Betadine Cream in hindi

Betadine Cream in hindi:बीटाडीन क्रीम क्या है? जानिए जानकारी फायदे, लाभ और नुकसान

बीटाडीन क्रीम की जानकारी/बीटाडीन क्रीम क्या है :Betadine Cream Information/What is Betadine Cream

  • बीटाडीन क्रीम एक ऐसा मलहम है, जिसका अहम तत्व ‘पोविडॉन आइयोडीन’ होता
    है। यह फ़ंगल, वाइरल, प्रोटॉज़ोअल और स्पॉर्ज़ जैसे रोगाणुओं के उपचार के लिए
    इस्तेमाल किया जाता है।
  • इस क्रीम का ऐंटिसेप्टिक ‘पोविडोन आयोडीन’ होता है| यह इस नाम (‘पोविडिन
    आइयोडिन’) से भी बाज़ार में मिलता है। यह एक क्रीम या मलहम जो की ‘इक्स्टर्नल
    उसे’ यानी की बाहरी उपयोग के लिए बनायी गयी एक दवा है। क्योंकि यह रंग में
    पीली होती है, इसी कारण इसे कई लोग ‘पीले रंग वाली दवा’ भी कहते हैं।
  • इसका प्रयोग ‘फ़र्स्ट-ऐड’ से लेकर मेजर ट्रीटमेंट, दोनो में किया जाता है।
  • यह क्रीम या मलहम एक एंटीसेप्टिक है जो रोगाणुओं का विरोध करती है। यह
    इन्फ़ेक्शन या पस के बंनने के अवसर को, कम करने के लिए त्वचा पर लगाई जाती
    है|
  • बीटाडीन क्रीम एक ऐसी ऐंटीबायआटिक क्रीम है, जिसका इस्तेमाल शरीर में होने वाले
    कई प्रकार के संक्रमण, चोट या मुँहासे को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह
    संक्रमण या इन्फ़ेक्शन मुख्यतः बेक्टेरियल होते हैं।
  • यह क्रीम सन सन 1963 में बीटाडीन ने पैटेंट कराया और फिर अपने ट्रेड्मार्क के
    तहत मार्केट में निकला। फिर यह अंतराष्ट्रीय बाज़ार में रिलीज़ किया गया । आज यह
    क्रीम, किसी भी मेडिकल स्टोर पर आराम से मिल जाती है।
  • आइए इस लेख से हम जानने की कोशिश करते है, की इस क्रीम का उपयोग कैसे
    करते है और इसमें क्या -क्या फायदे और दुष्प्रभाव होते है।

बीटाडीन क्रीम का निर्माण करने वाली कम्पनी, संरचना,
क़ीमत और और अन्य जानकारियाँ:Betadine cream manufacturing company, structure,
Price and other information

  • बीटाडीन क्रीम का निर्माण करने वाली कम्पनी:
    एरिस्टो फार्मास्यूटिकल्स प्राइवेट लिमिटेड
  •  बीटाडीन क्रीम की संरचना:
    लैक्टोबैसिलस हम्नोसस + लक्टोबेसिलस एसिडोफिलस + सक्रोमायसेस बोउलार्ड +
    बिफीडोबैक्टीरियम लोंगम
  • बीटाडीन क्रीम की प्रिस्क्रिप्शन 
    आवश्यक नहीं
  • बीटाडीन क्रीम बाज़ार में कैसे उपलध होता है: 
    कैप्सूल (यह दस ग्राम से लेकर पाउच, सिरप
  • क़ीमत:
    85 रुपये में 10 टेबलेट्स, या 85 रुपय की ओईंटमेंट।
  • एक्सपायरी :
    निर्माण की तारीख से 24 महीने मतलब, दो साल तक आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • दवा का प्रकार 
    प्रोबायोटिक
  • कहाँ से ख़रीदें:
    यह क्रीम आपको भारत के छोटे-से -छोटे केमिस्ट के पास मिल सकता है।
  • किस नाम में उपलब्ध:

