Allegra Tablet in Hindi

Allegra Tablet in Hindi : अलेग्रा टैबलेट क्या है? इसके फायदे, उपयोग और नुकसान

अलेग्रा टैबलेट की जानकारी: Allegra Tablet information

  • अलेग्रा गोली,  फेक्सोफेनाडाइन का एक ब्राण्ड का नाम होता है। यह गोली एक एंटी-एलर्जिक या फिर एक एंटी-हिस्टामिनिक दवा होती है। हिस्टामाइन एक ऐसा पदार्थ है जो कि शरीर से निकलता है, और यह खुजली, आँखों को गीला करना, छींक आना जैसे लक्षणो को और सक्रिय करता है।
  • इस गोली का एक अहम तरीक़े से इस्तेमाल कमर दर्द, ऐलर्जी, स्किन की हालत, छीखना या नाक से रिलेटेड समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है। अलेग्रा अलेग्राका काम यह भी होता है, कि यह हिस्टामाइन के बहाव को ब्लॉक करता है।
  • इस गोली में फेक्सोफेनडाइन नाम का एक सक्रिय तत्व होता है, जो कि ऐलर्जी इत्यादि समस्याओं को समाप्त करता है।
  •  इस लेख में यह जानेंगे कि अलेग्रा टैबलेट के क्या-क्या फ़ायदे, उपयोग  और दुष्प्रभाव होते हैं। इसके साथ-साथ हम इस लेख में आपको बताएँगे कि इस दवा के पारस्परिक दवाइयाँ, इसकी खुराक और इसके इस्तेमाल करने में क्या-क्या सावधानियाँ रखनी होती होती हैं।

अलेग्रा टैबलेट के फ़ायदे और उपयोग: Benefits and uses of Allegra Tablet in hindi

अलेग्रा टैबलेट का नीचे दिए गए बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। -Allegra Tablet in Hindi

  • गले में दर्द।
  • एलर्जी
  • टॉन्सिल
  • पित्त
  • साँस लेने के नर्व्ज़ में संक्रमण
  •  ‘हे फ़ीवर’- यह एक ऐसा बुखार होता है, जो कि पालन ग्रेंज़ की वजह से होता है।
  • नाक से सम्बंध रखने वाली बीमारियाँ।

ऊपर सूची में बतायी हुई बीमारियों के साथ-साथ, इस गोली के इस्तेमाल से और समस्याओं में भी किया जाता है।

भारत में अलेग्रा की क़ीमत: Allegra price in India

विशिष्टताएँ  अलेग्रा की क़ीमत 
120 मिलीग्राम की 10 टैबलेट की स्ट्रिप 152.8 9 रुपये
180 मिलीग्राम की 10 टैबलेट की स्ट्रिप 174.8 9 रुपये

अलेग्रा टैबलेट को कैसे इस्तेमाल करें: How to use Allegra Tablet in hindi

  • वैसे, इस दवा को लेने का तरीक़ा मरीज़ की आयु, उसकी सेहत और उसके इलाज के लिए शरीर का तैय्यार रहने की प्रक्रिया पर निर्भर करता है। आमतौर पर आप इसे प्रतिदिन एक या दो बार लें या आपके चिकित्सक के बताए निर्देशों के अनुसार करें।
  • बिना आपके चिकित्सक की अनुमति के, आप इस गोली का, किसी के भी ऐसे ही कहने पर इस्तेमाल ना करें। आप ध्यान दें की आप इसके खुराक को बहुत लम्बे समय तक ना ही लें या फिर ना ही उसका इस्तेमाल करें।
  • यदि आपके लक्षण काम होने के बजाय, ख़राब हो रहे हैं, तो उस स्थिति में आप जल्द से जल्द, अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

अलेग्रा के लिए आम खुराक:Common dose for Allegra

  • यह है अलेग्रा कि आम खुराक: अलेग्रा 60 मि.ग्रा., 120मि.ग्रा. और 180 मि.ग्रा. की गोलियाँ  (अलेग्रा ® 60 मि.ग्रा. टैबलेट 12 घंटे और अलेग्रा ® 120 मि.ग्रा. टैबलेट 24 घंटे) के रूप में मौजूद हैं।
  • यह डोसिज, रोगी के स्वास्थ्य हालत पर भी निर्भर करता है। अगर आपकी स्थिति ऐसी ही बनी रहती है, या फिर बदतर हो जाती है, तो आपको अपने चिकित्सक से परामर्श लेनी चाहिए। अगर आप अच्छे परिणाम चाहते हैं, तो इसे ठीक अंतराल में ही लें।
  • अगर आप वयस्क हैं, तो आपको इस गोली का इस्तेमाल तब करना चाहिए, जब मौसम वाले ऐलर्जी होने लगे। उसके लिए, आपको इसे प्रतिदिन 180 मि.ग्रा या 60 मि.ग्रा. ले सकते हैं।
  • वहीं बच्चों में, आप इसका प्रतिदिन 30 मि.ग्रा, वो भी दो बार, इस्तेमाल कर सकते हैं।

