Beetroot in hindi

Beetroot in hindi:चुकंदर खाने के क्या फायदे होते है?इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी

चुकुन्दर क्या है: What is beet-Beetroot in hindi

  • यह एक लोकप्रिय फल या सब्ज़ी है, जिससे हीमग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। यह सौंदर्य के लिए भी लाभदायक होता है। वैसे यह पौधे के जड़ का एक हिस्सा होता है।
  • इसे हम या तो सलाद में खाते हैं या हम इसका जूस पीते हैं। 
  • इसको दुनिया भर में अलग-अलग संकृतियों में सेवन होता है।

चुकंदर के फायदे:-Benefits of beet-Beetroot in hindi

  • मधुमेह:

इंसानी शरीर में, इंसुलिन की कमी से एक लाइफ़्स्टायल की बीमारी, डायबिटीज या मधुमेह होती है। चुकंदर(Beetroot in hindi) खाने से यह निवंतरन में रहती है।

  • हृदय स्वास्थ्य:

चुकंदर का रोज़ाना सेवन करने से आपका रक्तचाप नियंत्रण में रहता है। इससे आपको हृदय को बहुत फ़ायदा होता है। चुकंदर और कयी पेचीदा हृदय रोग ठीक करता है। 

  • ब्लड प्रेशर

जैसा कि हमने बताया , यह एक ऐसी समस्या है, जिसमें अच्छे हृदय पर सीधा असर पड़ता है। हृदय रोग, हार्ट अटैक, किड्नी ख़राब होना जैसे और ख़तरनाक परिणाम, इससे हो सकते हैं। इन सबकी देसी दवाई माना जाता है चुकंदर। या तो आप रोज़ इसे खाएँ या इसका जूस पिएँ।

  • कर्क रोग: 

आमतौर पर कोशिकाएँ बनती हैं, और फिर उनका इस्तेमाल होता। फिर कुछ समय बाद, पुरानी कोशिकाएँ नष्ट हो जाती हैं। फिर जगह बनती है, नयी कोशिकाओं की। पर कैन्सर में, यह प्रक्रिया टूट जाती है और पुरानी कोशिकाएँ क्षतिग्रस्त नहीं होती।

चुकंदर का सेवन आपको इन सब रोगों से दूर रखेगा। स्किन कैन्सर या ब्लड कैन्सर में भी, चुकंदर खाना चाहिए।

  • एनीमिया(ख़ून की कमी): 

रक्त में आक आइअर्न युक्त प्रोटीन होता है, हीमग्लोबिन, जो कि पूरे शरीर में ऑक्सिजन लेके जाता है। मगर आपको अगर अनीमिया है तो ऑक्सिजन पहुँचने में गड़बड़ी होती है। इसी वजह आप जल्दी थक जाते हैं। चुकंदर, में काफ़ी आयरन होता है। वह अनीमिया से ठीक करता है और भविष्य में इस बीमारी से बचने के लिए, आप रोज़ चुकंदर खा सकते हैं।

  • डायजेस्चन : 

चुकंदर में ‘गलूटमाइन’ नाम एक अमीनो ऐसिड होता है। यह खाना पचाने में मदद करता है।

  • ऊर्जा बढ़ता है:

चुकंदर खाने से प्राकृतिक रूप से हमारे शरीर को लाल रक्त कोशिकाएँ मिलती हैं, और इससे हमारी ऊर्जा बढ़ती है। इस ऊर्जा से आंत और लिवर बिलकुल सही काम करते हैं।

  • मज़बूत दाँत और हड्डियाँ: 

चुकंदर कैल्सीयम का अच्छा स्त्रोत होता है। यह हमारी हड्डियों के लिए फ़ायदेमंद होता है। तो आप समझ हाई गाय होंगे की यह हमारे शरीर को आकर देने के लिए कितना लाभदायक होगा।

  • कोलेस्ट्रोल : 

चुकंदर में कलोरि घटाने की ताक़त होती है। इससे शरीर का मटैबलिज़म इतना नहीं बढ़ता और हृदय रोग सही रहते हैं। शरीर को फिर नुक़सान नहीं होता है।

