Boy symptoms in pregnancy in hindi

Boy symptoms in pregnancy in hindi:गर्भ में लड़का होने के क्या लक्षण हैं?

आसान घरेलू तरीके से पता कीजिए की गर्भ में लड़का है(Boy symptoms in pregnancy in hindi) या लड़की।

अगर आप यह सोच रही हैं की कैसे पता लगायें कि पेट में लड़का है या लड़की?तो आप की दुविधा को हम आसान किये देते हैं कुछ आसान तरीकों से आप घर पे ही पता लगा सकती हैं की गर्भ में लड़का है या लड़की!

गर्भावस्था के थ्री ट्राइमेस्टर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

गर्भ मे लड़का होने के लक्षण(Signs of having a baby boy symptoms in pregnancy in hindi)

गर्भवती स्त्री के मन में अक्सर यह जिज्ञासा बनी रहता है की किस तरह पता करें की उसके  गर्भ में लड़का है या लड़की(boy symptoms in pregnancy in hindi)। यह जो घरेलू तरीके हम आप को बताने जा रहे हैं, इनका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। लेकिन पारंपरिक तौर पे भारत में सदियों से इनका इस्तेमाल किया जाता रहा है यह पता करने के लिए की  प्रेगनेंट स्त्री के गर्भ में पल रहा बच्चा लड़की है या लड़का।इन बातों को ढकियनुसी और अन्धविश्वास समझ कर आप ख़ारिज कर सकती हैं। सदियों से लोग इन बातों को आजमा रहे हैं, क्योंकि इसमें कोई सचाई है, अगर इन बातों में सचाई नहीं होती तो क्या लोग सदियों से इनका इस्तेमाल गर्भ में पल रहे बच्चे का लिंग पता करने के लिए करते क्या?

लड़का या लड़की कैसे पैदा होती है? (How is a boy or a girl born)

जीव विज्ञान के मुताबिक, महिलाओं और पुरुषों में दो तरह के सेक्स क्रोमोसोम पाए जाते हैं। महिला के अंडाशय में XX क्रोमोसोम और पुरुष के शुक्राणु में XY क्रोमोसोम होता है। XX क्रोमोसोम लड़की और XY क्रोमोसोम लड़के का लिंग निर्धारित करते हैं। जब पुरुष के शुक्राणु का Y क्रोमोसोम महिला के अंडाशय के X क्रोमोसोम से निषेचित होता है, तो लड़का पैदा होता है।

नीचे दिए गर्भावस्था चार्ट को पढ़िए ,जो आपको प्रेगनेंसी में हैल्थी बनाए रखने में मदद करेगा

Diet chart pregnancy in hindi:गर्भावस्था आहार चार्ट सम्पूर्ण जानकारी

गर्भ में लड़का होने की निशानी(Sign of being a boy symptoms in pregnancy in hindi )

अब हम आप को बताने जा रहे हैं उन लक्षणों के बारे में जिनसे आप प्रेगनेंसी के दौरान स्त्री में होने वाले बदलावों को देख कर इस बात का अनुमान लगा सकते हैं की गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है यह नहीं।