यह अपने जेनेरिक नाम ‘पोविडिन आइयोडीन’ नाम से , या अपने ब्राण्ड नेम ‘बीटाडीन’,
‘वोकाडीन’ में उपलब्ध है। यहाँ एक बात आपको बता दें कि बाज़ार में यह अपने दोनो ब्राण्ड
नाम, ‘बीटाडीन’, ‘वोकाडीन’ में उपलब्ध है और दोनो में कोई भी अंतर नहीं है। इन सब की
एक हाई संरचना होती है और सब एक जैसा ही काम करते हैं।-Betadine Cream in hindi

बीटाडीन क्रीम के फ़ायदे: Betadine Cream Benefits in Hindi

  • जब भी त्वचा ,कहीं कट जाती है या कोई भी चोट या घाव लगे तो इसका इस्तेमाल
    किया जाना चाहिए।
  • कब हाथ जल जाएँ तब भी इसका उपयोग किया जा सकता है। यह चोट लगते ही
    रोगाणुओं को त्वचा पर पनपने से रोगता है। यह छोटे घावों से लेकर बड़ी चोटों पर
    इस्तेमाल होता है।
  • जब आपकी ऊँगली में थोड़ा सा चमध उधर जाए, तब आप इस क्रीम का इस्तेमाल
    करें और वह काटा हुआ भाग ठीक हो जाएगा।
  • यह एक पानी में घुलने वाली ऑंट्मेंट होती है, मतलब आप इस क्रीम को पानी में
    मिलाकर अपने संक्रमण पर भी लगा सकते हैं। जब भी घाव होता है, तो यह क्रीम
    उस घाव में पस बनने से, उसमें नार्कॉटिक टिशू बंनने से रोकती है।
  • इसे फ़र्स्ट-ऐड बॉक्स में प्राथमिकता के रूप में रखा जाना चाहिए। किसी ऑपरेशन से
    पहले, रोगी की त्वचा को इस क्रीम से साफ़ किया जाता है, जिससे कि ऑपरेशन के
    दौरान या उसके बाद, कोई संक्रमण न फैले।
  • यह हर प्रकार के सक्रमण को, जो कि बैक्टीरीयल हो, फ़ंगल हो, वाइरल हो इत्यादि
    को ट्रीट करने के लिए, काम में लाया जाता है।
  • खेलते वक़्त या कहीं गिरने की चोट से लेकर कही जलने के घाव तो यह भरता है ही, पर अगर
    आपके जूते टाइट पहनने पर, एड़ी पर जो घाव बना हो, तो यह उसका इलाज करने के लिए भी
    इस्तेमाल किया जाता है।
  • यदि चेहरे पर या किसी भी अंग में, ‘ऐकने’या मुँहासों से ख़ून बह रहा हो, तो अगर उस बहते हुए
    ख़ून पर, यह क्रीम लगायी जाए, तो वो ख़ून तो बंद होगा ही, पर वो पिम्पल भी ठीक हो जाएगा।

बीटाडीन क्रीम के दुष्प्रभाव या साइड-इफ़ेक्ट: Betadine Cream Side Effects in Hindi

  • सबसे अहम साइड-इफ़ेक्ट जो इस क्रीम के लगते ही देखी जाती है, वो यह है की
    आपकी त्वचा पर सेन्सिटिविटी हो जाती है। आपके घाव पर खुजली से होने लगेगी।
  • निशान आएँगे और जलन होने लगेगी।
  • अगर हम गंभी दुष्प्रभावों को देखें, तो गुर्दे की समस्याएँ आ सकती हैं।
  • आपको थाइरॉड की समस्या हो सकती है और रक्त में अम्ल का स्तर बढ़ सकता है।
    इन सबके अलावा अगर आपको कोई भी अनचाहा असर, जो यहाँ नहीं दिया गया हो, तो
    तुरंत ही दवा को इस्तेमाल करना बंद करें और अपने चिकित्सक से मिलें।

