Biography of sachin tendulkar in hindi

Biography of sachin tendulkar in hindi:सचिन तेंदुलकर की जीवनी

पूरा नाम: सचिन रमेश तेंदुलकर 
Table of Contents HIDE
जन्म : 24 अप्रैल, 1973, मुंबई
पिता:रमेश तेंदुलकर
 माता : रजनी तेंदुलकर
पत्नी : अंजली तेंदुलकर
 बच्चें: अर्जुन, सारा

सचिन तेन्दुलकर का जन्म, प्रारंभिक जीवन, परिवार(Birth of Sachin Tendulkar, early life, family)

सचिन तेन्दुलकर(Biography of sachin tendulkar in hindi) का जन्म  24 अप्रैल, 1973 में मुंबई के ब्राह्राण परिवार में हुआ था । यह अपनी माता-पिता की सबसे छोटी संतान के रुप में जन्में थे। उनके पिता रमेश तेंदुलकर एक लेखक थे, जबकि इनकी मां रजनी एक इंश्योरेंस कंपनी में बीमा एजेंट के रुप में काम करती थी।इनके तीन और सौतेले भाई-बहन है, जो उनके पिता की पहली पत्नी के बच्चे हैं। उनका बचपन बांद्रा के साहित्य सहवास कोऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी में शानदार तरीके से बीता। वे अपने बचपन में काफी शरारती थे, यहां तक की बचपन में उनकी शरारतों से उनके पड़ोसी तक परेशान रहते थे।वहीं उन्हें शुरु में टेनिस खेलना काफी पसंद था। वे अमेरिका के प्रमुख टेनिस खिलाड़ी जॉन मैकनेरो को अपना आदर्श मानते थे।सचिन तेंदुलकर जी के बड़े भाई अजीत जी ने उनके क्रिकेट खेलने के कौशल को गंभीरता से लिया और उन्हें इस क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। यही नहीं उनके भाई ने सचिन तेंदुलकर जी को मायानगरी मुंबई के शिवाजी पार्क में क्रिकेट के महान प्रशिक्षक रमाकांत आचरेकर से भी मिलवाया।

सचिन तेन्दुलकर जी की शिक्षा(Education of Sachin Tendulkar)

अपनी शुरुआती दिनों में सचिन तेंदुलकर जी पढ़ाई में काफी अच्छे नहीं थे।  इनकी शुरुआती शिक्षा बांद्रा की इंडयिन एजुकेशन सोसायटी की न्यू इंग्लिश स्कूल में हुई थी।वहीं बाद में महान क्रिकेटर और प्रसिद्ध कोच रमाकांत आचरेकर जी ने सचिन तेंदुलकर जी की क्रिकेट खेल प्रतिभा से प्रभावित होकर उन्हें दादर के ही शारदाश्रम विद्या मंदिर हाईस्कूल की पढ़ाई पूरी करने की सलाह दी, दरअसल इस स्कूल की क्रिकेट टीम काफी अच्छी है और इस स्कूल से कई प्रतिष्ठित और बड़े खिलाड़ी भी निकले हैं। इसके बाद हायर एजुकेशन के लिए सचिन तेंदुलकर जी मुंबई के खालसा कॉलेज चले गए और फिर इन्होंने अपनी पढ़ाई को बीच में ही रोक दिया और क्रिक्रेट के क्षेत्र में न सिर्फ अपना करियर बनाया, बल्कि दुनिया को अपने क्रिकेट खेलने के कौशल से हैरत में डाल दिया। उनकी लक्ष और अद्भुत क्रिकेट खेल प्रतिभा के चलते ही आज उन्हें ”क्रिकेट के भगवान” की संज्ञा दी जाती है।

सचिन तेंदुलकर जी का क्रिकेट की दुनिया में आगमन(Sachin Tendulkar’s arrival in cricket world)

