Apricot in Hindi

Apricot in Hindi : खुबानी क्या है,इसके उपयोग,फायदे,नुकसान और सम्पूर्ण जानकारी

खुबानी क्या है : What is khubani

Table of Contents HIDE

खुबानी या एप्रीकॉट एक बीज युक्त फल है। खुबानी फल का सेवन करने के बहुत सारे लाभ है।  यह फल दिखने में छोटा होता है पर इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन और आवश्यक पोषक तत्व उपलब्ध होते है। खुबानी का साइंटिफिक नाम आर्मेनियाका (Prunas Armeniaca) जो की आर्मेनिया देश से लिया गया है वैज्ञानिको के किये गए शोध के अनुसार यह सबसे पहले आर्मेनिया में ही मिला था -Apricot in Hindi

इस फल में भरपूर मात्रा में फाइबर उपलब्ध होता है| जिसके बहुत सार लाभ हे जैसे की वह त्वचा, आँख और हृदय को स्वस्थ रखने का काम करता है। और इस फल का सेवन करने से डाइबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों को भी ठीक करने में नहीं सहायता मिलती है। वैज्ञानिक अनुमान के अनुसार खुबानी फल की खेती ३००० सालो से की जा रही है। यह पहाड़ी इलाको में पाया जाता है जैसे की जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश आदि। इस फल का इस्तेमाल खाने के लिए नहीं बल्कि इसके बीजो का भी इस्तेमाल इम्युनि सिस्टम को बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। 

इसके अंदर विभिन्न विटामिन होते है जैसे विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन बी (Vitamin B), विटामिन सी (Vitamin C), और विटामिन इ (Vitamin E)। और विटामिन के साथ इस फल में कुछ खनिज पदार्थ जैसे पोटेशियम, फास्फोरस ,कैल्शियम और मेग्नेशियम आदि पाए जाते है जो हमारे स्वास्थ के लिए बहुत फायदेमंद होते है। आमतौर पर देखा जाए तो खुबानी पिले या नारंगी कलर में पाया जाता  है। इसका एक और नाम भी हे जिसके नाम से इसे जाना जाता है वह है सुखी खुबानी (dried apricots)

खुबानी के पेड़ से खूबानी फल मिलता है। इस फल और इसके फलों के रस का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है।खुबानी का उपयोग अस्थमा, कब्ज, बांझपन, योनि संक्रमण और अन्य स्थितियों के लिए भी किया जाता है, लेकिन इन उपयोगों का समर्थन करने के लिए कोई अच्छा वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।खुबानी तेल का उपयोग सौंदर्य प्रसाधनों के निर्माण में भी किया जाता है।

खुबानी के उपयोग और प्रभावशीलता : Uses of Apricot in Hindi/ Uses of Khubani & Effectiveness

वी वाश क्या होता है ?उसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी

खुबानी के लाभ /फायदे  : Benefits of Apricot in Hindi/Benefits of  Khubani 

खुबानी बहुत ही लाभकारी फल है। क्योकि इसमें अतयधिक मात्रा में विटामिन और खनिज पदार्थ पाए जाते है| जो हमें स्वस्थ रखने में हमारी सहायता करते है । खुबानी जो होती है वह गोल और पीले, एक आड़ू के छोटे संस्करण की तरह दिखती हैं, खुबानी बहुत ही पौष्टिक फल हैं और इसके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं, आज हम आपको इस लेख में बताएगे की खुबानी के फल को या खुबानी के बीज को खाने से हमें क्या-क्या फायदे हो सकते  है। यह पर कुछ निम्नलिखित ऐसी बीमारिया है। जिनके उपचार में खुबानी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

