Cyra d tablet in hindi

Cyra d tablet in hindi:साइरा-डी टैबलेट की जानकारी,इसके फायदे, उपयोग और नुकसान

साइरा-डी टैब्लेट की जानकारी:

  • साइरा-डी टैबलेट का इस्तेमाल मतली, उलटी, गैस और भी अन्य स्थितियों के इलाज में किया जाता है।
  • सायरा डी का पेट संबंधी समस्या जैसे कि स्टमक में जिसे हम ‘असिडिटी’ कहते हैं, हार्टबर्न, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स रोग, हैवी ब्लॉटिंग आदि समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। सायरा डी का इस्तेमाल गैस्ट्रिक अल्सर, आंत में अल्सर की समस्या, पाचन में समस्या में भी किया जाता है। 
  • आप कह सकते हैं कि सायरा डी ड्रग का इस्तेमाल पेट की कई दिक्कातों को दूर करने के लिए किया जाता है। पेट संबंधी  कोई भी समस्या हो तो आपके चिकित्सक  आपको सायरा डी लेने की सलाह दे सकते हैं। 
  • आपका चिकित्सक और समस्याओं में भी इसका सेवन करने की सलाह दे सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

साइरा-डी टैब्लेट की संरचना:

  • साइरा-डी टैबलेट के अंदर 20 मि.ग्रा. रैबेप्राजोल सोडियम और 30 मि.ग्रा. डोम्परिडोन होता है। 
  • रैबेप्राजोल एसिड के बहने के अंतिम चरण को रोक देता है, और डोम्परिडोन के अंदर मौजूद प्रोकोनेटिक पेट को खाली भी कर देता है। अब हम आपको इस लेख में साइरा-डी टैबलेट के फ़ायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में बताएँगे।
  • सायरा डी अहम रूप से रबेप्रेजॉल सोडियम और डॉमपेरिडोन का संयोजन है।
  1. रबप्राजोल सोडियम -20mg
  2. डॉमपेरिडोन– 30mg

साइरा-डी टैब्लेट के फ़ायदे: Cyra D Tablet Benefits & Uses in Hindi

साइरा-डी टैबलेट के निम्नलिखित फ़ायदे और उपयोग होते हैं:– (Cyra d tablet in hindi)

  • दिल की जलन
  • पेट में अल्सर
  • रेगुरगिटेशन
  • मतली, उलटी
  • गैस 
  • गर्ड
  • पेट में सूजन
  • हर्निया
  • पेट दर्द 
  • बदहजमी
  • प्रेग्नेंसी में एसिडिटी
  • जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम

साइरा-डी टैबलेट का उपयोग:

  • साइरा-डी टैबलेट बाजार में कैप्सूल के रूप में मौजूद रहती है। इस टैबलेट को एक बार में पानी से निगलकर लेना चाहिए। 
  • भोजन से 30 मिनट पहले इस टैबलेट का सेवन कर लेना चाहिए। इसकी खुराक को हमेशा डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही लेना चाहिए।
  • किसी भी दवाई  का उपयोग करने के समय आप दवा के पैकेट पर छपे दिशा- निर्देशों को जरूर पढ़ें। ऐसा करने से आपको इसके उपयोग के बारे में जानकारी के साथ,  दवा की एक्सपायरी डेट का भी पता चल जाएगा। यदि आपके पेट में समस्या है तो पहले चिकित्सक को दिखाएं। चिकित्सक आपको जांच के बाद बताएगा कि आपको सायरा डी  टेबलेट का इस्तेमाल करना है या फिर सायरा डी  इंजेक्शन का।
  • सायरा डी टेबलेट दिन में दो बार ही खाने की सलाह दी जाती है। एक गोली सुबह और दूसरी गोली शाम को। आपको दवा खाली पेट खानी है या फिर नाश्ते के बाद, इस बारे में चिकित्सक से जानकारी जरूर लें। इसे आप ज़रूर  पानी के साथ सुबह और शाम को खाएं।
  • सायरा डी का इस्तेमाल  गैस्ट्रोइंटस्टाइन हालत को ठीक करने के लिए किया जाता है। हार्टबर्न के साथ ही इसके और भी किसी और समस्या होने पर इस को लेने की सलाह दी जाती है। जब छाती या गले में जलन की फ़ीलिंग हो, या फिर कातते ज़ायक़े का अनुभव हो तो तुरंत चिकित्सक को दिखाएं। ऐसी स्थित में पेट में ज़्यादा  मात्रा में गैस बनने लगती है। कुछ लोगों के छोटी आंतमें घाव की स्थिति भी बन जाती है और जीवाणुओं का भी हमला हो सकता है। इस वजह से छोटी आंत में अल्सर बन जाता है। इन्हीं वजहों से पेट में ज़्यादा गैस बनने लगती है। जोलिंगर-एलिसन सिंड्रोम भी इन्हीं में शामिल है। सायरा डी ड्रग का इस्तेमाल  करने से इन समस्याओं से आराम मिलता है।

साइरा-डी टैबलेट की सावधनियां:  Precautions of Cyra D Tablet in Hindi

आप जब भी साइरा-डी टैबलेट का इस्तेमाल करें उससे पहले अपने चिकित्सक को अपनी पुरानी बीमारियों, एलर्जी जैसी सेहत की स्थितियों के बारे में ज़रूर बताये। हमेशा अपने चिकित्सक के कहे अनुसार ही दवाइयों का सेवन करें और दवाई के पीछे लिखे हुए निर्देशों का पालन करें। अगर आपकी सेहत में कोई सुधार नहीं हो रहा है, या आपकी स्तिथि ज्यादा ख़राब है तो तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