जब सचिन  11 साल के थे, तभी उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया था।  शिवाजी पार्क में  veh अपने गुरु रमाकांत आचरेकर जी के मार्गदर्शन में क्रिकेट की प्रैक्टिस करते थे तो उनके कोच स्टंप पर एक रुपए का सिक्का रख देते थे।और कहते थे कि जो भी गेंदबाज सचिन को आउट करेगा तो ये सिक्का उसका हो जाएगा और अगर कोई गेंदबाज ऐसा करने में असफल रहा तो ये सिक्का सचिन का होगा और इस तरह कड़ी मेहनत और लगन से सचिन ने अपने क्रिकेट के अभ्यास के दौरान करीब 13 सिक्के जीते थे, जो कि आज भी उन्होंने काफी संभाल कर रखे हैं, ये सिक्के उनके लिए काफी महत्वपूर्ण हैं

।सचिन के क्रिकेट खेलने के हुनर से प्रभावित रमाकांत आचरेकर जी, स्कूल के अलावा भी उन्हें अतिरिक्त समय में क्रिकेट की ट्रेनिंग देते थे। वहीं सचिन भी अपनी गुरु की बातों को गंभीरता से लेकर कड़ी मेहनत से प्रैक्टिस करते थे।वहीं सचिन तेंदुलकर के नाम पार्टनरशिप का बेहतरीन रिकॉर्ड भी दर्ज है, जो कि उन्होंने शारदाश्रम विद्या मंदिर  में विनोद कांबली के साथ मिलकर 664 रन बनाकर बनाया था, जिसमें से 329 रन उन्होंने खुद बनाए थे।वहीं अपनी क्रिकेट खेल प्रतिभा के चलते वे स्कूल के दिनों में ही काफी लोकप्रिय हो गए थे और फिर बाद में सचिन और विनोद कांबली काफी अच्छे दोस्त भी बन गए थे। वहीं आपको बता दें कि सचिन का क्रिकेट के प्रति रुझान देखते हुए उनकी बहन सविता ने उन्हें पहला बल्ला गिफ्ट में दिया था।

सचिन तेंदुलकर जी का लव लाइफ (Sachin Tendulkar’s love life)

सचिन तेंदुलकर(Biography of sachin tendulkar in hindi)  जब 17 साल के थे, तब वे पहली बार अंजली तेंदुलकर से मुंबई एयरपोर्ट पर मिले थे, उन्होंने 5 साल  बाद ही शादी करली।अंजली तेंदुलकर एक  बबहुत ही फेमस  बिजनेसमैन अशोक मेहता की बेटी हैं जो कि एक शिशु रोग विशेषज्ञ हैं।वहीं एक मेडिकल छात्रा होने के चलते शुरुआत में तो अंजली तेंदुलकर को क्रिकेट के बारे में इतनी जानकारी नही थी उनको तो पहले यह भी नहीं पता था की सचिन तेंदुलकर क्रिकेटर है।  वहीं सचिन ने काफी कम उम्र में ही अपनी अद्भुत क्रिकेट खेल प्रतिभा से अपनी एक अलग पहचान बना ली थी। 24 मई, 1995 में दोनों एक दूसरे से शादी के बंधन में बंध गए थे। शादी के बाद दोनों को दो बच्चे  हुए जिनके नाम सारा तेंदुलकर और अर्जुन तेंदुलकर है। आज उनका परिवार एक खुशहाल जीवन जी रहा है। 

सचिन तेन्दुकर जी का क्रिकेट करियर(Sachin Tendukar’s cricket career)