यहाँ खुबानी के स्वास्थ्य और पोषण लाभ के बारे में हम बता रहे हैं।

1.कब्ज में खुबानी का सेवन करने के लाभ : Apricot Good for Constipation in Hindi

खुबानी फल के अंदर भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। खुबानी फल के अंदर लैक्सेटिव गुण होते है, जो हमारे शरीर में होने वाले कब्ज को ठीक करने में हमारी सहायता करते है । यह आंतो की कार्य प्रणाली सुधरने में हमारी सहायता करता  है। इसमें पाया जाने वाला फाइबर गैस्ट्रिक और पाचन तंत्र को उत्तेजित करने का काम करता है।

कब्ज क्या है ? कब्ज के लक्षण,कारण और इलाज

2.हड्डियों को स्वस्थ रखने में खुबानी के लाभ :Khubani for Bone Health in Hindi

खुबानी में कैल्शियम,पोटेशियम, मेग्नेशियम, लोहा और ताम्बा आदि खनिज प्रदार्थ उपलब्ध होते है। जो की हमारी हड्डियों को मजबूत रखने में हमारी सहायता करते है।  खुबानी या एप्रीकोट फल हड्डियों को मजबूत रखने में और हड्डियों के विकास में भी हमारी सहायता करता है। यह ओस्टियोपोरोसिस सहित विभिन्न आयु सबंधित स्थितियों को सुरक्षित रखने में भी हमारी सहायता करते है। 

3.हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खुबानी के लाभ : Apricot Benefits for Heart in Hindi

खुबानी में विटामिन सी और पोटेंशियम पाए जाते है इसलिए खुबानी दिल के दौरे और स्ट्रोक जैसी बीमारियों में हमारी सहायता करता है। खुबानी एक बहुत ही गुणकारी फल होता है| जो हमारी हृदय से सबंधित बीमारियों को रोकने में सहायता करता है। विटामिन सी (Vitamin C) जो होता है वह दिल के सूक्ष्म कणो को बचता है, पोटेशियम जो होता है वह रक्त वाहिकाओं और धमनियों के रक्त के तनाव को काम करने में हमारी सहायता करता है। जबकि जो फाइबर होता है वह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में हमारी सहायता करता है। 

4.कान दर्द में खुबानी तेल के लाभ : Apricot oil For Ears in Hindi

एक शोध में ऐसा बताया गया है जो खुबानी का जो तेल होता है वह कान के दर्द के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि आप अगर खुबानी तेल की बूंदो को कान में टपकाते है, तो कान का जो दर्द होता है वह सही हो जाता है। क्योकि इसके अंदर एंटीओक्सिडेंट सामग्री भरपूर मात्रा में पाई जाती है। इसके ऊपर अभी भी रिसर्च चल रही है।

5.बुखार में खुबानी के लाभ : Apricot Fruit Benefits Fever in Hindi

खुबानी के रस का उपयोग बुखार से पीड़ित मरीजों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। इसके अंदर पाए जाने वाले विटामिन, प्रोटीन और खनिज पदार्थ शरीर में आने वाले कमजोरी या बुखार को ठीक करने में हमारी सहायता करते है । खुबानी का इस्तेमाल बुखार के साथ साथ  शरीर में होने वाली सूजन को भी कम करने के लिए भी किया जाता है यह फल गठिया जैसे बीमारियों को भी ठीक करने में हमारी सहायता करता है।
बुखार क्या होता है? कारण, लक्षण, इलाज एवं इससे बचाव

6.त्वचा के लिए खुबानी के लाभ  : Khubani Uses for Skin in Hindi

खुबानी तेल का इस्तेमाल त्वचा के लिए भी किया जाता है। इसके तेल को त्वचा के ऊपर अगर आप लगते है तो त्वचा  चिकनी और खूबसूरत दिखने लगती है,और यह साथ ही साथ त्वचा पर होने वाली खुजली को रोकने में भी हमारी सहायता करता  है। इसमें उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट योगिक और खनिज पदार्थ त्वचा को मुलायम बनाने में भी सहायता करते है।