अलेग्रा टैबलेट के दुष्प्रभाव / नुकसान : Allegra Tablet Side Effect in Hindi

यदि आप अलेग्रा टैबलेट को लेते हैं, तो यह आपके शरीर के लिए कुछ दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है। पर ऐसा हो सकता है, की आपको इन दुष्प्रभावों का कभी अनुभव ना हो। इसी कारण यह ज़रूरी है, की यह तबलेट लेने से पहले, यह ज़रूरी है, कि आप इस गोली को लेने से पहले आप एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें। इस दवा को लेने से आपको नीचे दी गयी सभी समस्याएँ हो सकती हैं: 

  • उल्टी होना 
  • दस्त लगना 
  • चक्कर या मत्तलि आना
  • कमर में दर्द 
  • सर में दर्द 
  • सीना दर्द 
  • जी मचलना 
  • कमजोरी होना।

अलेग्रा टैबलेट कैसे काम करता है

  • इस दवा में ‘फेक्सोफेनडाइन’ नाम का एक तत्व होता है, जो कि शरीर की रासायनिक क्रिया को कम करता है या रोक देता है। 
  • इससे कई और समस्याएँ जैसे सूजन,घाव खुजली और अन्य समस्याओं का इलाज मिलता है।

अलेग्रा को इस्तेमाल के समय कुछ सावधानियां:

  • आप कभी भी अलेग्रा अलेग्राका सेवन ना करें, अगर आपको इसमें मौजूद किसी भी तत्व से कैसी भी ऐलर्जी है।
  • अगर आप लिवर या जिगर के किसी हंभीर समस्या के रोगी हैं, तो आप इसका इस्तेमाल करने से परहेज़ करें।
  • अगर आप किड्नी या गुर्दे के कैसी भी दिक्कत के रोगी हैं, तो आप भी इसका इस्तेमाल ना करें।
  • अगर आपके छह साल के कम उम्र के बच्चे हैं, तो आप उन्हें भी इसे ना दें।
अंगों पर अलेग्रा का असर:
  • अंचाहे  किड्नी की दिक्कत  – यह दवा ऐसे अंगों पर सीधा प्रभाव डालता है। इससे पहले, कभी भी गुर्दे की बीमारी या किड्नी खराब होने की दिक्कत हुई हो, तो इसे बड़े ध्यान से और अपने चिकित्सक  की दिशा-निर्देश के अनुसार ही लेना चाहिए।
  • स्किन या त्वचा पर यदि कोई ऐलर्जी का परीक्षण चल रहा हो- यह गोली स्किन के कोई भी जाँच और पैच के किसी भी परीक्षण में जाकर हस्तक्षेप डालती है। इसी कारण त्वचा के किसी टेस्ट से पहले ही, इस दवा का इस्तेमाल करना ज़रूरी होता है। जब भी आप स्किन का कोई भी टेस्ट या परीक्षण कर रहे हों, तो कम से कम दो से चार दिन तक इस दवा का घोल बना होता है। इसी कारण, इस दवा को एक चिकित्सक की नज़र में ही करना चाहिए।
  • वैसे लिवर या जिगर के रोग के मरीज़ इसे इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उनके लिए सुरक्षित होता है।

अलेग्रा की ऐलर्जी की प्रतिक्रियाएँ:

इस दवा के साथ किसी का ऐलर्जी होना वैसे दुर्लभ होता है, और इसी वजह से इसकी कुछ निमनलिखित रीऐक्शंज़ होती है। यह रहे वो:

  •  चकत्ते या रेशस 
  • त्वचा की खारिश या खुजली
  • साँस लेने में दिक्कत या कमी
  • खांसी
  • सूजन होना- चेहरे, होंठ, जीभ, या गले में।

अलेग्रा के साथ परस्परिक क्रियाएँ:

अलेग्रा निम्न ड्रग्स और दवाओं के साथ एक पारस्परिक क्रिया करती है:

  • एरिथ्रोमाइसिनकेटोकोनाज़ोल (एंटी-फंगल दवा)रिफाम्पिन – 

अगर हम इस ड्रग का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो सदा अपने चिकित्सक को बताएँ। इस सूची में परस्पर दवाओं के लिए परिवर्तन लाया जा सकता है। इसमें इस बात का ध्यान दिया जाता है कि सदा साथ चलने वाली कैसे संग कार्य करती हैं या फिर, उनसे होने वाले सारी प्रतिक्रियाएँ का जोखिम कैसे बढ़ाया या काम किया जा सकता है।

  • एंटासिड्स 

अगर इस गोली का आप इस्तेमाल कर रहे हैं, तो कृपया करके अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें। एंटासिड्स अलेग्रा के चूसने की क्रिया को ज़रूर कम कर देता है। इसी वजह से, इस गोली के साथ एंटासिड्स का इस्तेमाल ना करें।

कुछ और मेडिसिन की जानकारिया आपकी दैनिक दिनचर्या के लिए जो आपकी लाइफ को आसान बनाएगी

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 395

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top