  • सचिन तेंदुलकर(Biography of sachin tendulkar in hindi) जी की अद्भुत खेल प्रतिभा से हर खिलाड़ी को प्रेरणा लेने की जरूरत है, उन्होंने छोटी उम्र में ही अपने खेल को सुधारने और एक अच्छे क्रिकेटर बन ने के सपने को पूरा करना शुरू कर दिया था उनके इस सपने को पूरा करने के लिए   उनके पिता, बड़े भाई और उनके कोच रमाकांत आचरेकर जी ने उनका काफी साथ दिया था।
  • भारत के इस महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर जी ने साल 1988 में  स्टेट लेवल के मैच में मुंबई की तरफ से खेलकर अपने करियर की पहली सेंचुरी मारी थी। वहीं पहले ही मैच में उनका नेशनल टीम के लिए सिलेक्शन हो गया था।उसके बाद करीब 11 महीने के बाद  उन्होंने पहली बार भारतीय टीम की तरफ से पाकिस्तान के खिलाफ इंटरनेशनल मैच खेला था, जो कि उस समय की सबसे बेहतरीन टीम में से एक मानी जाती थी।
  • इसी सीरीज में पहली बार सचिन ने साल 1990 में वनडे टेस्ट मैच खेला। इसके साथ ही सचिन ने इंग्लैंड के खिलाफ 119 रनों की शानदार पारी खेलकर कम उम्र में सेंचुरी मारने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था।
  • सचिन जी के वनडे मैच में शानदार गेम से खेलने के बाद उन्हें साल 1996 में वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का कैप्टन बना दिया गया। हालांकि, इसके 2 साल बाद साल 1998 में ही सचिन तेंदुलकर जी ने कप्तानी छोड़ दी थी, लेकिन साल 1999 में उन्हें फिर से इंडियन टीम का कैप्टन बनाया गया।  कैप्टनशिप के दौरान सचिन ने 25 में से सिर्फ 4 ही टेस्ट मैच में ही सफलता हासिल की थी, जिसके चलते उन्होंने फिर कभी कैप्टनशिप नहीं करने का फैसला लिया था।
  •  सचिन तेंदुलकर ऐसे पहले क्रिकेटर बने, जिसने साल 2001 में वन डे मैच में 10 हजार रन बनाए।
  • सचिन तेंदुलकर, पहले ऐसे क्रिकेटर थे जिसने  अपने करियर में खेले गए सभी वर्ल्डकप में 2 हजार रन और 6 सेंचुरी  की है।

सचिन तेंदुलकर जी के टेस्ट मैच रिकॉर्ड्स – (Test match records of Sachin Tendulkar)

सचिन तेंदुलकर(Biography of sachin tendulkar in hindi) जी ने अपने करियर में करीब 200 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 51 सेंचुंरी और करीब 68 हॉफ सेंचुरी बनाई हैं।
  • सचिन तेंदुलकर जी के वन डे मैच रिकॉर्ड्स – मास्टर ब्लास्टर सचिन जी ने अपने करियर में करीब 463 वन डे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 49 सेंचुरी मारने का शानदार रिकॉर्ड बनाया है।
  • सचिन तेंदुलकर जी के आई.पी.एल मैच रिकॉर्ड्स – सचिन जी ने Iआई .पी .एल मैच में बहुत शानदार  पारी खेली है, उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में करीब 78 मैच खेले हैं।

सचिन तेन्दुलकर जी का क्रिकेट से संयास(retired from cricket -Biography of sachin tendulkar in hindi)

हमारे मास्टर ब्लास्टर  सचिन तेंदुलकर  ने 23 दिसम्बर को 2012 को वन-डे क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा की थी उनकी यह घोषणा सुन कर उनके लाखों फैंस का दिल टूट गया था फिर   जनवरी 2013 में मुंबई के उन्होंने अपना आखिरी   टेस्ट मैच में 74 रनों की शानदार गेम  खेलते हुए क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया।

सचिन तेंदुलकर  अपने क्रिकेट करियर में करीब 34 हजार रन और 100 सेंचुरी बनाने वाले पहले खिलाड़ी हैं, उनके इस रिकॉर्ड को अभी तक कोई खिलाड़ी नहीं तोड़ सका है।