खुबानी एंटीऑक्सिडेंट में स्वाभाविक रूप से उच्च होती है, जो सूरज की रोशनी, प्रदूषण और सिगरेट के धुएं से पर्यावरण को नुकसान से बचाती है। यह यौगिक आपकी त्वचा को झुर्रियों और सनबर्न के जोखिम को कम करके आपको लाभ पहुंचा सकने में सक्षम होते हैं।

खुबानी खाने से आपकी त्वचा को फायदा हो सकता है।झुर्रियाँ और त्वचा के नुकसान के मुख्य कारण पर्यावरणीय कारक हैं, जैसे कि सूरज, प्रदूषण और सिगरेट का धुआं। विशेष रूप से, आप एंटीऑक्सिडेंट से भरे स्वस्थ आहार के माध्यम से त्वचा की कुछ क्षति से लड़ सकते हैं, जो खुबानी प्रदान करती हैं।इस फल में पाए जाने वाले विटामिन सी और ई, आपकी त्वचा की सहायता कर सकते हैं। विशेष रूप से, विटामिन सी मुक्त कणों को बेअसर करके यूवी नुकसान और पर्यावरण प्रदूषण से बचाता है।

इसके अलावा, यह विटामिन कोलेजन के निर्माण में मदद करता है, जो आपकी त्वचा को मजबूती और लोच देता है। विटामिन सी में उच्च आहार का सेवन आपकी त्वचा को यूवी नुकसान से बचाने और झुर्रियों को रोकने में मदद कर सकता है।

7.आँखो के लिए खुबानी के लाभ : Apricot Good for Eyes in Hindi

अगर हम बात करे सुखी खुबानी की तो इसमें एंटीऑक्सीडेंट और बीटा कैरोटीन एक मुख्य घटक के रूप में पाया जाता है जो की हमारी आँखो की नसों को मजबूत करने में हमारी सहायता करता है। जिसके कारण हमारी आखे स्वस्थ रहती है। खुबानी जो हे वह मोतियाबिंदु के जोखिम को भी कम करने में सहायता करता है।

खुबानी बीटा कैरोटीन, ल्यूटिन, ज़ेक्सैन्थिन और विटामिन सी और ई का एक उत्कृष्ट स्रोत हैं। ये पोषक तत्व आपकी आंखों को नुकसान से बचाते हैं।

खुबानी में कई यौगिक होते हैं जो विटामिन ए और ई सहित आंखों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं।विटामिन ए रात का अंधापन को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, आपकी आँखों में प्रकाश वर्णक की कमी के कारण एक विकार है, जबकि विटामिन ई एक वसा में घुलनशील एंटीऑक्सिडेंट है जो आपकी आँखों को सीधे मुक्त कण क्षति से बचाने के लिए प्रवेश करता है इस बीच, बीटा कैरोटीन – जो खुबानी को उनके पीले-नारंगी रंग देता है – विटामिन ए के अग्रदूत के रूप में कार्य करता है, जिसका अर्थ है कि आपका शरीर इस विटामिन में परिवर्तित कर सकता है।अन्य महत्वपूर्ण खुबानी कैरोटीनॉयड्स में ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन शामिल हैं। जो की आपकी आंखों के लेंस और रेटिना में भी पाए जाते हैं, वे हमारी ऑक्सीडेटिव तनाव के खिलाफ सुरक्षा करते हैं।

8.कैंसर के उपचार में खुबानी बीज के लाभ : Apricot Seeds Cures Cancer in Hindi

खुबानी के बीज में कैरोटिनॉइड और अन्य एंटीऑक्सीडेंट यौगिक खनिज पाए जाते है जो कैंसर के इलाज के लिए बहुत फायदेमंद होते है। खुबानी के बीज सीधे कैंसर के उपचार में उपयोग होते है।

9.वजन कम करने के लिए सुखी खुबानी बीज के लाभ : Dry Apricot for Weight Loss in Hindi