  • दिल की बीमारी वाले रोगी इस टैबलेट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।
  • ग्लूकोज़ की बीमारी वाले रोगी डॉक्टर के अनुसार ही दवाई को लें।
  • गर्भवती या स्तनपान करने वालीं या उसकी योजना बनाने वाली महिला इस दवाई का इस्तेमाल न करें।
  • 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चे इस दवा का सेवन न करें।
  • गुर्दे या किड्नी की बीमारी से ग्रसित रोगी भी साइरा-डी टैबलेट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की परामर्श लें।

साइरा-डी टैबलेट के दुष्प्रभाव: Side Effects of Cyra D Tablet in Hindi

वैसे साइरा-डी टैबलेट के काफ़ी सारे दुष्प्रभाव  होते है, लेकिन ये सारे हमेशा नहीं होते है। कुछ साइड-इफ़ेक्ट दुर्लभ होते है और बहुत बार हमारे लिए गंभीर भी हो जाते है। यदि आपको किसी ऐसे दुष्प्रभाव का पता चलता है जो नीचे सूचि में नहीं बताया गया है, तो आप तुरंत अपने चिकित्सक से बात करें:

  • क़ब्ज़ 
  • अनिंद्रा
  • खुजली
  • चकत्ते
  • सरदर्द 
  • चक्कर आना
  • घबराहट
  • पेट में गैस
  • हदय में तकलीफ
  • पेटदर्द
  • सांस लेने में तकलीफ
  • स्तन दर्द और कोमलता

डोसेज: How to Take Cyra D Tablet in Hindi

  •  वयस्कों के लिए:

सायरा डी की खुराक कैप्सूल, टेबलेट और इंजेक्शन तीनों तरह से दिया जाता है। सायरा डी कैप्सूल प्रोटान पंप इनहिबिटर से सम्बंध रखता है। बीमारी के हिसाब से  चिकित्सक इसके कैप्सूल की एक से दो खुराक लेने को कह सकता है। चिकित्सक  एक टेबलेट या कैप्सूल, सुबह और एक शाम को खाने को भी कह सकता है। बिना चिकित्सक के दिशा-निर्देशों के सायरा डी का सेवन न करें, क्योंकि चिकित्सक जांच के बाद ही दवा के सेवन की सलाह देता है। 

जरूरत के अनुसार चिकित्सक सायरा डी को इंजेक्शन के रूप में भी दे सकते हैं। इस दवा को बच्चों को लेने की मनाही होती है। आप इस बारे में एक बार अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें। यदि आपको पेट में या सीने में जलन ह तो पहले चिकित्सक से जांच कराएं।

  • वयस्कों के लिए डोज – एक टेबलेट सुबह और एक शाम को।
  • ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में हमें क्या करना चाहिए?– Over Dose of Cyra D Tablet in Hindi

दवा की ओवरडोज की स्थिति में हमें कुछ गम्भीर लक्षण नजर आ सकते हैं। ऐसे में सही होगा कि आप नजदीक के अस्पताल में जाएं और इन लक्षणों के बारे में चिकित्सक  को जानकारी दें। 

खुराक को तय वक़्त पर ही लेने की कोशिश करें और ज़्यादा दवा का सेवन न करें। यदि  आपको दवा भूल जाने की बीमारी है, तो आप दिन में तय समय के हिसाब से मोबाइल में अलार्म लगा सकते हैं। ऐसा करने से आपको दवा सही समय पर लेना याद रहेगा।

  • सायरा डी (Cyra-D ) का डोज मिस हो जाने पर यह करें:

 यदि  आपसे आपकी खुराक मिस हो जाती है, और अगली खुराक लेने में चार घंटे से ज्यादा का समय बाकी है, तो आप छूटी हुई खुराक को ले सकते हैं। 

यदि आपकी छूटी हुई खुराक और अगली खुराक का वक़्त चार घंटे से कम रह गया हो तो बेहतर होगा कि आप पहली डोस को न लें। 

पहले से तय नियमित खुराक को लें। एक बार में दो खुराक ना खाएं।

अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां :

  • खुराक छूटना –

सदा दवाई की खुराक को सही समय पर लेना चाहिए। यदि आप दवाई का सेवन करना भूल जाते है तो याद आने पर तुरंत दवाई का सेवन करें। यदि आपकी अगली खुराक का समय नजदीक है तो छूटी हुई दवा को छोड़ दे और अपना नया शेडूल तैयार करें। अगर आप काफ़ी सारी खुराकें छोड़ चुके है तो छूटी हुई दवाई की भरपाई के लिए अपने चिकित्सक  से संपर्क करें और अपना नया शेडूल तैयार करें।

  • साइरा-डी टैबलेट की अधिक मात्रा: 

कभी भी ज़्यादा मात्रा में दवाई का सेवन न करें। अधिक दवाई के सेवन से आपके लक्षणों को राहत नहीं मिलेगी बल्कि इससे आपकी हालत और ख़राब हो सकती है। यदि आपने हद से अधिक खुराक का सेवन कर लिया है और आपको कोई दुष्प्रभाव महसूस होता है, तो तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सक को अपने लक्षणों के बारे में बताये।

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 349

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top