन के इस्तेमाल से पहले, कौनसे फ़ायदे और कौनसी हानियाँ हो सकती हैं, इनको जानने के लिए, सदा अपने चिकित्सक के निर्देश लें। 
  • एफडीए (FDA- फ़ूड एंड ड्रग अड्मिनिस्ट्रेशन) कहता है ,  कि डोमपेरिडॉन को प्रेगनंसी गर्भावस्था की आशंका में, ‘C’ वर्ग में रखा गया है।

एफडीए की गर्भावस्था में आशंका के वर्गों को, हम आपको, यहाँ नीचे दे रहे है। देखिए :

A = कोई रिस्क नहीं

B = थोड़े शोधों में, इसका कोई रिस्क नहीं

C = इसका थोड़ा रिस्क हो सकता है

D = आम रिस्क से ज़्यादा 

X = परस्पर विरोध हो सकता है

N = अनजान 

नोट: कभी भी सेल्फ़-मेडिकशन या ख़ुद की मर्ज़ी से इस दवा का इस्तेमाल, ना शुरू करे दें। कृपया करके अपने नज़दीकी चिकित्सक, या मेडिकल स्टोर पर सलाह अवश्य लें। 

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी


मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 439

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top