सुखी खुबानी में कैलोरी की मात्रा कम पाई जाती है और फाइबर की मात्रा अधिक पाई जाती है इसी कारण यह चयापचय की प्रक्रिया को ठीक करने में सहायता करता है । खुबानी जो हे वह पाचन क्रिया को व्यवस्थित करने म हमारी सहायता करती है । इसलिए वजन को कम करने के लिए सुखी खुबानी का इस्तेमाल किया जाता है । यह ध्यान देने योगय बात हे की हमे सुखी खुबानी के बीज का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए।

10. यह बहुत पौष्टिक फल है और कैलोरी में कम : Very nutritious and low in calories

खुबानी बहुत पौष्टिक होते हैं और इसमें कई आवश्यक विटामिन और खनिज होते हैं।

सिर्फ 2 ताजा खुबानी (70 ग्राम)

  • कैलोरी: 34
  • कार्ब्स: 8 ग्राम
  • प्रोटीन: 1 ग्राम
  • वसा: 0.27 ग्राम
  • फाइबर: 1.5 ग्राम
  • विटामिन ए: दैनिक मूल्य का 8% (DV)
  • विटामिन सी: 8% डीवी
  • विटामिन ई: 4% डीवी
  • पोटेशियम: डीवी . का 4%

इसके अलावा खुबानी  बीटा कैरोटीन, ल्यूटिन और ज़ेक्सैन्थिन का एक बहुत ही अच्छा स्रोत होता है, इसके अंदर सभी शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट गुन पाए जाते हैं जो आपके शरीर में मुक्त कणों से लड़ने में सहायता करते हैं।

खूबानी को बिना छिले इसे पूरा खाना चाहिए , क्योंकि त्वचा में बड़ी मात्रा में फाइबर और पोषक तत्व होते हैं। खुबानी के अंदर कैलोरी और वसा कम पाई जाती है जबकि यह विटामिन ए और सी का एक बहुत ही उत्कृष्ट स्रोत होता है।

11. एंटीऑक्सीडेंट में उच्च होता है : High in antioxidants 

खुबानी के अंदर कई एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं, विशेष रूप से अगर देखा जाए तो फ्लेवोनोइड्स। वे हमारे शरीर को ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाने में हमारी सहायता करता हैं, जो की कई पुरानी बीमारियों से जुड़ा हुआ होता है।

खुबानी एक बड़ा स्रोत होता है बीटा कैरोटीन और विटामिन ए, सी और ई सहित कई एंटीऑक्सिडेंट का । वे फ़्लेवोनोइड्स नामक पॉलीफेनोल एंटीऑक्सिडेंट के एक समूह में बहुत ही उच्च होता हैं, जिन्हें डायबिटीज और हृदय रोग सहित बीमारियों से बचाने के लिए दिखाया गया है।खुबानी में मुख्य फ्लेवोनोइड्स क्लोरोजेनिक एसिड, कैटेचिन और क्वेरसेटिन हैं।

यह यौगिक जो होते हे वह मुक्त कणों को बेअसर करने का काम करते हैं, जो की बहुत हानिकारक यौगिक होते हैं जो की आपकी कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं और ऑक्सीडेटिव तनाव की एक समस्या बनते हैं। ऑक्सीडेटिव वह होता  है जो तनाव मोटापे और कई पुरानी बीमारियों से जुड़ा हुआ होता है, जैसे कि हृदय रोग 

12. पाचन को बढ़ावा दे सकता है : May promote gut health 

खुबानी घुलनशील फाइबर का एक बहुत ही अच्छा स्रोत मन जाता है, जो आपके शरीर को स्वस्थ बैक्टीरिया प्रदान करता है और पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है।

खुबानी में विशेष रूप से घुलनशील फाइबर होते हैं, जो स्वस्थ रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है 

खुबानी में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर दोनों होते हैं। खुबानी आंतों के स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकती है।कटा हुआ खुबानी का एक कप (165 ग्राम) 3.3 ग्राम फाइबर प्रदान करता है, जो क्रमशः पुरुषों और महिलाओं के लिए 8.6% और 13.2% डीवी है। 

13. इसमें पोटेशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है : High in potassium