  • गर्भावस्था में उल्टी और मतली आना:- गर्भावस्था में उल्टी और मतली आना एक आम बात है जिसे अंग्रजी में मॉर्निंग सिकनेस भी कहा जाता है। अगर आप गर्भवती अवस्था में हैं और आप को मॉर्निंग सिकनेस  नहीं सता रही है यानि की आप को उल्टी और मतली की परेशानी नहीं होती है या कम होती है तो आप यह अनुमान लगा सकती हैं की आप के गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है। 
  • हृदय गति:-गर्भ में अगर शिशु के ह्रदय की गति दर 140 बीट प्रति मिनट (बीएमपी) है तो यह इस बात का इशारा हो सकता है की आप के गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है। 
  • मुँहासे निकलना:- गर्भावस्था में अगर आप के चेहरे पे ढेर सारे मुँहासे निकल जाएँ तो यह भी इस बात का संकेत हो सकता है की आप की कोख में लड़का है। 
  • कुछ विशेष भोजन के प्रति आकर्षण :-आम तौर पे यह देखा गया है की गर्भावस्था में जिन स्त्रियोँ को खट्टा और नमकीन वाले आहार खाने की तीव्र इच्छा होती थी उन्हों ने लड़कों को जन्म दिया। इस विषय पे कोई आधिकारिक शोध अभी तक नहीं हुआ है। लेकिन यह धारणा आम लोगों में व्याप्त है। 
  • पेट की स्थिति:- भारतीय परंपरा में यह एक बहुत ही आम लक्षण माना जाता है गर्भ में यह पता लगाने के लिए की लड़का है या लड़की। अगर आप गर्भवती हैं और आप के पेट का निचला हिस्सा निकला हुआ है तो आप निश्चित तौर पे यह अनुमान लगा सकती है की आप के गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है
  • व्यक्तित्व में परिवर्तन:- क्या आप को पता है की आप के कोख में पल रहे बच्चे के लिंग का प्रभाव आप के व्यक्तित्व पे पड़ता है। अगर आप की कोख में लड़का है तो आप पे लड़कों के कुछ गुण देखने को मिल जायेंगे। अगर गर्भावस्था में आप का स्वाभाव रोबदार, उत्तेजक और दूसरों पर हावी होने वाला हो तो आप समझ सकती हैं की आप के कोख में लड़का है। जब गर्भवती की कोख में लड़का होता है तो उसके शरीर में टेस्टोस्टेरोन नामक हॉर्मोन का लेवल बढ़ जाता है ताकि शिशु (बालक) का विकास ठीक तरह से हो सके। 
  • मूत्र का रंग:- प्रेगनेंसी में मूत्र का रंग बदलना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। इसमें मूत्र का रंग गाढ़ा हो जाता है। अगर मूत्र का रंग बहुत गाढ़ा हो तो समझना चाहिए की गर्भ में लड़का है। 
  • स्तनों का आकर:- गर्भावस्था में स्तनों का आकर बढ़ना भी बिलकुल स्वाभाविक बात है। स्तनों का आकर इसलिए बढ़ता है ताकि उनमे दूध का उत्पादन हो सके ताकि डिलीवरी के बाद शिशु को माँ के स्तनों से आहार मिल सके। जिन स्त्रियोँ की कोख में लड़का होता है उनका दाएं की तरफ का स्तन आकर में ज्यादा बड़ा हो जाता है। 
  • ठन्डे पैर :- कुछ स्त्रियां अपने पैरों में लगातार ठंडक महसूस करती हैं। यह भी बहुत सटीक लक्षण माना जाता है गर्भ में लड़का होने का। 
  • बालों का उगना:- बालों के बढ़ने की गति से भी गर्भ में लड़का है या लड़की इस बात का पता लगाया जा सकता है। अगर गर्भावस्था के दौरान आप के बाल सामान्य से ज्यादा तेज़ी से से बढ़ रहे हैं तो इसका मतलब हो सकता है की आप के गर्भ में लड़का है।
  • सोने की स्थिति:- गर्भावस्था के दौरान आप यह महसूस करेंगी की आप आसानी से थक जाती हैं। थकान की स्थिति में अगर आप को बाएं तरफ करवट ले के सोने में ज्यादा आराम मिलता है तो इसका मतलब आप की कोख में लड़का है। 
  • सूखे हाँथ :- कुछ स्त्रियोँ में गर्भावस्था के दौरान हाथों की त्वचा के फटने की शिकायत रहती है। लेकिन असल में यह एक लक्षण है जो यह बताता है की गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है। 

गर्भावस्था के 9 महीनो के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ?,क्या करे -क्या न करे

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 435

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top