सचिन तेन्दुलकर जी को मिले सम्मान और पुरस्कार(received honors and awards-Biography of sachin tendulkar in hindi) 

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेन्दुलकर ने क्रिकेट की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। सचिन तेन्दुलकर जी ने क्रिक्रेट में ही रिकार्ड्स तोड़े बल्कि कुछ  नए रिकॉर्ड्स भी बनाएं हैं। जहां हॉफ सेंचुरी मारने में ही खिलाड़ियों के पसीने छूट जाते हैं, वहीं कई बार सचिन तेंदुलकर जी ने सेंचुरी और डबल सेंचुरी तक बनाई है एवं कई बार मेन ऑफ द मैच का भी खिताब जीता है।

उनकी अद्भुत क्रिक्रेट खेल प्रदर्शन के चलते उन्हें कई पुरस्कार और मैडल से भी नवाजा जा चुका है। यहीं नहीं भारत सरकार द्दारा भी उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। आइए अब आपको बताते है कुछ सम्मान जो कि कुछ इस प्रकार है। 

  • साल 2013 में देश के दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर जी को भारत सरकार द्वारा  देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार ”भारत रत्न” दिया गया था। इसी के साथ वे इस सम्मान को प्राप्त करने वाले देश के सबसे कम उम्र में  वे पहले खिलाड़ी बन गए थे।
  • सचिन को  पदमश्री पुरस्कार से साल 1999 में उन्हें सम्मानित किया गया था।
  • सचिन तेंदुलकर पहले ऐसे क्रिकेटर है जिन्हें साल 1997 में मास्टर ब्लास्टर को बेहतरीन खेल प्रदर्शन के लिए राजीवगाँधी खेल रत्न के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • साल 2008 में मास्टर ब्लास्टर जी को पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया था।

सचिन तेन्दुलकर जी से जुड़ी कुछ रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य –(Some interesting and important facts related to Biography of sachin tendulkar in hindi)

  • अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले  लगातार 185 वन डे मैच खेलने के साथ विदेशी सरजमीं पर में टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा 8705 रन बनाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम हैं।
  • इसके अलावा मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम 90 अलग-अलग मैदानों में खेलने का भी रिकॉर्ड दर्ज है।
  • सचिन के पिता रमेश तेंदुलकर जी ने मशहूर संगीतकार सचिन देव वर्मन के नाम पर ही  सचिन का नाम  रखा था।
  • सचिन तेंदुलकर वैसे लिखने का जितना भी काम करते है वह अपने लैफ्ट हैंड से करते   है,लेकिन  जब गेंदबाजी और बल्लेबाजी करते है तो   वे अपने राइट हैंड का यूज़  करते हैं।
  • सचिन तेंदुलकर को नींद में चलते है और बोलते भी है।
  •  गणेश चतुर्थी को सचिन तेंदुलकर साल का सबसे बड़ा और अहम दिन मानते हैं।
  • साल 2003 में सचिन तेंदुलकर जी ने बॉलीवुड फिल्म ”स्टम्पड” में बेहतरीन अभिनय किया था।
भारत के इस महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर(Biography of sachin tendulkar in hindi) जी ने आज क्रिकेट से संयास जरूर ले लिया है, लेकिन आज भी लोगों के दिल में उनके लिए उतना है प्यार और सम्मान है।

अन्य बायोग्राफी पड़े

मेरा नाम रूचि सिंह चौहान है ‌‌‌मुझे लिखना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है । मैं लिखने के लिए बहुत पागल हूं ।और लिखती ही रहती हूं । क्योकि मुझे लिखने के अलावा कुछ भी अच्छा नहीं लगता है में बिना किसी बोरियत को महसूस करे लिखते रहती हूँ । मैं 10+ साल से लिखने की फिल्ड मे हूं ।‌‌‌आप मुझसे निम्न ई-मेल पर संपर्क कर सकते हैं। vedupchar01@gmail.com
Posts created 352

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top