खुबानी के अंदर पोटेशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है, खुबानी एक खनिज होता है जो की इलेक्ट्रोलाइट के रूप में भी कार्य करता है। आपके शरीर में, यह तंत्रिका संकेतों को भेजने के लिए और मांसपेशियों के संकुचन और द्रव संतुलन को विनियमित करने के लिए जिम्मेदार होता है।

चूंकि पोटेशियम तरल पदार्थ के संतुलन को बनाए रखने के लिए सोडियम के साथ मिलकर काम करता है, इसलिए पर्याप्त सेवन सूजन को रोकने और स्वस्थ रक्तचाप  को बनाए रखने में मदद कर सकता है।

पोटेशियम मांसपेशियों में संकुचन, द्रव संतुलन को बनाए रखता है । खुबानी जैसे पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थ से खाने में उच्च रक्तचाप को रोकने और स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है।

14. खुबानी हाइड्रेटिंग फल होता है : Very hydrating

खुबानी पानी में स्वाभाविक रूप से उच्च होती है, जो हाइड्रेटेड रहने के लिए महत्वपूर्ण है। रक्तचाप और हृदय गति सहित स्वास्थ्य के कई पहलुओं के लिए उचित जलयोजन हेतु यह महत्वपूर्ण है। 

अधिकांश फलों की तरह, खुबानी में पानी की मात्रा स्वाभाविक रूप से अधिक होती है, जो रक्तचाप, शरीर के तापमान, जोड़ों के स्वास्थ्य और हृदय गति को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है।कटा हुआ ताजा खुबानी का एक कप (165 ग्राम) लगभग 2/3 कप (142 मिली) पानी (1Trusted Source) प्रदान करता है।

जैसा कि अधिकांश लोग पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, ताजे फल खाने से आप अपनी दैनिक आवश्यकताओं में जितना आपको पानी का सेवन करना हे वह तक आप पहुँच सकते हैं।

यदि अपने पानी का सेवन नहीं करा हैं, तो आपके रक्त की मात्रा कम हो जाती है, जिससे आपके हृदय को रक्त पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इसके अलावा, हाइड्रेटेड रहने से आपके रक्त को आपके शरीर में अपशिष्ट उत्पादों और पोषक तत्वों को प्रसारित करने की अनुमति मिलती है 

15. आपके जिगर की रक्षा कर सकता है : May protect your liver

कुछ आंकड़ों से पता चलता है कि खुबानी आपके लीवर को ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाने में मदद कर सकती है।

16. अपने आहार में शामिल करना आसान होता है : Easy to add to your diet

ताजा और सूखे खुबानी दोनों व्यापक रूप से उपलब्ध हैं। आप उन्हें स्वयं खा सकते हैं या उन्हें अपने पसंदीदा व्यंजन, पक्ष या डेसर्ट में जोड़ सकते हैं।

दोनों ताजा और सूखे खुबानी एक त्वरित, स्वादिष्ट स्नैक या इसे आप अपने पसंदीदा भोजन के साथ आसानी से जोड़ सकते हैं। आप उन्हें अपने आहार में कई तरह से शामिल कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • नाश्ते के रूप में ताजा खाया जाता है
  • कटा हुआ और दही या सलाद में डाल सकते है 
  • जेम और साल्सा में इस्तेमाल किया जा सकता है 
  • चिकन या बीफ जैसे मांस के साथ धीमी कुकर में दम किया हुआ
  • पाई, केक और पेस्ट्री जैसे डेसर्ट में जोड़ा गया
  • चूंकि खुबानी मीठे और तीखे होते हैं, इसलिए इसका इस्तेमाल अधिकांश व्यंजनों में आड़ू या प्लम के प्रतिस्थापन के रूप में किया जा सकता है।

खुबानी के दुष्प्रभाव  : Side effects of Apricot /Side effects of Khubani 

भोजन के रूप में सेवन किए जाने पर खुबानी सुरक्षित होता है। यह जानने के लिए पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है कि क्या खूबानी दवा के रूप में उपयोग किए जाने पर सुरक्षित है या इसके क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