बीटाडीन क्रीम का उपयोग कैसे करें: Betadine Cream Benefits in Hindi

  • जिस जगह आपको घाव या चोट या जला है, उस चोट को पहले साफ़ करें या धो
    लाइन, और फिर उसे सूखा लें। किसी बाहरी पार्टिकल को उस जगह से हटाकर यह
    मलहम या क्रीम लगाएँ।
  • घाव बनने के, तुरंत बाद या जल्द ही लगाने पर, ये अच्छा रिज़ल्ट देती है।
  • आमतौर पर, इसे घाव पर दिन में दो बार लगाया जाता है। पर यदि घाव बहोत हाई गहरा हो तो,
    अपने चिकित्सक या फ़ार्मसिस्ट से ज़रूर सम्पर्क करें।

बीटाडीन क्रीम की सावधानियाँ: Betadine Cream Precautions in Hindi

  • यदि रोगी को पोविडोन आइयोडीन से ऐलर्जी हो, तो उसे इस क्रीम का उपयोग करने
    से बचना चाहिए। यदि रोगी को किसी भी ऐंटीबायआटिक से भी ऐलर्जी हो, तब भी
    उसे इस क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • यदि रोगी को आइयोडीन से भी ऐलर्जी हो, तब भी उसे इसका इस्तेमाल नहीं करना
    चाहिए।
  • यदि किसी गर्भवती महिला के, 8 महीने भी नहीं हुए, तो उसे इस क्रीम के उपयोग से
    पहले, एक बार चिकित्सक की सलाह ज़रूर लेनी चाहिए।
  • स्तनपातन करवाती महिला को भी यह दवा या क्रीम, चिकित्सक को दिखा कर ही,
    उपयोग में लानी चाहिए।

बीटाडीन क्रीम की करवाई कैसे होती है:How is Made

  • यह एक प्रकार का बॉडी स्पेक्ट्रम मिक्रोबिसाइड है, जो रगणुओं में जितना भी प्रोटीन
    होता है या DNA होता है, उनको नष्ट करता है, और उनको बढ़ने से रोकता है। इस
    प्रकार यह इन्फ़ेक्शन या संक्रमण का उपचार कर देता है।

बीटाडीन क्रीम के ओवरडोज़ के कारण होने वाले लक्षण:
Overdose Symptoms in Hindi

  • यदि आप बीटाडीन क्रीम का अत्याधिक उपयोग करेंगे, तो आपके लक्षण और घाव में सुधार
    के बदले, आपको कोई हानि हो सकती है। इसका कोई भी साइड-इफ़ेक्ट देखने को मिल सकता
    है। इसी कारण कहा जाता है, की इसका इतना ज़्यादा उपयोग ना करें।
  • जब भी आप इस क्रीम को अपने त्वच पर लगाएँ, तो एक पतली परत हाई लगाएँ, मोटी नहीं।

बीटाडीन क्रीम के संग्रहण :Storage

  • जब भी आप बीटाडीन क्रीम का उपयोग करें तो उसे गरमियों की सीधी धूप और तेज़
    रोशनी से दूर जी रखें। वैसे भी, दवाइयों को कमरे के तापमान पर ही रखना चाहिए।
    इसे तब तक फ़्रीज़ में ना रखें, जब तक पैकेट में ऐसा कोई निर्देश नहीं होता।
  • क्रीम को बच्चों और जानवरों की पहुँच से दूर ही रखें।
  • इसका इस्तेमाल हो जाने पर, इसे कभी भी नाले या रोड पर ना फेंके। यह किसी को
    नुक़सान भी पहुँचा सकती है। यह पैकेट पर्यावरण को हानि भी पहुँचा सकता है।
  • बीटाडीन क्रीम के संग्रहण के बारे में और कुछ जानने के लिए, अपने दवा विक्रेता से
    सम्पर्क करें।
    नोट: यदि आप इस क्रीम के बारे में, और कुछ जानना चाहते हैं, तो सबसे अच्छा होगा
    कि आप अपने चिकित्सक को सम्पर्क करें।

कुछ और सौन्दर्य से रिलेटेड टिप्स आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 330

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top