  • गर्भावस्था: 

गर्भावस्था के दौरान भी चुकंदर खा या उसका जूस पी सकते हो। इसमें ऐसे तत्व, जैसे मैग्नीज़ीयम, पटैसीयम, विटामिन-C, फोस्फोरुस, इत्यादि भी होते हैं। यह माँ और बच्चे दोनो के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है।

  • वज़न घटाने में मददगार: 

चुकंदर में विटामिन,  खनिज  और फ़ाइबर होते हैं, जिससे कि वज़न या मोटापा घटाने में मदद होती है। ये पेट तो भरता ही है, पर वज़न भी कम करता है।

  • लिवर का अच्छा स्वास्थ्य: 

चुकंदर में फलोवोनैडेस पाए जाते है, जो कि शरीर के लिए बहोत ज़रूरी है। इनका  लिवर को स्वस्थ रखने में एक बड़ा योगदान होता है।

  • मोतियाबिंद: 

यह बीमारी ज़्यादातर साथ साल की उम्र के बाद आती है, जब आपकी नज़र कमज़ोर होने लगती है। इसका इलाज विटामिन-C युक्त चुकंदर है।बीट-रूट आपकी आँखों को स्वस्थ रखेगा और मोतिया बिंद से बचाएगा।

  • सेहतमंद त्वचा:

त्वचा को हमेशा एक आंटी-एजिंग एजेंट चाहिए होता है। चुकंदर का जूस ऐंटाई-ऑक्सिडंट से भरा होता है। इसमें इतना विटामिन-C पाया जाता है कि ये त्वचा की झुर्रियों को ग़ायब कर देते हैं। यह एक नैचरल ब्यूटिशन का काम करता है। यह त्वचा की मरी हुई कोशिकाओं के परत को हटा देती हैं, और नयी कोशिकाओं को आने की वजह देती हैं।चुकंदर का राज़ पीना भी त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है।

  • केशों के लिए: 

चुकंदर में करॉटेनॉड जैसा तत्व जो कि संकल्प और बलों के लिए बहुत लाभदायक होता है। इसका बालों की मोटाई और चमक में एक बड़ा योगदान रहता है।

  • यौन स्वास्थ्य: 

चुकंदर में बोरान होता है, जो कि एक खनिज है। इस खनिज से सेक्स हॉर्मोन निकलता है और यौन स्वास्थ्य में लाभ होता है।

चुकंदर का उपयोग:Use of beetroot

चुकंदर(Beetroot in hindi) का सेवन आप निम्नलिखित रूपों में कर सकते हैं –

  • चुकंदर को आप कच्चा भी खा सकते हैं। उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर, उसपर हल्का सा नामक डालकर, उसे खाइए।
  • पनीर के साथ आप चुकंदर के टुकड़ों को भोनें, उसमें एक नरम और अच्छा मिश्रण बनता है। यह काफ़ी लज़ीज़ भी होता है।
  • आप चुकंदर के रस  को भी पी सकते हैं। चाहें तो इसमें गाजर भी मिला दें।
  • खाने के संग, आप चुकंदर को काटकर सलाद भी खा सकते हो।
  • आप चुकंदर की मज़ेदार सब्ज़ी भी बना कर खा सकते हो।

चुकंदर के नुकसान:Beet loss-Beetroot in hindi

क्योंकि चुकंदर में अधिक कैल्सीयम और विटामिन-C होता है, आपका इसे अत्याधिक खाना नुक़सानदेह हो सकता है। उससे निम्न दिक्कतें हो सकती हैं

  • पेशाब का रंग लाल होना।
  • चकत्ते
  • लाल रंग का स्टूल 
  • पेट दर्द 

नोट – यदि आप किसी बड़ी समस्या से पीड़ित हों, तो चुकंदर के नियमित सेवन से पहले, डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

कुछ और सब्जियों की जानकारियॉ जो आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए बहुत ही फायदेमंद है |


मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 352

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top