खुबानी खाने का ऐसे तो कोई नुकसान नहीं है फिर भी यदि आप इसका बहुत अधिक मात्रा सेवन करते है या बिना किसी के जानकारी से इसका सेवन करते है तो यह आप के लिए सुरक्षित नहीं होता है। खुबानी से होने वाले नुकसान निम्नलिखित है।

  • खुबानी को अतयधिक मात्रा में खाने से एलर्जी भी हो सकती है।
  • खुबानी का उपयोग लौ बीपी वाले मरीजों के लिए नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।
  • खुबानी के बीजो में खतरनाक साइनाइड नामक रसायन रहता है। इसलिए हमे खुबानी बीजो का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपको खुबानी के बीजो को खाना है तो आप डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

प्रेग्नेंसी में खुबानी बीज के लाभ : Dry Apricot Fruits Benefits for Pregnancy in Hindi

प्राचीन कल से ही सूखे खुबानी का इस्तेमाल प्रेग्नेंसी, बांझपन,रक्तस्त्राव और ऐंठन के उपचार के लिए किया जाता है। इसके अंदर पाए जाने वाले  विटामिन जैसे ए,बी, सी और इ और खनिज प्रदार्थ जैसे फास्फोरस, पोटेशियम कैल्शियम और आयरन । जिसके अंदर भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जो की जो महिलाए गर्भवती है या स्तनपान करवा रही हे उनके लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इसके अलावा सूखे खुबानी का इस्तेमाल उसका पेस्ट बनाकर योनी के संक्रमण के उपचार के लिए भी कर सकते है 

खुबानी कैसे काम करता है ? : How does Apricot  work ?/How does Khubani  work

यह जानने के लिए पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है कि किसी भी चिकित्सीय स्थिति के लिए खुबानी कैसे काम कर सकती है।

विशेष सावधानियाँ और चेतावनियाँ : Precautions and Warnings of Apricot in Hindi

यह जानने के लिए पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी उपलब्ध नहीं है कि क्या गर्भवती महिला या स्तनपान करवा रही महिला को खुबानी का उपयोग करना चाहिए या नहीं । हमेशा उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करे। 

खुबानी के इंटरेक्शन्स : Interactions of Apricot 

वर्तमान में हमारे पास APRICOT इंटरैक्शन के लिए कोई जानकारी नहीं है।

खुबानी की खुराक : Dosing of Apricot 

खुबानी की उपयुक्त खुराक कई कारकों पर निर्भर करती है जैसे कि उपयोगकर्ता की आयु, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियां। इस समय खुबानी के लिए खुराक की उचित सीमा निर्धारित करने के लिए पर्याप्त वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। ध्यान रखें कि प्राकृतिक उत्पाद हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं और खुराक महत्वपूर्ण हो सकते हैं। उत्पाद लेबल पर प्रासंगिक निर्देशों का पालन करना सुनिश्चित करें और उपयोग करने से पहले अपने फार्मासिस्ट या चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करें।

खुबानी विटामिन, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर एक स्वादिष्ट फल है। उनके कई लाभ हैं, जिनमें बेहतर आंख, त्वचा और आंत का स्वास्थ्य शामिल है।ताज़े या सूखे, खुबानी को दही, सलाद और मुख्य भोजन में इस्तेमाल करना बहुत आसान होता है |यदि आप आड़ू और आलूबुखारा खाने के आदी हैं, तो खुबानी आपकी दिनचर्या को बदलने का एक शानदार तरीका हो सकता है।

डिस्क्लेमर : इस साइट में शामिल जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है और इसका उद्देश्य डॉक्टर द्वारा चिकित्सा उपचार का विकल्प नहीं है। हर व्यक्ति की विशिष्ट व्यक्तिगत आवश्यकताओं के कारण, पाठक को पाठक की स्थिति की जानकारी की उपयुक्तता निर्धारित करने के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 435

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top